पुरानी कार खरीदने से पहले जान ले 20 बाते | how to sell an old car

आज हम बात करेगे सेकंड हैण्ड कार के बारे में , सेकंड हैण्ड कार लेते समय क्या क्या चेक करना चाहिए जिसे आपको कोई प्रोब्लम न हो |जेसा की आप जानते है अब new मोडल की कार launch हो रही है और जिनके पास पुरानी कार है वो बेचना चाहते है |

पर जब कोई इस पुरानी कार old car  को लेना चाहता है तो उसके मन में 100 सवाल आते है की कुछ इस कार में खराब तो नहीं है ,इसके डॉक्यूमेंट भी सही है या नहीं , ये चलने में सही होगी या नहीं, इन सब बातो को सोचकर वह मकेनिक से सलाह लेता है ,

अगर मकेनिक कार को सही बताता है तो आप कार ले लेते है फिर चाहे उस कार में कोई प्रोब्लम भी हो | आपके इस क्न्फुसन को दूर करने के लिए हम आपको कुछ टिप्स बतायेगे जिसे आप पुरानी कार लेते वक़्त खुद ही सब कुछ चेक कर सकते है |

पुरानी कार कार खरीदने से पहले ये सभी चीजे जान ले

सबसे पहले हम मकेनिक टिप्स आपको बतायेगे

1 . body  CONDITION

सबसे पहले जब आप कोई पुरानी कार लेने या देखने जाये तो उसकी body CONDITION  चेक करे मतलब उसका कलर उतरा तो नहीं कही से ,या फिर कही पर डेंट तो नहीं लगा है ,CAR कही से पेंट तो नहीं हुई है या फिर पूरी पेंट तो नहीं हुई है | क्युकी बहुत से लोग कार जब पुरानी हो जाती है तो उसे पूरी पेंट करा देते है जिसे वह नयी लगती है | पेंट हुई है या नहीं केसे चेक करे , इसके लिए आप कार के मरगाड  या बोनट के कोने पर देखना कोई मोटी परत तो नही है ,अगर है तो समझ जाइये बोनट पेंट है |

2 . tyre

tyre  चेक करने बहुत जरुरी होता है , जब भी आप पुरानी कार ले रहे हो | कार चेक करते समय चारो tyre देखे खराब तो नहीं हो रहे या फटे हुए तो नहीं है | एक बात का और ध्यान रखे की tyre एक तरफ से ख़त्म ना हों |

3 . चेसी :-

चेसी कार का बहुत जरुरी पार्ट होता है इसी पर पूरी कार टिकी हुई है, इसलिए ध्यान रखे की चेसी कहीं से गली ना हो कार के निचे देखे ,साइड में चेक करे ,चारो खिडकिय खोलके चेक करे कही से लोहा गला तो नहीं है | सबसे जायदा ध्यान रखे इंजन कम्पार्टमेंट के पास जो गोडे होते है जिनमे सोकर लगे होते हैं वो गले नहीं होंने चाहिए ,क्युकी 50 % करो की चेसी गली रहती है पुरानी होने के बाद तो इस पॉइंट का जायदा ध्यान रखे |

4 . ac

जयादातर हमने देखा है लोग जब भी पुरानी कार लेते है तो ac चेक करना भूल जाते है ,जायदा सर्दियों में | इसलिए जब भी आप कार ले रहे हो गर्मी हो या सर्दी आप ac को चला कर चेक करे ac के सभी बटन को चेक करे काम कर रहे है या नहीं | ac में 3 तरह के बटन लगे होते है एक जो ac को कम जायदा करता है

और जाने –

पॉइंट के हिसाब से , 2 यह बटन लगा होता है ac की जो हवा को अलग अलग जगह पर ट्रांसफर करने के लिए और 3 जो बटन होता है वह ac और हीटर को चलाता है तो आप 3 बटन को घुमा कर चेक करे सही है या नहीं | ac की कुलिंग चेक करे कितना ठंडा कर रहा है |

5. हीटर

जेसे आपने ac चेक किया वेसे ही हीटर चेक करना है 3 बटन होता है ,उस बटन पर blue एंड red कलर होता है अगर blue पर करते है बटन को तो ac चलता है और अगर red पर करते है तो हीटर चलता है तो आप हीटर भी चेक कर ले |

6 . इंजन

अब आप सोचोगे इंजन केसे चेक करे , इंजन खराब है या सही यह चेक करने के लिए आपको इंजन आयल गेज को बाहर  निकालना होगा जिस गेज से आयल चेक करते है | गेज बाहर निकालने के बाद आपको कार स्टार्ट करनी है

