air mass flow sensor (hfm) क्या है | जानिए इस सेंसर की 4 problem के बारे में

आज हम बात करते है AIR MASS FLOW SENSOR (HFM) के बारे में  ये sensor है क्या ? यह sensor  हर CRDI कार में लगा होता है यह  sensor इम्पोर्टेन्ट इनफार्मेशन ECU तक पहुचाता है |

इस sensor का इम्पोर्टेन्ट काम इंजन  में घुसने वाली हवा को पकड़ना है और इस डिटेल को ECU तक अछे से पहुचाना होता है क्युकी हवा की लिमिट होती है ,की इंजन में कितनी हवा जानी चाहिए , इंजन में हवा और DISEL का फिक्स मिसरन होता है 

इंजन में जो हवा होती है और जो DISEL होता  है इन दोनों का मिश्रण होता है उनका फिक्स रेसो जो है 14  रेसो  1 होता है मतलब 14 दाने अगर हवा के होगे तो 1 दाना DISEL का होता है

यह रेसो मेंटेन करने के लिए यह जानकारी ECU के पास होना बहुत जरुरी है की इंजन के अन्दर कितनी हवा और DISEL गयी मान लीजिये अगर 14 दाने हवा के गए तो 1 दाना DISEL का  इंजेक्टर को ECU देगा |

इस दोरान हमारा ECU जो है वह और इनफार्मेशन इकठा करता है ओक्सिजन SENSOR  से भी  ऑक्सीजन sensor का भी बहुत बड़ा रोल होता है 

कितना DISEL इंजन को मिलना चाहिए यह डिपेंड करता है HFM sensor और ऑक्सीजन o2 sensor पर जब ECU इन दोनों से इनफार्मेशन लेता है

तो फिर आगे इंजेक्टर को यह इनफार्मेशन देता है और फिर इंजेक्टर इंजन के अन्दर DISEL सप्लाई करता है  air mass flow sensor AIR फ़िल्टर में लगा होता है 

air mass flow sensor खराब हो जाये तो क्या होगा

AIR MASS SENSOR जब खराब हो जाता है तो ECM को पता ही नहीं चल पाता की कितनी हवा इंजन के अन्दर जा रही है |

AIR MASS SENSOR खराब होने पर सबसे पहले जो दिकत आती है वो LOW PICKUP की आती है | PICKUP बहुत ड्रॉप हो जाती है |

अगर AIR MASS SENSOR अगर पूरा खराब हो जाता है तो कार स्टार्ट भी नहीं होती |

या फिर कार लेट स्टार्ट होती है |

air mass flow sensor में क्या क्या लगा होता है 

इसमें एक सोकेट लगी होती है ,एक माइक्रो कंट्रोलर चिप लगी होती है | और एक एलिमेंट लगा होता है ये बहुत स्मार्ट senso होता है  इसकी एक खुद की एक चिप होती है यह चिप सारी चीजो को परख कर एक सिग्नल जनरेट करता है  यह signal  5 वाल्ट का होता है या फिर 4 .8 वाल्ट होता है और यह सिग्नल हमारे ecu तक पहुचता है |

इसके अन्दर एक वायर होती है यह किस तरह काम करता है  इसमें एक हॉट वायर लगी होती है और साथ में दो रजिस्टर लगे होते है और इन रजिस्टर की  एक प्रोपर्टी होती है जेसे ही temperature हाई होता है , तो रेजिस्टेंन भी हाई हो जाता है |

ये रजिस्टर काम क्या करता है 

एक रजिस्टर लगा होता है intake air temperature  में  यह अन्दर आने वाली हवा का TEMPRECTURE नापता है और दूसरा रजिस्टर वह हीटर की तरह काम करता है 

जब इस sensor में हवा आती है तो air mass flow sensor के रजिस्टर का temperature   LOW होता है , तो ये रजिस्टर यह जानकारी ECU को देता है  जेसे ही temperature   गिरता है रजिस्टेंस भी गिरता है |

इन रजिस्टरों में जो बहने वाला जो करेंट होता है उसको रोकने की समता होती है जब रोकने की समता बढ़ जाती है ,तो करेंट जायदा बहने लगेगा  जब करेंट जायदा बहने लगता है  तो दूसरा रेजिटेंस अपना काम करने लगता है temperature  को वही लेकर आता है 

