BAJAJ PULSAR STARTING PROBLEM और  AUTO CHOCK PROBLEM- bajaj pulsar स्पोर्ट्स बाइक में बहुत अछि है और बहुत से लोग bajaj pulsar बाइक लेना पसंद करते है आपको bajaj pulsar अलग अलग cc के इंजन में मिल जाएगी और पिकप के मामले में भी bajaj pulsar का मुकाबला नहीं है

जब बाइक नई होती है तो कम से कम पाँच साल तक कोई समस्या उत्पन नहीं होती है फिर चाहे सर्दी हो या गर्मी हो कोई समस्या उत्पन नहीं होती है परन्तु बाइक पुरानी होने के बाद बहुत सी समस्या बाइक में होने लगती है जैसे

आज हम bajaj pulsar की starting problem के बारे में बात करेगे वेसे तो bajaj pulsar में बहुत से कारणों से starting problem होती है परन्तु आज हम bajaj pulsar की sensor के कारण उत्पन हुई starting प्रॉब्लम के बारे में बात करेगे

जैसा की आपको पता ही होगा की सभी बाइक में चोक लगी होती है जो बाइक को स्टार्ट करने में मदत कराती है परन्तु क्या आपको पता है की यही चोक starting का कारण बनती है पहले जानते है बाइक में चोक का मतलब क्या है

what is chock-बाइक मैं चोक का क्या काम है 

चोक का इस्तेमाल सभी बाइक में बाइक को स्टार्ट करने के लिए किया जाता है , चोक का इस्तेमाल जादा सर्दी के मोश्म में किया जाता है क्युकी उस समय इंजन बहुत ठंडा होता है

इंजन को स्टार्ट करने के लिए फ्यूल और एयर की आवश्यकता होती है और यह रेशो कंपनी फिक्स रखती है जैसे अगर 40 % फ्यूल की मात्रा होगी तो 60 % एयर की मात्रा होगी तब बाइक स्टार्ट होती है

परन्तु सर्दी के मोश्म में बाइक स्टार्ट नहीं होती और चोक का इस्तेमाल होता है जब हम चोक लगाते है तो वह एयर की सप्लाई को रोक देता है इंजन में जाने से जिसके कारण फ्यूल की जादा मात्रा इंजन में जाती है

और बाइक स्टार्ट हो जाती है क्युकी चोक लगने के कारण इंजन को फ्यूल जादा मिलता है और जब बाइक स्टार्ट हो जाती है तो हम चोक हटा लेते है और इंजन में फ्यूल के साथ बराबर मात्रा में एयर जाने लगती है

चोक का कार्य है इंजन को एयर की सप्लाई कम करवाना और फ्यूल की सप्लाई जादा करवाना ताकि सर्दी में भी बाइक आसानी से स्टार्ट हो जाए परन्तु अगर बाइक स्टार्ट होने के बाद भी चोक लगी रह जाए

तो क्या होगा , अगर बाइक स्टार्ट होने के बाद भी चोक लगी रहती है तो बाइक में starting problem होगी फ्यूल की खपत जादा होगी प्लग शॉट हो जाएगा , अब जानते है bajaj pulsar में चोक के कारण कैसे समस्या होती है

bajaj pulsar starting problem ( auto chock problem  ) 

सभी बाइक में चोक होती है और उसे हम खुद लगा के हटा सकते है परन्तु  bajaj pulsar में एसा नहीं होता है उसमे auto chock system होता है जो एक sensor होता है , काम इसका एक जैसा ही है

जब सर्दी के मोश्म में  bajaj pulsar को स्टार्ट करते है तो यह auto chock sensor खुद ही ओन हो जाता है और एयर की मात्रा को इंजन में जाने नहीं देता है और बाइक स्टार्ट होने के बाद खुद ही auto chock sensor बंद हो जाता है

परन्तु कई बार auto chock sensor खराब हो जाता है जिसके कारण bajaj pulsar बाइक में starting problem हो जाती है क्युकी यह सेंसर बाइक स्टार्ट होने के बाद भी बंद नहीं होता है और chock लगी रहती है

जिसके कारण मिसिंग की problem , माइलेज की समस्या और प्लग शोर्ट की समस्या उत्पन हो जाती है , auto chock sensor में एक पीतल की पिन होती है जो अन्दर बाहर होती रहती है और chock काम करती है

परन्तु जब यह पिन खराब हो जाती है तो यह अन्दर बाहर होनी बंद हो जाती है जिसे या तो chock लगी रह जाती है या chock लगती ही नहीं है और bajaj pulsar में starting problem होती है

auto chock sensor को चेक करने का तरीका 

आप आसान तरीके से auto chock sensor को चेक कर सकते है ठीक है या खराब जानिये कैसे , auto chock sensor एक तार का होता है

( I )  सबसे पहले आपको बाइक की एक बैटरी लेनी है |

( II )   उसके बाद आपको तार का एक टुकड़ा लेना है |

( III )  अब आपको auto chock sensor को बैटरी के नेगेटिव ( – ) टर्मिनल में टच करना है |

( IV )  और उसके बाद auto chock sensor की मेन तार को बैटरी के पोजिटिव ( + ) में लगाना है |

( V )  अब आपको auto chock sensor की पिन को चेक करना है अन्दर बाहर हो रही है या नहीं अगर बैटरी में लगाने के बाद भी सेंसर की पिन अन्दर बाहर नहीं हो रही तो इसका मतलब है सेंसर ख़राब है

bajaj pulsar में auto chock खराब होने के बाद क्या समस्या आती है 

auto chock खराब होने के कारण bajaj pulsar में कई समस्या उत्पन होती है जो इस प्रकार है –

( I )  माइलेज की समस्या

जब auto chock sensor खराब होता है तो माइलेज की समस्या उत्पन होती है क्युकी chock लगी रहती है एयर की मात्रा बंद हो जाती है और फ्यूल की मात्रा इंजन में जादा जाती है और माइलेज कम हो जाती है

( II )  मिसिंग की समस्या

auto chock खराब होने के कारण मिसिंग की समस्या होना आम बात है क्युकी चोक लगी रहने के कारण इंजन में सिर्फ फ्यूल की सप्लाई होती है जिसके कारण इंजन में एयर ना जाने के कारण मिसिंग की समस्या होती है

( III ) स्टार्ट ना होने की समस्या

सभी को पता है की सर्दी में बाइक को स्टार्ट करने के लिए auto chock या simple chock की आवश्यकता होती है परन्तु अगर chock खराब होने के कारण इंजन में फ्यूल और एयर की मात्रा बराबर जाती है

और इंजन ठंडा होने के कारण bajaj pulsar स्टार्ट नहीं होती है , एसा नहीं है की बिना chock लगाए बाइक स्टार्ट नहीं होती , जब आप किक लगाते रहते है या सेल्फ मारते रहते है और इंजन गर्म हो जाता है

और बिना chock लगाए ही बाइक स्टार्ट हो जाती है बस परेशानी जादा होती है , एक बात का ध्यान रखे की chock लगाने के बाद वापिस हटा दे अगर auto chock system है तो चेक करवाए 

( IV ) प्लग शोर्ट होने की समस्या 

 

प्लग शोर्ट होने की समस्या 

जब भी bajaj pulsar में auto chock ख़राब होती है तो प्लग शोर्ट होने की समस्या हो जाती है क्युकी chock लगी रहने के कारण इंजन में जादा फ्यूल की सप्लाई होती है 

और यह फ्यूल प्लग में जाता है और प्लग फायर भी करता है जिसके कारण प्लग शोर्ट हो जाता है और बार बार होता है इसलिए auto chock का सही होना बहुत जरुरी होता है 

कार मोटरसाइकिल क्लच प्लेट खराब होने के कारण और लक्षण | car bike bad clutch plate symptoms in hindi

जानिये कुछ सवालों के जवाब 

Q . क्या auto chock sensor सभी बाइक में लगा होता है ?

ans . नहीं सिर्फ बड़ी बाइक में auto chock sensor का इस्तेमाल किया जा रहा है सभी छोटी बाइक में manual chock दी गयी है , परन्तु आने वाली बाइक में auto chock का इस्तेमाल किया जा सकता है |

Q . auto chock sensor कितनी वायर का होता है ?

ans . auto chock sensor जो bajaj pulsar में लगा होता है वह एक वायर का sensor होता है |

Q . auto chock खराब होने से होने वाली समस्या क्या होती है ?

ans . माइलेज की समस्या , प्लग शोर्ट होने की समस्या , मिसिंग की समस्या , बाइक स्टार्ट ना होने की समस्या उत्पन हो जाती है |

Q . क्या auto chock की आवश्यकता गर्मी के मोश्म में भी होती है ?

ans . हां auto chock सभी मोश्म में काम करता है जब भी बाइक स्टार्ट नहीं होती है तो auto chock sensor ऑन हो जाता है और दूसरी बाइक में हमें chock को खुद ऑन करना पड़ता है |