car starting problem | कार स्टार्ट ना होने पर इन 5 चीजो को करे चेक

कार स्टार्ट क्यों नही होती आखिर क्या है  car starting problem जाने विस्तार से , car की battery सही होने के बाद भी कार स्टार्ट न हो तो क्या क्या कारण हो सकते है |

आज हम कार स्टार्टिंग के बारे में बात करेगे , कार स्टार्ट न हो तो क्या क्या चेक करना चाहिए  बहुत बार battery सही होती है लेकिन कार सेल्फ लेता है पर कार स्टार्ट नहीं होती , और सेल्फ मार मार कर हम बैटरी भी डाउन कर देते है 

पर कार स्टार्ट नही होती  सबसे पहले हम diesel कार की बात करते है  स्टार्ट न होने पर क्या क्या चेक करे |

हम आपको बता दे कार स्टार्ट न हो तो diesel कार की स्टार्टिंग प्रोब्लम चेक करने का एक ही तरीका होता है ,फिर वो कोई भी कार हो या किसी भी कंपनी की हो  स्टेप बाये स्टेप चेक करे

CAR STARTING PROBLEM IN HINDI
इसमें आल्टो कार के इंजन को दर्शाया गया है

car starting problem -कार स्टार्ट न हो तो क्या करें जाने

car starting problem इस प्रकार है जो आपको निचे देखने को मिल जाएगी 

चेक डैशबोर्ड लाइट

car start ना होने के कारण 

अगर आपकी car की battery सही है तो आप कुछ न करे सबसे पहले आप कार के अन्दर dashboard मीटर वारनिंग लाइट चेक करे की चेक इंजन लाइट आ रही है ,कोई लाइट ब्लिंक तो नहीं कर रही है इम्बोलिज़र की लाइट तो नहीं आ रही है , या फिर कोई लाइट आ ही नहीं रही है  इन सब चीजो को चेक करके ही आगे बढे |

1 . अगर चेक इंजन लाइट नहीं आती , या ब्लिंक करती है तो car starting problem होती है 

2 . अगर इम्बोलिज़र की लाइट ब्लिंक करती है तो भी car starting problem होती है 

3 . अगर मीटर में key on करने पर कोई लाइट आ ही नहीं रही होती है , तो भी car starting problem होती है 

4 . बहुत बार चूए diesel टैंक की वायरिंग कट कर देते है ,जिसे मीटर में diesel की लाइट ब्लिंक करती है , तो भी car starting problem होती  इस लाइट का मतलब साफ़ होता है आपकी टैंक की वायरिंग कट हो चुकी है ,आप बैक सीट के पास वायरिंग चेक कर सकते हैं |

अगर key on करने पर इन सब में से एक प्रोब्लम भी होगी तो car starting problem होगी , इस प्रोब्लम में आपको कार स्कैन करवानी पड़ेगी  ये प्रोब्लम थी मीटर लाइट की |

यह भी पढ़े :-   p0180 fuel temperature sensor A circuit malfunction | फ्यूल TEMPERATURE SENSOR खराब होने पर क्या करे

मीटर लाइट्स चेक करने के बाद आपको चेक करनी है डीजल /fuel की सप्लाई |

अगर MITER WORNING LIGHT सभी ओके काम कर रही है तो आपको उसके बाद डीजल  /fuel की सप्लाई चेक करनी है |

आप बोनट खोले और डीजल  फ़िल्टर या डीजल  पंप का पाइप उतार कर चेक करे की डीजल  आ रहा है या नहीं ,अगर diesel आ रहा है तो ठीक है , अगर नहीं आ रहा तो आपको डीजल  टैंक के अन्दर फ्यूल मोटर चेक करनी पड़ती है

मोटर काम कर रही है या नहीं , फ्यूज चेक करे,  फ्यूल REALY चेक करे , फ्यूल गेज के पास वायरिंग चेक करे टूटी तो नहीं ,अगर मोटर खराब है तो आपकी कार स्टार्ट नहीं होगी क्युकी डीजल  नहीं जा रहा होता है |

अब बात करते है डीजल  फ़िल्टर डीजल  पंप तक भी फ्यूल आ रहा है तो कार स्टार्ट नहीं हो रही , इस कंडीसन में होता है की जब हम फ्यूल चेक करते है तो diesel पंप तक फ्यूल आता है पर वो इंजेक्टर तक नहीं जाता , और हम सोचते है

डीजल  पंप में प्रोब्लम हे और हम उसे change भी करवा देते है , फिर भी car starting problem होती है 