इसमें एक माइक्रो कंट्रोलर चिप होती है | यह इसका काम यही होता है की रजिस्टरों के करंट को मेंटेन करता है और ECU को इनफार्मेशन देता है 

MASS AIR FLOW KG/H  VOLTAGE (V) MASS AIR FLOW KG/H      VOLTAGE (V)
              0      0.95-1.05               250                   3.51
            10         1.28               370                   3.93
            15         1.41              480                   4.23
            30        1.71              640                   4.56
            60        2.16              800                    4.82
           120        2.76    

यह चार्ट है AIR MASS SENSOR के signal का 

मान लीजिये 0.95 -1.05 वोल्टेज सप्लाई पास हुई तो हवा 0 % पास होगी  आप ऊपर चार्ट के अनुसार वोल्टेज और हवा के सप्लाई देख सकते है |

air maas flow sensor problem 

एयर मॉस फ्लो सेंसर के कारण बहुत सी समस्या उत्पन होती है जो इस प्रकार है जानिए –

चेक इंजन लाइट ऑन

जब आपकी कार का AIR MASS SENSOR खराब होता है या होने वाला होता है तो आपको एक वार्निंग लाइट देखने को मिलेगी जो dashboard में दिखाई देती है

इस लाइट को check engine light भी कहाँ जाता है और यह लाइट हमें वार्निंग देती है की air mass flow sensor  खराब होने वाला है

हार्ड स्टार्ट का होना

AIR MASS SENSOR खराब होने के कारण हार्ड स्टार्टिंग की समस्या उत्पन हो जाती है क्युकी AIR MASS SENSOR अछि air इंजन को नहीं देता है

और न ही ecm को AIR MASS SENSOR  के signal मिल पाते है जिसके कारण कार स्टार्ट नही होती है हार्ड स्टार्टिंग की समस्या हो जाती है

माइलेज का कम हो जाना

AIR MASS SENSOR माइलेज कम होने का सबसे बड़ा कारण होता है क्युकी इंजन में फ्यूल के साथ एयर भी जाती है और जब AIR MASS SENSOR  खराब होता है

तो फ्यूल तो इंजन में सही जाता है परन्तु एयर सही मात्रा में नहीं जाती है और जब AIR MASS SENSOR ख़राब होता है तो ecm को signal नही मिलता है

जिसके कारण ecm कार को स्टार्ट करने के लिए जादा से जादा फ्यूल की सप्लाई इंजेक्टर को कराता है और माइलेज कम हो जाती है

pickup कम हो जाना

pickup कम होने का एक कारण है air mass flow sensor का खराब हो जाना क्युकी इस सेंसर के खराब होने के कारण इंजन में फ्यूल के साथ एयर की मात्रा सही नहीं जा पाती है और PICKUP कम होती है

अगर आपकी कार की PICKUP कम है तो सर्विस के समय एयर मॉस फ्लो सेंसर को पेट्रोल या सेंसर साफ़ करने वाले सप्रे से सेंसर को साफ़ करे

निष्कर्ष 

आशा करते है की आपको air mass flow sensor के बारे में पता चल गया होगा यह सेंसर किसी भी कार के लिए बहुत जरुरी होता है इसे बदलने से पहले चेक जरुर करे अगर आपको इस सेंसर से जुडी कोई समस्या है तो कमेंट में बताए हम आपकी मदत करेगे 

related topic

oxygen sensor on a car क्या होता है ऑक्सीजन सेंसर इसके खराब होने से क्या समस्या होती है

p0335 कोड क्या है crankshaft position sensor code | क्यों आता है यह code

P0110 क्या है trouble code intake air mass flow sensor क्या है

2 PIN CRANK SENSOR को कैसे चेक करे ठीक है या ख़राब ?

P0191 fuel rail pressure SENSOR को कैसे बदल सकते है

crankshaft position sensor symptoms-crank sensor ख़राब क्यों होता है

ECU खराब होने के कारण | 6 problem के कारण ecu होता है बार बार खराब

जानिए कुछ सवालों के जवाब 

Q . इस सेंसर के खराब होने से सबसे बड़ा नुक्सान क्या होगा ?

ans . इस सेंसर के खराब होने से कार बंद हो जाएगी स्टार्ट नहीं होगी |

Q . यह सेंसर कहाँ लगा होता है ?

ans . कुछ कार में यह सेंसर गियर बॉक्स में लगा होता है कुछ कार में क्रैंक पुली के पास लगा होता है |

Leave a Comment