car starting problem -कार स्टार्ट न हो तो क्या करें

car starting problem -कार स्टार्ट न हो तो क्या करें

कार स्टार्ट क्यों नही होती आखिर क्या है  car starting problem जाने विस्तार से

car की battery सही होने के बाद भी कार स्टार्ट न हो तो क्या क्या कारण हो सकते है |

आज हम कार स्टार्टिंग के बारे में बात करेगे , कार स्टार्ट न हो तो क्या क्या चेक करना चाहिए |

बहुत बार battery सही होती है लेकिन कार सेल्फ लेता है पर कार स्टार्ट नहीं होती , और सेल्फ मार मार कर हम बैटरी भी डाउन कर देते है |

पर कार स्टार्ट नही होती | सबसे पहले हम diesel कार की बात करते है | स्टार्ट न होने पर क्या क्या चेक करे |

हम आपको बता दे कार स्टार्ट न हो तो diesel कार की स्टार्टिंग प्रोब्लम चेक करने का एक ही तरीका होता है ,फिर वो कोई भी कार हो या किसी भी कंपनी की हो | स्टेप बाये स्टेप चेक करे |

car not to start if the battery is good? 

चेक डैशबोर्ड लाइट

car start ना होने के कारन

 

अगर आपकी car की battery सही है तो आप कुछ न करे सबसे पहले आप कार के अन्दर dashboard मीटर वारनिंग लाइट चेक करे की चेक इंजन लाइट आ रही है ,कोई लाइट ब्लिंक तो नहीं कर रही है इम्बोलिज़र की लाइट तो नहीं आ रही है , या फिर कोई लाइट आ ही नहीं रही है | इन सब चीजो को चेक करके ही आगे बढे |

1 . अगर चेक इंजन लाइट नहीं आती , या ब्लिंक करती है तो कार स्टार्ट नहीं होती |

2 . अगर इम्बोलिज़र की लाइट ब्लिंक करती है तो भी आपकी कार स्टार्ट नहीं होती |

3 . अगर मीटर में key on करने पर कोई लाइट आ ही नहीं रही होती है , तो भी कार स्टार्ट नहीं होती |

4 . बहुत बार चूए diesel टैंक की वायरिंग कट कर देते है ,जिसे मीटर में diesel की लाइट ब्लिंक करती है , तो भी आपकी कार स्टार्ट नहीं होती | इस लाइट का मतलब साफ़ होता है आपकी टैंक की वायरिंग कट हो चुकी है ,आप बैक सीट के पास वायरिंग चेक कर सकते हैं |

अगर key on करने पर इन सब में से एक प्रोब्लम भी होगी तो कार स्टार्ट नही होगी , इस प्रोब्लम में आपको कार स्कैन करवानी पड़ेगी | ये प्रोब्लम थी मीटर लाइट की |

 

मीटर लाइट्स चेक करने के बाद आपको चेक करनी है डीजल /fuel की सप्लाई |

 

अगर MITER WORNING LIGHT सभी ओके काम कर रही है तो आपको उसके बाद डीजल  /fuel की सप्लाई चेक करनी है |

आप बोनट खोले और डीजल  फ़िल्टर या डीजल  पंप का पाइप उतार कर चेक करे की डीजल  आ रहा है या नहीं ,अगर diesel आ रहा है तो ठीक है , अगर नहीं आ रहा तो आपको डीजल  टैंक के अन्दर फ्यूल मोटर चेक करनी पड़ती है

मोटर काम कर रही है या नहीं , फ्यूज चेक करे,  फ्यूल REALY चेक करे , फ्यूल गेज के पास वायरिंग चेक करे टूटी तो नहीं ,अगर मोटर खराब है तो आपकी कार स्टार्ट नहीं होगी क्युकी डीजल  नहीं जा रहा होता है |

अब बात करते है डीजल  फ़िल्टर डीजल  पंप तक भी फ्यूल आ रहा है तो कार स्टार्ट नहीं हो रही , इस कंडीसन में होता है की जब हम फ्यूल चेक करते है तो diesel पंप तक फ्यूल आता है पर वो इंजेक्टर तक नहीं जाता , और हम सोचते है

डीजल  पंप में प्रोब्लम हे और हम उसे change भी करवा देते है , फिर भी कार स्टार्ट नहीं होती ,

चेक DRBI SWICTH

इस कंडीसन में आपके DRBI SWITCH में प्रोब्लम होती है क्युकी DRBI SWITCH के खराब होने पर वह ECU/ECM को सिग्नल नहीं भेजता है

और जिसके कारण ECU इंजेक्टर को डीजल  की सप्लाई नहीं देता जिसके कारण आपकी कार स्टार्ट नही होती | इसलिए जब भी फ्यूल चेक करे तो इंजेक्टर तक चेक करे फ्यूल आ रहा है या नहीं |

