Suspension system कार का सस्पेंशन क्या होता है और कैसे काम करता है

आप हर रोज कार तो चलाते ही होगे और आपको कार चलाने में थकान भी बहुत कम होती होगी इसका कारण है कार में अछि Suspension system का होना Suspension system आपको थकान महसूस नहीं होने देती है

Suspension system का मुख्या कार्य होता है ड्राईवर को झटके से बचाना जिसे वह अछि ड्राइव कर सके Suspension system का इस्तेमाल सभी कार में किया जाता है Suspension system कार में आगे और पीछे दोनों में होती है

Suspension system का काम तब होता है जब कार स्पीड में चल रही हो या फिर कार को मोड़ना हो कार के ब्रेक लगाने पर उस समय Suspension system कार को स्टेबलिटी प्रदान करता है ताकि कार को झटका ना लगे

आपने देखा होगा सभी रोड एक जैसे नहीं होते है कुछ रोड साफ़ होते है और कुछ रोड पर गढ़े होते है जिसके कारण कार में झटके लगते है इस झटके को कम करने के लिए Suspension system में शोक / शोकर का इस्तेमाल

किया जाता है

जब हमारी कार किसी गढ़े में जाती है तो सारा झटका शोकर ले लेता है जिसके कारण हमें कार में झटका नहीं लगता है और हम आराम से ड्राइव करते रहते है शोकर में स्प्रिंग भी लगा होता है जो शोकर को बेक आने में मदत करता है

यह भी पढ़े :-   10 BREAK WARNING LIGHT ON CAR मैं क्यों आती है | ब्रेक चेतावनी प्रकाश

Suspension system क्या है 

Suspension system हमें झटके से बचाती है और हमें अछि ड्राइव करने में मदत करती है Suspension system में बहुत से रबर के बुश लगे होते है जो कार को स्टेबलिटी प्रदान करती है

Suspension system अलग अलग पार्ट में बटी होती है हर पार्ट Suspension system में अलग अलग प्रकार से कार्य करता है जैसे शोकर झटका लगने से बचाते है

कार का स्टेअरिंग हमें मुड़ने के लिए सहायता प्रदान करता है , इंजन माउंट यह इंजन को रोकने के साथ साथ इंजन से लगने वाले झटके से हमें बचाता है सभी पार्ट का अलग अलग काम है

Suspension system किसी एक पार्ट के कारण काम नहीं करती है Suspension system कार को रोड के अनुसार चलने में मदत करती है जब रोड पर खड़े आते है तो Suspension system खड़े के अनुसार कार्य करने लगती है

Suspension system काम कैसे करता है 

Suspension system में चेसी लगी होती है उस पूरी चेसी में ही पूरा Suspension system लगा होता है और उस चेसी के अलावा दोनों तरफ शोक / शोकर लगे होते है

चेसी के दोनों तरफ चिमटे लगे होते है जो टायर में लगे नुकल से जुड़े होते है और कार का स्टेअरिंग भी दोनों टायर के नुकल में लगा होता है इंजन की माउंट भी इसी चेसी में लगी होती है

जब हम कार को चलाते है और अगर रोड प्लेन होता है तो आपको कुछ महसूस नहीं होगा परन्तु अगर आप चलती कार में ब्रेक लगाते है तो कार आगे से निचे की तरफ झुकती है

वह इसलिए क्युकी Suspension system में लगे शोकर ब्रेक मारने पर कार में लगे पुरे झटके को रोक लेता है और कार के रुकते ही शोकर में लगे स्प्रिंग शोकर को अपनी जगह पर ले आते है

इसके अलावा चेसी में रबर बुश लगे होते है जो कार को रोड के अनुसार उपर निचे होने में मदत करता है यह बुश कार को झटके लगने से भी बचाते है

यह भी पढ़े :-  क्या इलेक्ट्रिक कार में इंजन होता है

Suspension system के पार्ट क्या है 

Suspension system में बहुत से पार्ट लगे होते है जो अपनी भूमिका अलग अलग निभाते है जिसके कारण कार को झटका नहीं लगता है Suspension system के पार्ट की जानकारी इस प्रकार है

.   नुकल

नुकल यह व्हील हब में लगी होती है कार के आगे वाले व्हील इस नुकल में ही लगे होते है इस नुकल में व्हील बेअरिंग भी होता है जिसकी मदत से पहिया घूमता है

नुकल में तीन पहलु होते है जो अलग अलग जगह लगी होती है पहला नुकल शोकर में दो बोल्ड की मदत से जुडी होती है दूसरा नुकल चेसी में लगे चिमटे से एक बोल्ड की मदत से जुडी होती है

उसके बाद तीसरा नुकल स्टेअरिंग के वाल्व जॉइंट से जुडी होती है जब हम स्टेअरिंग घुमाते है तो वाल्व जॉइंट की मदत से नुकल भी घुमती है और नुकल में पहिया लगा होता है और पहिया भी घूमता है

.  चिमटे

चिमटे चेसी में लगे होते है एक चेसी में दो चिमटे लगे होते है यह दोनों चिमटे एक तरफ चेसी से जुड़े होते है और एक तरफ नुकल से जुड़े होते है और इन दोनों चिमटे में बुश लगे होते है

एक चिमटे में दो बुश लगे होते है और एक गोली चिमटे का बुश वाला हिसा चेसी में लगा होता है और गोली वाला हिसा नुकल में लगा होता है जिसे नुकल दोनों तरफ घुमती है Suspension system खराब होने पर इन बुश को बदला जाता है

.   शोकर

शोकर Suspension system का मुख्या भाग होता है कार में लगने वाले सभी झटको को शोकर ही रोकता है जिसके कारण हम आसानी से कार को ड्राइव कर सकते है

शोकर हाईडॉलिक होता है जो आयल के प्रेसर से काम करता है शोकर एक साइड कार की बॉडी में लगा होता है और एक साइड नुकल के उपर वाले हिसे में लगा होता है

शोकर के कारण ही कार सीधी रहती है और कार के ब्रेक लगाने पर निचे नहीं झुकती है कार को ब्रेक लगाने पर जब कार जम्प करती है तो वह शोकर के कारण ही करती है

.   इंजन माउंट

इंजन माउंट इसका इस्तेमाल इंजन को रोकने के लिए किया जाता है हर कार के इंजन में तीन या चार माउंट लगे होते है जो रबर के होते है दो माउंट इंजन के उपर लगे होते है

और एक माउंट इंजन के निचे लगा होता है जो इंजन को आगे पीछे हिलने से रोकता है और यह निचे वाला माउंट चेसी से जुड़ा होता है जब हम क्लच छोड़ते है तो हमें झटका ना लगे उसके लिए यह माउंट लगा होता है

.   स्प्रिंग

यह शोकर में लगा होता है किसी भी कार के शोकर के लिए यह स्प्रिंग बहुत जादा जरुरी होते है सभी कार में चार स्प्रिंग लगे होते है और यह स्टील के बने होते है और यह जल्दी से टूटते भी नहीं है

स्प्रिंग का शोकर के लिए जरुरी काम यह होता है की यह शोकर को अपनी जगह पर लाने के लिए मदत करता है जब हम ब्रेक लगाते है तो शोकर दबते है परन्तु शोकर को उपर आने के लिए जादा पॉवर की जरूरत होती है इसलिए स्प्रिंग का इस्तेमाल किया जाता है

.   बैलेंस रोड

जैसा की आपको नाम से ही लग रहा है बैलेंस रोड इसका सीधा मतलब है कार में दोनों पहिए के बैलेंस को बनाए रखना जिसे कार इधर उधर ना जाए और सही प्रकार से चले

बैलेंस रोड कार की चेसी में लगी होती है और इसमें दो बुश लगे होते है और यह बैलेंस रोड शोकर से जुडी होती है जब शोकर काम करते है तो यह बैलेंस रोड भी काम करती है

मान लीजिए कार का एक पहिया खड़े में है और दूसरा प्लेन पर तो यह बैलेंस रोड इन दोनों पहिए के बैलेंस को बनाती है और उपर और निचे काम करती है ताकि कार को कोई समस्या न हो चलने में

.   बैलेंस रोड बुश

बैलेंस रोड बुश यह रबर के होते है और यह बैलेंस रोड में लगे होते है जिसे बैलेंस रोड उपर निचे काम करती है इस बैलेंस रोड बुश का मुख्या कार्य है बैलेंस रोड को रोकना और साउंड करने से बचाना

अगर यह बुश कट जाते है या खराब हो जाते है तो कार के चलते समय बहुत जादा साउंड की समस्या उत्पन हो जाती है जिसके कारण बुश बदलने पड़ते है

.   स्टेअरिंग रैंक

Suspension system का सबसे महत्वपूर्ण पार्ट होता है स्टेअरिंग बिना स्टेअरिंग के हम कार को चला नहीं सकते है स्टेअरिंग में बेअरिंग , और रैंक बुश डम्पर लगे होते है

स्टेअरिंग में वाल्व जॉइंट और टायर एंड लगे होते है जो नुकल में लगा होता है जब हम स्टेअरिंग घुमाते है तो नुकल में लगे वाल्व जॉइंट भी घूमते है जिसे नुकल भी घुमती है और पहिए भी घूमते है

.  वाल जॉइंट

वाल्व जॉइंट स्टेअरिंग के दोनों तरफ लगे होते है और यह एक तरफ टायर एंड में लगा होता है इसमें टायर एंड की तरफ बहुत साड़ी चुडिया बनी होती है जिसे अलायनमेंट की जाती है

.   चिमटा गोली

यह चिमटे में लगी होती है और यह गोली नुकल के अन्दर बोल्ड की मदत से लगी होती है इस गोली की मदत से ही नुकल घुमती है और पहिए घुमती है

यह गोली तब ख़राब होती है जब यह कट जाती है जब इस गोली में प्ले होने के कारण यह आवाज करने लगती है जिसे आपको Suspension system से आवाज आने की समस्या होती है

.   एक्सेल

एक्सेल यह गोल और लम्बे होते है एक्सेल एक साइड गियरबॉक्स में लगा होता है और एक्साइड नुकल में लगा होता है जब हम गियर डालते है तो एक्सेल घूमते है

जिसे पहिए घूमते है जिसके कारण कार चलती है एक्सेल गियरबॉक्स के दोनों तरफ लगा होता है अगर एक साइड का एक्सेल ख़राब हो जाता है तो कार चलना बंद कर देती है

.   केलिपर

केलिपर का इस्तेमाल ब्रेक को लगाने के लिए किया जाता है केलिपर में दो पिन लगी होती है और यह अन्दर बहार होती है ब्रेक मारने पर जब हम ब्रेक लगाते है तो केलिपर काम करती है और ब्रेक पैड रूटर से चिपक जाते है

.   रूटर

रूटर का इस्तेमाल ब्रेक के लिए किया जाता है यह रूटर दोनों तरफ नुकल में लगे होते है और यह प्लेन होते है इन रूटर के उपर कलिपर लगे होते है

और इस कलिपर में ब्रेक पैड लगे होते है जब हम ब्रेक लगाते है तो ब्रेक पैड रूटर से चिपक जाते है और कार रुक जाती है रूटर के खराब होने पर वाईब्रेसन की समस्या होती है

.   आई रोड

आई रोड यह बैलेंस रोड से जुडी होती है आई रोड का एक हिसा शोकर से जुड़ा होता है और दूसरा हिसा बैलेंस रोड से जुदा होता है आई रोड के दोनों तरफ बोल्ड लगे होते है