चेक DRBI SWICTH

इस कंडीसन में आपके DRBI SWITCH में प्रोब्लम होती है क्युकी DRBI SWITCH के खराब होने पर वह ECU/ECM को सिग्नल नहीं भेजता है

और जिसके कारण ECU इंजेक्टर को डीजल  की सप्लाई नहीं देता जिसके कारण car starting problem  होती है इसलिए जब भी फ्यूल चेक करे तो इंजेक्टर तक चेक करे फ्यूल आ रहा है या नहीं |

अब अगर डीजल  प्रोपर आ रहा है तो क्या करे इसके बाद आप इंजेक्टर चेक करो ,इंजेक्टर की वापसी चेक करो बहुत जायदा तो नहीं  मगर वापसी जायदा हो तो फिर भी car starting problem होगी 

अब अगर डीजल आ रहा है इंजेक्टर भी सही है DRBI स्विच भी ठीक है तो आप एक बार air फ़िल्टर का जो पाइप होता है  उसे खोले और किसी कपडे को पेट्रोल से भीगा कर फ़िल्टर के पाइप से सुघाये और कार स्टार्ट करे , ध्यान रखे कपडा इंजन के अन्दर ना चला जाए , अगर कार स्टार्ट हो जाती है तो कपडा हटा ले |

पेट्रोल सुघा कर कार स्टार्ट क्यों होती है

अब बात करते है पेट्रोल सुघा कर कार स्टार्ट kyu हो रही है  पेट्रोल सुघा कर कार इसलिए स्टार्ट हो रही है, इसका मतलब है आपकी फ्यूल सप्लाई  के जो पाइप है या फिर फ्यूल टैंक की गेज से लेकर इंजेक्टर तक कही air बन रही है

पाइप कही न कही से लीक है , अगर आपकी फ्यूल सप्लाई में लीक है तो कार पेट्रोल सुघा कर ही स्टार्ट होगी या फिर स्टार्ट ही नहीं होगी  ये थी डीजल  सप्लाई की प्रोब्लम जिसके कारण car starting problem  होती है 

कार sensor चेक करना

मीटर लाइट्स और फ्यूल सप्लाई के बाद अब हम sensor चेक करेगे 

अब आपको पता चल गया है की आपकी मीटर लाइट्स और फ्यूल सप्लाई सब ठीक है कही कोई प्रोब्लम नहीं है , इसके बाद आपको sensor चेक करना है , वैसे  तो इंजन में बहुत से sensor लगे होते है

पर आपको जो चेक करने है वो है CRANK position sensor और दूसरा cam shaft position sensor यह वो sensor है जो स्टार्टिंग में बहुत जायदा फर्क डालता है , CRANK SENSOR के खराब होने पर भी car starting problem होती है 

CRANK SENSOR

crank sensor in hindi

सबसे पहले यह लगा कहा होता है और  यह काम क्या करता है यह लगा होता है FLY WHEEL के ऊपर ,यह फिक्स होता है गियर बॉक्स में या ब्लाक में swift में यह sensor ब्लाक में लगा होता है और VERNA में यह GEARBOX में फिक्स है  और कई बड़ी करो में यह CRANK पुली के पास आगे लगा होता है |

यह काम करता है यह इंजन की जो टाइमिंग होती है उस टाइमिंग के सिग्नल को ECU तक भेजता है , यह sensor देखता है कोन सा piston किस टाइम पर top पर आ रहा है और जेसे ही piston top पर आता है

यह sensor ECU को सिग्नल देता है की एक नंबर का piston top पर आ गया है तो ecu साथ ही एक नंबर के इंजेक्टर को फ्यूल सप्लाई कर देता है, ऐसे ही एक एक करके सभी piston top पर आते है

और उनको इस sensor की मदत से फ्यूल मिलता रहता है और कार स्टार्ट हो जाती है  अगर यह sensor ख़राब होगा तो यह ECU को सिग्नल नहीं भेज पायेगा और ECU इंजेक्टर को फ्यूल सप्लाई नहीं देगा जिसके कारण car starting problem होगी 

इस sensor में 5 या 4.8 वाल्ट की सप्लाई आती है , इस sensor को चेक करने के लिए आप इसे बाहर निकाले और इसमें सप्लाई चेक करे , दूसरा इस sensor को जब किसी लोहे के पास लाया जाता है

तो यह लोहे पर  चिपक जाता है अगर नहीं चिपकता है तो समझ लीजिये की यह sensor खराब है  दूसरा cam position sensor यह आप current की सप्लाई से चेक कर सकते है , पर यह sensor जायदा खराब नहीं होता है |

इन सब के चेक करने के बाद आप ECU/ECM चेक कर सकते है

हर एक कार में ECU बहुत जरुरी होता है समझ लीजिये ये कार का  दिल होता है ,जिस पर सब चीजे कनेक्ट होती है और यही से सभी sensor पर सिग्नल पहुचता है और sensor काम करते है  आपकी कार की लाइट्स से लेकर इंजन के अन्दर जितने भी sensor है सभी इसी के दवरा काम करता है

 बहुत बार एसा होता है dashboard में ECM की लाइट तो आती है पर कार स्टार्ट नहीं होती ,क्युकी ecm में प्रॉब्लम आ जाती है | ecm चेक करवाने के लिए आपको ECM सर्विस सेण्टर भेजना पड़ता है |

वही यह चेक होता है या फिर आप दूसरी कार का ecm अपनी कार में लगा कर चेक कर सकते है कार स्टार्ट हो रही है या नहीं , पर याद रहे जिस कार का आप ecm लगा रहे हो वह आपकी कार जेसी होनी चाहिए और मोडल भी SAME होना चाहिए तभी ecm काम करेगा |

अगर ecm ठीक है फिर भी car starting problem हो रही , तो क्या करे , आपको ecm के पास की वायरिंग चेक करनी पड़ेगी की वायरिंग कही से कटी ना हो  इस चीजो को आपको बहुत ध्यान से चेक करनी है

अर्थ चेक करने है सभी  फ्यूज REALY , कई बार एसा होता है  की आप फ्यूज चेक करते हो तो उस पर डस्ट लगी होती है या बहुत से केस में एसा होता है की जो फ्यूज हम निकालते है वो ठीक होता है और जब हम फ्यूज लगाते है

तो फ्यूज जहा लगता है वहा थिम्बल लगा होता है जिसमे फ्यूज लगा होता है तो वो थिम्बल लूज़ हो जाता है और जब हम फ्यूज लगाते है तो वो उस थिम्बल तक नहीं पहुचता वो तार निचे ही रह जाती है लूज़ होने के कारण |

तो आप ध्यान रखे की ना फ्यूज पर डस्ट होनी चाहिए और न ही फ्यूज की वायर थिम्बल लूज़ नहीं होनी चाहिए  इस वजह से कई बार ecu को सिग्नल नहीं मिलता और car starting problem की समस्या होती है 

अगर आपकी बैटरी फुल चार्ज है और बैटरी प्रोपर काम कर रही है  तो इसके बाद car starting problem  होने के बहुत से कारण हो सकते है , हमने आपको car starting problem होने के कुछ कारण बताए है जो बहुत जरुरी कारण होते है

 car starting problem होने पर अगर आप इन्ही चीजो को चेक करते है तो आपको fault मिल ही जाएगा  जिसे कार स्टार्ट हो जाएगी 

 car starting problem होने पर आपको क्या चेक करना है , अब में आपको सीधा बताउगा की किन किन चीजो में प्रॉब्लम आने से car starting problem होती है 

यह भी पढ़े : –  ANTI LOCK BRAKING SYSTEM क्या है कैसे काम करता है फायदे , इतिहास ,पार्ट्स,लक्षण

FAULTS NAMES ( इन फौल्ट्स के कारण car starting problem होती है )

वोर्निंग लाइट्स ,

diesel फ़िल्टर में डस्ट आने से |

diesel पंप खराब होने से|

DRBI SWITCH के खराब होने से |

FUEL regulator sensor ख़राब होने से |

cam shaft position sensor खराब होने से |

इंजेक्टर चोक होने से कार स्टार्ट नहीं होती |

CRANK  SENSOR खराब होने से |

ecm /ecu के खराब होने से |

air maas FALOW sensor के खराब होने से |

diesel फ्यूल REALY के खराब होने से |

टाइमिंग out होने की वजह से कार स्टार्ट नहीं होती |

fuel मोटर खराब होने की वजह से |

कार को स्कैन करवाए 

यह कारण होते है car starting problem होने के जब आपकी कार स्टार्ट न हो , तो आप कार को स्कैन करवाए स्कैनर से आपको जल्दी पता चल जायेगा fault कहा पर है लेकिन स्कैनर सिर्फ इलेक्ट्रिकल fault बताता है अगर आपकी फ्यूल मोटर खराब होगी तो स्कैन नहीं बतायेगा |

scanner सिर्फ sensor fault ही बताता है , diesel पंप ,इंजेक्टर , DRBI इनको खराब नहीं बतायेगा अगर इनमे से एक चीज भी खराब होगी तो scanner सिर्फ पूरी diesel सप्लाई का ही fault बता देता है |

fault आपको खुद देखना पड़ता है की खराब क्या है पंप है , DRBI स्विच है , या इंजेक्टर है लेकिन अगर आपका CRANK sensor खराब होगा तो scanner शिधा बता देगा की आपका CRANK sensor खराब है |

हम आपको यही बताना चाहते है fault हर तरीके के होते है नार्मल भी वायरिंग भी , sensor के भी इसलिए अगर स्कैनर कुछ ना बताये या diesel सप्लाई का fault बताये तो आप जहा से diesel की सप्लाई सुरु है वहा से लेकर एक एक चीजो को स्टेप बाये स्टेप चेक करो fault मिल जायेगा

यह भी पढ़े : –  अगर गियरबॉक्स से आयल लीक हो जाए तो क्या करे |car gearbox oil leakage के क्या कारण है

कार का कुछ दूर चलते ही बंद हो जाना क्या है

अगर हम स्विफ्ट डीजल कार की बात करे तो देखा गया है की कार कुछ दूर चलती है और झटके मारकर बंद हो जाती है और car starting problem होती है परन्तु पेट्रोल सुंघाते ही स्टार्ट हो जाती है 

एसा तभी होता है जब फ्यूल मोटर में कोई कमी हो या फ्यूल मोटर फ्यूल की सप्लाई में कट मारता हो परन्तु एसा तब भी होता है अगर drbi स्विच या fuel rail preassure sensor में डस्ट आ गई हो 

परन्तु अगर drbi स्विच खराबा हो जाता है तो भी आपको यह समस्या देखने को मिलेगी कार स्टार्ट होगी कुछ दूर चलेगी उसके बाद झटका मारकर बंद हो जाती है और स्टार्ट नही होती है 

अगर आपके साथ एसा हो रहा है तो आप सबसे पहले यह देखो की मीटर में कोई वार्निंग लाइट आ रही है या नहीं अगर नहीं आ रही है तो 100 % आपकी फ्यूल मोटर में ही समस्या है 

और अगर कोई वार्निंग लाइट ऑन है कार स्टार्ट करने पर तो आप सबसे पहले अपनी कार को स्कैन करवाए और स्कैन करने पर जो फौल्ट्स आता है उस फोल्ट्स के अनुसार आप काम करे 

निष्कर्ष 

आशा करते है की आपको car starting problem के बारे में सभी चीजो के बारे में अछे से पता चल गया होगा , अगर आपको car starting से जुडी कोई भी समस्या है या आर्टिकल अच्छा लगा तो कमेंट करे जिसे हम आपकी मदत कर पाए 

related topic 

mahindra scorpio starting problem महिंद्रा स्कॉर्पियो स्टार्ट करने मैं प्रॉब्लम

Honda City 2010 starting problem

Swift Vdi starting problem | क्यों होती है कार बंद चलते चलते

Hyundai starting problems and solution क्यों होती है कार 40 किलोमीटर पर बंद जानिये

जानिए कुछ सवालों के जवाब 

Q . कार बंद होने पर क्या करे ?

ans . अगर आपकी कार बंद हो जाती है तो सबसे पहले आपको चेक करना होता है की मीटर में कोई वार्निंग लाइट ब्लिंक तो नहीं कर रही है उसके बाद फ्यूल ख़त्म तो नहीं हो गया है या बैटरी डाउन ना हो अगर यह सब ठीक है तो आप किसी मेकेनिक की सलाह ले कार को चेक करवाए |

Q . कार की बैटरी डाउन होने पर कार को कैसे स्टार्ट करे

ans . अगर आपकी कार की बैटरी डाउन हो गई है तो आप कार को गियर में डालकर कार को स्टार्ट कर सकते है पर याद रहे की कार को सेकंड या बेक गियर में ही स्टार्ट करे |

Q . कार की सर्विस कितने किलोमिटर पर करवानी चाहिए ?

ans . आप पेट्रोल कार की सर्विस 5000 या 6,000 किलोमीटर पर करवा सकते है और डीजल कार की सर्विस आप 10,000 किलोमीटर पर करवाए |

Q . डीजल फ़िल्टर क्या काम करता है ?

ans . डीजल फ़िल्टर फ्यूल टैंक में जमा डस्ट को इंजेक्टर तक नहीं जाने देता फ्यूल को इंजेक्टर तक पहुचने से पहले ही डीजल फ़िल्टर फ्यूल को साफ़ कर देता है और इंजेक्टर ब्लाक नहीं होता है |

Leave a Comment