अब अगर डीजल  प्रोपर आ रहा है तो क्या करे इसके बाद आप इंजेक्टर चेक करो ,इंजेक्टर की वापसी चेक करो बहुत जायदा तो नहीं |मगर वापसी जायदा हो तो फिर भी आपकी कार स्टार्ट नहीं होगी |

अब अगर डीजल आ रहा है इंजेक्टर भी सही है DRBI स्विच भी ठीक है तो आप एक बार air फ़िल्टर का जो पाइप होता है  उसे खोले और किसी कपडे को पेट्रोल से भीगा कर फ़िल्टर के पाइप से सुघाये और कार स्टार्ट करे , ध्यान रखे कपडा इंजन के अन्दर ना चला जाए , अगर कार स्टार्ट हो जाती है तो कपडा हटा ले |

पेट्रोल सुघा कर कार स्टार्ट क्यों होती है

अब बात करते है पेट्रोल सुघा कर कार स्टार्ट kyu हो रही है | पेट्रोल सुघा कर कार इसलिए स्टार्ट हो रही है, इसका मतलब है आपकी फ्यूल सप्लाई  के जो पाइप है या फिर फ्यूल टैंक की गेज से लेकर इंजेक्टर तक कही air बन रही है

पाइप कही न कही से लीक है , अगर आपकी फ्यूल सप्लाई में लीक है तो कार पेट्रोल सुघा कर ही स्टार्ट होगी या फिर स्टार्ट ही नहीं होगी | ये थी डीजल  सप्लाई की प्रोब्लम जिसके कारण कार स्टार्ट नहीं होती है |

कार sensor चेक करना

मीटर लाइट्स और फ्यूल सप्लाई के बाद अब हम sensor चेक करेगे |

अब आपको पता चल गया है की आपकी मीटर लाइट्स और फ्यूल सप्लाई सब ठीक है कही कोई प्रोब्लम नहीं है , इसके बाद आपको sensor चेक करना है , वैसे  तो इंजन में बहुत से sensor लगे होते है

पर आपको जो चेक करने है वो है CRANK position sensor और दूसरा cam shaft position sensor यह वो sensor है जो स्टार्टिंग में बहुत जायदा फर्क डालते है सबसे जायदा CRANK SENSOR इसके खराब होते है कार स्टार्ट नहीं होती |

CRANK SENSOR

सबसे पहले यह लगा कहा होता है और  यह काम क्या करता है |यह लगा होता है FLY WHEEL के ऊपर ,यह फिक्स होता है गियर बॉक्स में या ब्लाक में swift में यह sensor ब्लाक में लगा होता है और VERNA में यह GEARBOX में फिक्स है | और कई बड़ी करो में यह CRANK पुली के पास आगे लगा होता है |

यह काम करता है यह इंजन की जो टाइमिंग होती है उस टाइमिंग के सिग्नल को ECU तक भेजता है , यह sensor देखता है कोन सा piston किस टाइम पर top पर आ रहा है और जेसे ही piston top पर आता है

यह sensor ECU को सिग्नल देता है की एक नंबर का piston top पर आ गया है तो ecu साथ ही एक नंबर के इंजेक्टर को फ्यूल सप्लाई कर देता है, ऐसे ही एक एक करके सभी piston top पर आते है और उनको इस sensor की मदत से फ्यूल मिलता रहता है और कार स्टार्ट हो जाती है | अगर यह sensor ख़राब होगा तो यह ECU को सिग्नल नहीं भेज पायेगा और ECU इंजेक्टर को फ्यूल सप्लाई नहीं देगा जिसे कार स्टार्ट नहीं हो पायेगी |

इस sensor में 5 या 4.8 वाल्ट की सप्लाई आती है , इस sensor को चेक करने के लिए आप इसे बाहर निकाले और इसमें सप्लाई चेक करे , दूसरा इस sensor को जब किसी लोहे के पास लाया जाता है तो यह लोहे पर  चिपक जाता है | अगर नहीं चिपकता है तो समझ लीजिये की यह sensor खराब है | दूसरा cam position sensor यह आप current की सप्लाई से चेक कर सकते है , पर यह sensor जायदा खराब नहीं होता है |

 

इन सब के चेक करने के बाद आप ECU/ECM चेक कर सकते है

 

हर एक कार में ECU बहुत जरुरी होता है समझ लीजिये ये कार का  दिल होता है ,जिस पर सब चीजे कनेक्ट होती है और यही से सभी sensor पर सिग्नल पहुचता है और sensor काम करते है | आपकी कार की लाइट्स से लेकर इंजन के अन्दर जितने भी sensor है सभी इसी के दवरा काम करता है

| बहुत बार एसा होता है dashboard में ECM की लाइट तो आती है पर कार स्टार्ट नहीं होती ,क्युकी ecm में प्रॉब्लम आ जाती है | ecm चेक करवाने के लिए आपको ECM सर्विस सेण्टर भेजना पड़ता है |