और फिर चेक करना है गेज से वाइट स्मोक बाहर तो नहीं आ रहा अगर गेज से वाइट स्मोक बाहर आ रहा हो तो समझ जाइए इंजन डाउन कनडीसन  में है और कार लेने के बाद आपको इंजन कराना पड़ सकता है | और इंजन की आवाज जरुर चेक करे |

7 . सस्पेन्सन :-

कार की सस्पेन्सन चेक करनी बहुत जरुरी होती है सस्पेन्सन ही कार की जान होती है इसी पर कार का वजन होता है जब कार चलती है तो जितने भी झटके होते है वो सभी सस्पेन्सन सहन कर लेती है | सस्पेन्सन जरुर चेक करे |

8 . टेस्ट drive :-

टेस्ट drive में आपको कार की pickup चेक करनी है , सभी गियर सही लग रहे है या नहीं | ac on करके कार चलाकर देखे कार pickup डाउन तो नहीं हो रहा , क्लच दबाकर चेक करे टाइट तो नहीं है |

9. look :-

हर कोई चाहता है उसके पास बढ़िया कार हो जो देखने में भी सुन्दर लगे ,इसलिए आप चाहे पुरानी कार ले या नयी ले पर कार की लुक का हमेशा ध्यान रखे की उस कार की शेप केसी है अगर अची लुक है तो ही ले  नहीं रहने दे | आज के टाइम में लुक बहुत इम्पोर्टेन्ट रखती है ,अगर कार की लुक अच्छी होगी तो आप उसे जब मर्जी बेच सकते है |

10 . कार की मार्केट वैल्यू :-

इसका मतलब है , हमने बहुत बार देखा है कुछ लोग ऐसी कार ले लेते है जिसकी मार्किट में जायदा वैल्यू नहीं होती ,जिसके कारण उस कार को बेचने में बहुत दिकत होती है | मान लीजिये एक के पास swift है और एक के पास चेवरोलेट beet तो आपको swift लेनी है

वजह मार्किट वैल्यू | फिर चाहे beet अच्छी कार हो पर आपको नहीं लेनी है क्युकी swift आप 5 साल चलाकर फिर उतने में ही बेच सकते है पर आप beet जितने में लेगे उसे बहुत कम दाम में बेचनी पड़ेगी | इसलिए जिस कार की मार्किट में वैल्यू चल रही है तो सेकंड हैण्ड कार तो व्ही ले |

11 . स्प्येर parts :-

स्प्येर पार्ट्स यह बहुत जरुरी है की जो आप कार ले रहे हो उसका पार्ट्स मार्किट में मिल भी रहा है या नहीं , कई बार जल्द बाजी में ऐसी कार ले लेते है जिसका पार्ट्स नहीं मिलता और कई दिनों तक कार मकेनिक पर ही खड़ी रखनी पड़ती है | पुरानी कार भी ऐसी ले जिसकी कम्पनी भी पास हो और पार्ट्स भी जल्दी मिल जाता हो | इसे आपको कभी प्रोब्लम नहीं होगी अगर कार में कोई भी दिकत हो गयी हो|

जब भी आप पुरानी कार लेने जाओ तो ध्यान रखे की कार एक्ससीडेंटल ना हो या उस कार से किसी का एक्ससीडेंट  न हुआ हो इसे आपको बहुत बड़ा नुक्सान हो सकता है ,क्युकी कई बार अच्छी कार मिलने की खुसी में यह देखना भूल जाते है की उस कार का पुलिस से कुछ लेना देना तो नहीं है ,और जब आप कार को ले लेते है और आपको परोब्लम हो सकती है |

दूसरा एक्ससीडेंटल कार जब लेते है तो वो कार कभी सही नहीं चलती उसमे कुछ ना कुछ प्रोब्लम होती है कहीं ना कही से आवाज आते ही रहती है | और आपके बहुत पेसे लग जाते है |

13. music system :-

पुरानी कार लेते समय म्यूजिक सिस्टम चेक कर ले है या नहीं कई बार जिसके पास कार होती है वो बेचने से पहले म्यूजिक सिस्टम खोल लेता है और पुराना लगा देता है | इसलिए कार लेते समय ध्यान दे म्यूजिक सिस्टम है या नहीं कार में |

14 . पॉवर window :-

जब आप पुरानी कार ले रहे होते है तो आप जो कार ले रहे है अगर उसमे पॉवर window है तो सभी पॉवर window को चला कर चेक करे काम कर रहे है या नहीं | window के बटन सभी सही है या नहीं |

16 . मीटर रीडिंग :-

कोई भी पुरानी कार लेने से पहले यह जरुर देखे की वह कार चली हुई कितनी है कम है या जायदा | बहुत से लोग मीटर रीडिंग बैक करवा देते है इसलिए कार की कंडीसन  देखे और फिर मीटर रीडिंग आपको पता चल जायेया मीटर बैक हुआ है या नहीं | diesel कार जायदा चली नहीं लेनी चाहिए , क्युकी वह आगे चलकर बहुत दिकत देती है | petrol कार अगर थोड़ी जायदा भी चल गयी हो तो जायदा फरक नहीं पड़ता | पर आप चेक करके ही कार ले |