आई रोड झटके को रोकने का काम करते है अगर आई रोड टूट जाती है तो कार का वजन शोकर पर आ जाता है जिसके कारण कार निचे की तरफ झुक जाती है

यह भी पढ़े :-   symptoms of bad motorcycle fuel pump-ख़राब फ्यूल पंप के कारण फॉर बाइक

Suspension system के फायदे 

Suspension system कार में होने से आपको बहुत जादा फायदा होता है Suspension system के कारण ही आपकी कार चलती है और आप आराम से हजरों किलोमीटर का सफर आसानी से कर लेते है Suspension system के फायदे इस प्रकार है –

.   Suspension system से आपको कार में झटका महसूस नहीं होता है

.   Suspension system के कारण आप हजारो किलोमीटर का सफर आसानी से कर लेते है

.    Suspension system के कारण आपकी कार में लगे पार्ट खराब व् ढीले नहीं होते है

.   Suspension system के होने के कारण किसी भी पार्ट के खराब होने का खतरा कम होता है

.    Suspension system के कारण कार को अछि मजबूती प्रदान होती है

.    Suspension system के कारण कार चलाने वाले ड्राईवर की पूरी शुरक्षा होती है

.   Suspension system के कारण कार का बैलेंस सही बना रहता है

.   Suspension system के कारण ब्रेक सिस्टम सही प्रकार से काम करता है

.    Suspension system के कारण अलायनमेंट सही रहती है

.  Suspension system के कारण कार में झटका लगने की समस्या नहीं रहती है

Suspension system को कैसे चेक करे और फिट करे 

Suspension system में बहुत कुछ लगा होता है और सभी पार्ट के खराब होने पर अलग अलग प्रकार की साउंड प्रोब्लम होती है क्युकी Suspension system खराब होने पर एक जैसी आवाज  नहीं आती है

अगर आपकी कार में  स्टेअरिंग को मोड़ने पर कट कट की आवाज आ रही है तो इसका मतलब है की एक्सेल में समस्या है आपकी कार के एक्सेल खराब हो गए है

और अगर सिर्फ खड़े में जाने से कार में आवाज आ रही है तो वह आवाज शोकर की है परन्तु एक बात का ध्यान रखना की जिस साइड का शोकर खराब होगा उस साइड से ही आवाज आने की समस्या होगी

उसके बाद अगर प्लेन रोड पर चलकर ही कार में साउंड की समस्या हो रही है तो इसका मतलब है की आपके कार के लेकिपर खराब हो गए है वह रिपेयर करवाने पड़ेगे

अगर आपको क्लच छोड़ते हुए झटका महसूस हो रहा है तो इसका मतलब है की आपकी कार के इंजन के माउंट खराब हो गए है जिसके कारण झटके की समस्या हो रही है

अगर आपकी कार की आई रोड या बैलेंस रोड के बुश कट गए है तो आपको लगातार ही साउंड सुने को मिलगा उसके लिए आपको दोनों पार्ट को बदलना होगा

आपने देखा की Suspension system में अलग अलग प्रकार से साउंड की समस्या होती है Suspension system की समस्या को कैसे सही कर सकते है

अगर आपके Suspension system में चिमटे में या नुकल में कोई समस्या होती है तो वह समस्या आपकी बाहर से ही सही हो जाएगी परन्तु अगर स्टेअरिंग में समस्या है

या फिर बैलेंस रोड में समस्या है तो आपको पूरी चेसी को खोलना होगा तभी स्टेअरिंग और बैलेंस रोड के बुश खुलेगे और आप उन्हें बदल पाएगे Suspension system की समस्या होने पर अलग अलग प्रकार से सही की जाती है

यह भी पढ़े :-   कितने किलोमीटर की दूरी मैं बाइक में इंजन के तेल बदलना चाहिए

Leave a Comment