वही यह चेक होता है या फिर आप दूसरी कार का ecm अपनी कार में लगा कर चेक कर सकते है कार स्टार्ट हो रही है या नहीं , पर याद रहे जिस कार का आप ecm लगा रहे हो वह आपकी कार जेसी होनी चाहिए और मोडल भी SAME होना चाहिए तभी ecm काम करेगा |

अगर ecm ठीक है फिर भी कार स्टार्ट नहीं हो रही , तो क्या करे , आपको ecm के पास की वायरिंग चेक करनी पड़ेगी की वायरिंग कही से कटी ना हो  इस चीजो को आपको बहुत ध्यान से चेक करनी है

अर्थ चेक करने है सभी | फ्यूज REALY , कई बार एसा होता है  की आप फ्यूज चेक करते हो तो उस पर डस्ट लगी होती है या बहुत से केस में एसा होता है की जो फ्यूज हम निकालते है वो ठीक होता है और जब हम फ्यूज लगाते है

तो फ्यूज जहा लगता है वहा थिम्बल लगा होता है जिसमे फ्यूज लगा होता है तो वो थिम्बल लूज़ हो जाता है और जब हम फ्यूज लगाते है तो वो उस थिम्बल तक नहीं पहुचता वो तार निचे ही रह जाती है लूज़ होने के कारण |

तो आप ध्यान रखे की ना फ्यूज पर डस्ट होनी चाहिए और न ही फ्यूज की वायर थिम्बल लूज़ नहीं होनी चाहिए | इस वजह से कई बार ecu को सिग्नल नहीं मिलता और कार स्टार्ट नहीं होती |

 

अगर आपकी बैटरी फुल चार्ज है और बैटरी प्रोपर काम कर रही है | तो इसके बाद कार स्टार्ट न होने के बहुत से कारण हो सकते है , हमने आपको कार  स्टार्ट ना होने के कुछ कारण बताये है जो बहुत जरुरी कारण होते है

कार स्टार्ट न होने के | अगर आप इन्ही जिजो को चेक करते है तो आपको fault मिल ही जाएगा | जिसे कार स्टार्ट हो जाएगी |

अगर कार स्टार्ट नहीं होती तो क्या क्या चेक करे , अब में आपको सीधा बताउगा की किन किन चीजो में परोब्लम  आने से कार स्टार्ट नहीं होती |

FAULTS NAMES ( इन फौल्ट्स के कारण आपकी कार स्टार्ट नही होती )

 

वोर्निंग लाइट्स ,

diesel फ़िल्टर में डस्ट आने से |

diesel पंप खराब होने से|

DRBI SWITCH के खराब होने से |

FUEL regulator sensor ख़राब होने से |

cam shaft position sensor खराब होने से |

इंजेक्टर चोक होने से कार स्टार्ट नहीं होती |

CRANK  SENSOR खराब होने से |

ecm /ecu के खराब होने से |

air maas FALOW sensor के खराब होने से |

diesel फ्यूल REALY के खराब होने से |

टाइमिंग out होने की वजह से कार स्टार्ट नहीं होती |

fuel मोटर खराब होने की वजह से |

कार को स्कैन करवाए 

यह कारण होते है कार स्टार्ट न होने के जब आपकी कार स्टार्ट न हो , तो आप कार को स्कैन करवाए स्कैनर से आपको जल्दी पता चल जायेगा fault कहा पर है | लेकिन स्कैनर सिर्फ इलेक्ट्रिकल fault बताता है अगर आपकी फ्यूल मोटर खराब होगी तो स्कैन नहीं बतायेगा |

scanner सिर्फ sensor fault ही बताता है , diesel पंप ,इंजेक्टर , DRBI इनको खराब नहीं बतायेगा अगर इनमे से एक चीज भी खराब होगी तो scanner सिर्फ पूरी diesel सप्लाई का ही fault बता देता है |

fault आपको खुद देखना पड़ता है की खराब क्या है पंप है , DRBI स्विच है , या इंजेक्टर है | लेकिन अगर आपका CRANK sensor खराब होगा तो scanner शिधा बता देगा की आपका CRANK sensor खराब है |

हम आपको यही बताना चाहते है fault हर तरीके के होते है नार्मल भी वायरिंग भी , sensor के भी | इसलिए अगर स्कैनर कुछ ना बताये या diesel सप्लाई का fault बताये तो आप जहा से diesel की सप्लाई सुरु है वहा से लेकर एक एक चीजो को स्टेप बाये स्टेप चेक करो fault मिल जायेगा |

Leave a Comment