17 . starting :-

starting एक बहुत जरुरी चीज है जो आपको देखनी है | क्युकी कार की starting ही आपको बता देगी की आपको यह कार लेनी है या नही starting पर जायदा ध्यान तब  दिया जाता है जब आप diesel कार लेने जा रहे होते है | वो भी पुरानी | क्युकी diesel कार पुरानी होने के बाद बहुत दिकत करती है

जब आप पुरानी diesel कार लेने जाये तो कार स्टार्ट करके चेक करे starting लेट तो नहीं है या स्टार्ट करने में जायदा सेल्फ मारने पड रहे है | अगर एसा होता है तो आप वह कार मत ले क्युकी इस प्रोब्लम में आपके जायदा पेसे लग सकते है | कार एकदम से स्टार्ट होनी चाहिए |

18 . smoke प्रॉब्लम :-

स्मोक प्रोब्लम यह बहुत बड़ी समस्या भी हो सकती है और बहुत छोटी भी , जब आप कार लेने जाये या चेक कर रहे होते है तो आप सिलेंसर में स्मोक चेक करे की कार कही धुआ तो नहीं मार रही white, black, blue स्मोक अगर कार के सिलेंसर से निकल रहा है तो समझ जाइए की कार में जायदा प्रोब्लम है और लेने के बाद आपको 10000 तक खरचने पड़ सकते है | इसलिए ध्यान रखे की कार में स्मोक प्रोब्लम ना हो |

document :-

अब हम document की बात करते है क्या क्या चेक करना चाहिए |

1 . RC

पुरानी कार लेते समय ध्यान रखे की उस कार की RC है या नही | अगर किसी कार की RC नहीं होती या खो गयी होती है तो वो कार ख़तम हो जाती है | क्युकी RC ही कार का प्रूफ होता है| RC में आपको चेक करना है , किसकी नाम पर कार है उसका नाम father नाम RC के नंबर को कार के नंबर से मिलाकर देखे , RC पर एक चेसी नंबर होता है ,और कार की चेसी पर भी व्ही नंबर होता है

इसलिए चेक करे दोनों नंबर सेम है या नही | अगर नंबर सेम हुए तो rc में कुछ प्रोब्लम हो सकती है| इंजन नंबर चेक करे | कार की वैल्यू चेक करे कितने दिन या साल या month की रह गयी है | तभी कार ले | कार का कलर चेक करे जो RC पर लिखा है व्ही है या नहीं |

2 . इन्सोरेन्स

पुरानी कार लेते समय इन्सोरेन्स को भी चेक करे ख़तम न हो गया हो क्युकी अगर किसी कार का इन्सोरेंसे ख़तम हो गया हो तो उसको लेने के बाद नाम करवाने में प्रोब्लम हो सकती है

क्युकी पहले कार का इन्सोरेंसे होता है और फिर जो उस कार को लेगा उसके नाम होगी इसलिए इन्सोरेंसे चेक कर ले है या नहीं अगर इन्सोरेंसे कुछ महीने पहले ख़तम हुआ है तो कम पेसे लगते है अगर साल या साल से ऊपर हो गया हो तो जयादा पेसे लगते है | इसलिए अगर कार का इन्सोरेंसे ख़त्म हुआ है तो लेने से पहले कार वाले को बोले वो इन्सोरेंसे करा के दे आपको |

3 .  पर्दुसन

पर्दुसन की रसीद जरुर होनी चाहिए | कार लेने से पहले पर्दुसन जरुर चेक कर ले ख़तम ना हो |

 4 . NOC

NOC जरुर चेक करे है की  कई केस में कार दो नंबर की भी हो सकती है या इस कार पर लोन लिया हो सकता है जो कार के मालिक ने चुकाया न हो, तो सब अच्छे से चेक कर ले फिर ही कार ले |

5 . local transfer

लोकल transfer मतलब कई बार नंबर अपने सहर से दूसरी जगह का होता है तो आप यह ध्यान रखे की वह आपके सिटी में transfer हुई है या नहीं | अगर आप दूसरी सिटी का नंबर को अपनी सिटी में चलायेगे तो  थोड़ी दिकत होती है ,इसलिए जायदा कोसिस  करे की आप अपने सहर का लोकल नंबर ही ले अपनी कार का |

 

ये है कुछ टिप्स जो आपको पुरानी कार लेने से पहले चेक करनी है | जिसे आपको कार लेने में आसानी होगी और आप अच्छी कार का आनद ले सकते हो | 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *