R43 homeopathic medicine का इस्तेमाल मुख्या रूप से दमा को ठीक करने के लिए किया जाता है अगर आपको दमा की समस्या है तो आप R43 medicine का सेवन कर सकते है

जब आपको साँस बहुत तेजी से आने लगते है उस समस्या को ही दमा कहते है और दमा को इंग्लिश में Asthama कहते है जब साँस लेने के रास्ते में समस्या होती है तो यह बीमारी होती है

दमा की समस्या में कफ बहुत अधिक आता है दमा सबसे ज्यादा रात को 12 बजे के बाद और सुबह 4 से पहले बढ़ जाता है और थोडा चलने पर ही साँस की समस्या बढ़ जाती है

देखा गया है की जब मरीज को दमा की समस्या ज्यादा होती है तो मरीज का पेट भरा हुआ लगता है और गर्म पानी पिने से , गर्म वातावरण में रहने से आराम मिलता है

दमा लम्बे समय तक चलने वाली बिमारी है जिसके कारण आपके गले के अंदर साँस नलि में इन्फ्लेमेशन के कारण सुजन आ जाती है और साँस लेने में सिटी जैसी आवाज आने लगती है

दमा के बहुत से कारण होते है जैसे अगर आपके माँ या बाप को दमा है या था तो आपको हो सकता है , खराब वातावरण के कारण ,स्मोक करने के कारण , शरीर में खून की कमी होने के कारण टी.बी के कारण आदि

अगर आपको दमा की समस्या है तो आप R43 medicine का सेवन कर सकते है यह homeopathic medicine बहुत लाभकारी है जानते है R43 medicine के बारे में

R43 medicine क्या है – what is R43 homeopathic medicine in hindi

R43 homeopathic medicine uses in hindi

R43 medicine जर्मन का एक ब्रांड है और यह सीधा इंडिया में आता है R43 medicine Dr.reckeweg की homeopathic medicine है और R43 medicine को Herbamine – Asthma drops के नाम से भी जाना जाता है इसका प्राइस है 240 रूपये

R43 medicine के अंदर अलग अलग homeopathic medicine मिली हुई है जैसे Arsenicum album , Carbo vegetabilis , Belladonna , Kali phosphoricum , Natrum sulphuricum . इन सभी medicine के बारे में निचे देखने को मिल जाएगा

R43 medicine का इस्तेमाल कैसे करे – R43 homeopathic medicine uses in hindi

R43 medicine का इस्तेमाल उम्र , लिंग , कोई नई या पुरानी बिमारी को ध्यान में रखकर किया जाता है ताकि आने वाले समय में आपको समस्या न हो

जब भी आप R43 medicine लेने के लिए जाए तो अपनी सही उम्र , बीमारी , कितनी पुरानी बिमारी है , सभी लक्षणों के बारे में बताए इसे आपको फायदा मिलेगा और सही मेडिसिन मिलेगी

आपको 10ml पानी लेना है और उसमे R43 medicine की 10 से 15 ड्राप को डालना है और उसका सेवन करना है आपको दिन में 3 बार R43 medicine को लेना है हर बार में 10 से 15 ड्राप

एक बात का ध्यान रहे की आपको R43 medicine को खाना खाने के आधे या एक घंटे पहले लेना है और अगर समस्या कम है तो दिन में 2 बार ले समस्या ज्यादा है तो 3 बार ले

इसकी डोस आपकी समस्या पर भी निर्भर करती है और इसका इस्तेमाल लगातार 4 से 6 महीने करे इसे आपको बहुत ज्यादा फायदा होगा और आराम मिलेगा

(1) . R43 medicine का सेवन करे

बिमारी दमा
मात्रा 10 से 15 ड्राप
दिन में कितनी बार ले दिन में 3 बार ले
खाना खाने के बाद या पहले खाना खाने से आधे या एक घंटे पहले ले
किसके साथ ले 10 ml पानी के साथ या एक चमच पानी के साथ
सलाह डॉक्टर की सलाह अनिवार्य है
R43 medicine की डोस को समस्या के अनुसार कम ज्यादा कर सकते है

R43 medicine के फायदे – Benefits of R43 medicine in hindi

R43 medicine के फायदे इस प्रकार है जिसके बारे में आपको निचे देखने को मिल जाएगा जो इस प्रकार है

(1) . दमा के लिए लाभकारी है

अगर आपको दमा की समस्या है साँस फूलने की समस्या है तो आपको R43 medicine का इस्तेमाल करना चाहिए इसके लगातार इस्तेमाल से दमा में बहुत फायदा मिलता है

(2) . ब्रोंकाइटिस के लिए लाभकारी है

ब्रोंकाइटिस की समस्या फेफड़ो की साँस नली में सुजन होने के कारण होती है और बलगम भर जाती है जिसके कारण खांसी की समस्या होती है इसके लिए आप ब्रोंकाइटिस में भी R43 medicine का सेवन कर सकते है

अगर आप R43 medicine का लगातार इस्तेमाल करते है तो आपको बहुत फायदा होगा इसलिए इसे बीच में न छोड़े

R43 medicine के दुष्प्रभाव – Side effects of R43 medicine in hindi

R43 medicine का सेवन दमा की समस्या में किया जाता है और यह बहुत लाभकारी मेडिसिन है और R43 medicine का हमारे शरीर पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है

परन्तु आपको हमेशा R43 medicine को सही मात्रा में सही समय पर लेना चाहिए और इसे लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरुर लेनी चाहिए

R43 medicine की सावधानियाँ – Precautions of R43 medicine in hindi

R43 medicine के सेवन से पहले या लेते समय कुछ बातो का ध्यान रखना चाहिए जिसके बारे में आपको निचे देखने को मिल जाएगा जो इस प्रकार है

(1) . डॉक्टर की सलाह ले

R43 medicine को दमा में आप आसानी से ले सकते है बस आपको R43 medicine को लेने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह लेनी है

(2) . शराब का सेवन न करे

R43 medicine का अगर आप सेवन कर रहे है या करना चाहते है तो आपको शराब का सेवन नहीं करना है इसे R43 medicine का असर खत्म हो सकता है

(3) . खराब वातावरण में न रहे

आपको दमा की समस्या में हमेशा ही खराब वातावरण से दूर रहना चाहिए ज्यादा धुल और धुंए वाली जगह पर ज्यादा देर तक न रुके और मास्क का इस्तेमाल करे

(4) . चाय कॉफ़ी का सेवन न करे

R43 medicine को अलग आप ले रहे है तो आपको R43 medicine लेने के आधे या एक घंटे पहले या बाद में चाय कॉफ़ी का सेवन नहीं करना है इसे medicine का असर कम हो जाता है

(5) . मांस का सेवन न करे

जब तक आप R43 medicine का सेवन कर रहे है या करने वाले है तो आपको मांस का सेवन नहीं करना है इसे R43 medicine असर नहीं करती है

(6) . प्रेगनेंसी के दोरान डॉक्टर की सलाह ले

अगर प्रेगनेंसी के दोरान आपको दमा की समस्या हो जताई है तो आपको R43 medicine के सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह लेनी है

(7) . exp date को जरुर चेक करे

R43 medicine को लेने से पहले आपको exp date को जरुर चेक करना है क्युकी कई बार exp date निकली होती है इसलिए R43 medicine को चेक करके ले

अगर आप R43 medicine का सेवन कर रहे है तो उपर बताई गई बातो का ध्यान जरुर रखे

R43 medicine की सामग्री – ingredients of R43 medicine in hindi

R43 medicine के अंदर अलग अलग बहुत सी homeopathic medicine मिली हुई है जिसके बारे में निचे देखने को मिल जाएगा

(1) . आर्सेनिक एल्बम (Arsenicum album)

आर्सेनिक एल्बम दमा के लिए बहुत लाभकारी है अगर आपको प्यास लगती है बार बार और जलन भी होती है तो उस समय में आर्सेनिक एल्बम दी जाती है दमा में

(2) . कार्बो वेज (Carbo vegetabilis)

अगर साँस लेने में आपको समस्या होती है साँस फूलने लगते है थकान महसूस होती है तो कार्बो वेज बहुत लाभकारी है और दी जाती है

(3) . बेलाडोना (Belladonna)

अगर आपके लंग्स में अधिक कफ बनता है सुजन हो जाती है साँस लेने में समस्या होने लगती है तो बेलाडोना बहुत लाभकारी है और अच्छा असर दिखाती है

(4) . काली फास्फोरिकम (Kali phosphoricum)

अगर दमा के अनुसार आपको दिमागी थकान अधिक होती है आप थका थका सा महसूस करते है तो काली फास्फोरिकम अच्छा असर दिखाती है

(5) . नैट्रम सल्फ्यूरिकम ( Natrum sulphuricum)

अगर दमा के दोरान आपको पीले रंग का कफ अधिक आता है तो उसके लिए नैट्रम सल्फ्यूरिकम दी जाती है यह बहुत अच्छा असर दिखाती है

यह सभी homeopathic medicine R43 medicine में मिली हुई है जिसके कारण R43 medicine का असर ज्यादा हो जाता है और आप इन सभी medicine को अलग से भी ले सकते है

R43 medicine को कैसे रखे – How to store R43 medicine in hindi

आप R43 medicine को सामान्य तापमान में रख सकते है उसके लिए आप R43 medicine को अपने कमरे के सामान्य तापमान में रख सकते है

एक बात का ध्यान रखना है की आपको R43 medicine को ज्यादा गर्म व ज्यादा ठंडी जगह पर नहीं रखना है इसे medicine का असर कम हो सकता है

दमा में क्या नहीं खाना है

दमा की समस्या में आपको कुछ चीजो का सेवन नहीं करना है जैसे

(1) . दही का सेवन नहीं करना है

(2) . खट्टे प्रदार्थ का सेवन नहीं करना है

(3) . फ्रीज़ में रखे पानी या खाद्य प्रदार्थ का सेवन नहीं करना है

(4) . रात में चावल का सेवन नहीं करना है

निष्कर्ष

आशा करते है की आपको R43 homeopathic medicine के बारे में पता चल गया होगा और अब आप इसका इस्तेमाल दमा की समस्या में जरुर करेगे और साथ ही सभी बातो का ध्यान रखेगे साथ ही एक बात का ध्यान जरुर रखे की आप खान पान का बहुत ध्यान रखे उपर बताए गए खाद्य प्रदार्थ से परहेज करना है क्युकी medicine के साथ साथ खान पान में परहेज से भी फायदा होता है

related topic

दमा क्या है कारण लक्ष्ण उपचार और औषधियां

लंग्स इन्फेक्शन में क्या खाना चाहिए और क्यों खाना चाहिए

जानिए कुछ सवालों के जवाब

Q . R43 medicine का इस्तेमाल कितने दिनों तक करना चाहिए ?

ans . आप R43 medicine का इस्तेमाल 4 से 5 महीने कर सकते है इसे आपको बहुत ज्यादा फायदा होगा और आराम मिलेगा |

Q . क्या R43 medicine को प्रेगनेंसी में ले सकते है ?

ans . प्रेगनेंसी के दोरान R43 medicine के सेवन से पहले आपको एक बार डॉक्टर की सलाह जरुर लेनी है |

डिस्क्लेमर – जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर प्रकार से प्रयाश  किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी thedkz.com की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है

Categorized in: