car overheating problem 7 कार गर्म होने के कारण

हेल्लो दोस्तों आज हम कार की ऐसी प्रोब्लम के बारे में आपसे बात करेगे ,जो प्रोब्लम 90 % करो में होती ही है एक न एक बार | यह प्रोब्लम है कार गर्म होने के कारण की है | और यह प्रोब्लम सबसे जायदा तब देखने को मिलती है जब कार को long drive पर ले जाया जाता है ,जैसे  highway पे जायदा कार overheat होती है | पर इसे बड़ा सव्वाल यह है की का car overheat हुई किस कारण से |

कार गर्म होने के कारण  हो सकते है , छोटे भी और बड़े भी पर कई केस में यह अपनी लापरवाही का भी नतीजा होता है |

कार का इंजन ऐसा  होता है जिसे चलने के बाद ठन्डे होने की जरूरत होती है , जो टाइम to टाइम आटोमेटिक ठंडा होता रहता है जिसे इंजन का temperature कण्ट्रोल रहता है | और इंजन को ठंडा water/coolant करता है | जब इंजन work करता है तो water भी सभी पाइप और ब्लाक में work करता है water के heat होते है temperature sensor को सिग्नल मिल जाता है water heat हो गया है तो यह sensor फेन on करता है जिसे इंजन ठंडा होता है | और ऐसा आटोमेटिक होता रहता है |

आप मान लीजिये अगर इंजन के किसी भी पाइप , ब्लाक , रेडिअटर में water होगा ही नहीं तो क्या होगा  , इस conduction में आपकी car overheat होगी| और यही पर आप लापरवाही करते हो 100 % में से 50 % लोग car लेके  जाने से पहले कभी water का लेवेल चेक नहीं करते और यही सबसे बड़ी लापरवाही होती है , इसलिए जब भी आप long drive पर निकले तो water और oil चेक करके ही निकले |

7 car overheating problem कार गर्म होने के कारण

car overheating reasons कार गर्म होने के कारण

अब बात करते है क्यों होती है car overheat |

1 . water body

water body एक तरह की मोटर होती है जो टाइमिंग साइड लगी होती है , और यह फेन बेल्ट की मदत से घुमती है और water को आगे सप्लाई करती है | water body के बाहर वाली साइड एक गोल गरारी जैसा  होता है और अन्दर पंखे जैसा  होता है , जब इंजन घूमता है तो बेल्ट के साथ water body घुमती है , अगर water body न घुमे तो car overheat  होती है , इसके अन्दर वाला हिसा जो पंखे जैसा  होता है वह जायदा खराब होता है

,या तो वो अन्दर से टूट जाता है या जाम हो जाता है जिसे water सप्लाई नहीं होता और car overheat  होती है | यह ज्यदा  खराब होता है कुलेंट की जगह water का इस्तेमाल करने से |

बिना खोले केसे पता करे water body खराब है या नहीं :-

आप बिना water body खोले पता कर सकते है यह खराब है या सही , इसके लिए आपको कुलेंट बोतल में एक बारीक पाइप लगा होता है उसको निकालना है बोतल से फिर कार स्टार्ट करनी है और race देनी है अगर उस पाइप से water बाहर निकला तो समझ जाना body सही है ,

अगर पानी नहीं निकला तो water body खराब है और यह जाम है या टूट चुकी है |  water body खराब होने से कार कुछ दूर चलकर ही हिट हो जाती है , और फिर नार्मल हो जाती है | अगर आपकी कार कुछ दूर चलकर ही हिट हो रही है तो water body जरुर चेक करवाए |

2 . हीटर कवेल

यह कार के ac व् हीटर के लिए dashboard में लगी होती है और इसके साथ water attach होता है इसमें दो पाइप लगे होते है जो इंजन के water पाइप के साथ जुड़े होते है | इसकी वजह से हो ac वर्क करता है | इस कवेल के जाम होने से भी car overheat  होती है अगर इन दोनों पाइप में से एक भी चोक होता है तो water रुक जाता है

जिसे car overheat  होती है | इसको चेक करने के लिए आपको हीटर का कनेक्सन ख़तम करना पड़ेगा इसमें जो दो पाइप लगे होते है उनको निकाल देना है और इंजन के पाइप के साथ ही attach करना पड़ता है |अगर हीटर कवेल का कनेक्सन ख़तम होने के बाद car overheat न हो तो समझ जाइए कवेल खराब हो चुकी है |

3 . fan

fan बहुत जरुरी होता है कार के इंजन के लिए , यह लगा होता है रेडिअटर के साथ में और यह इंजन के हिट होने पर आटोमेटिक on हो जाता है | पर जब यह on नही होता तब आपकी कार car overheat होती है |

90 % car overheat फेन on न होने के वजह से होती है | फेन on न होने के बहुत से कारण हो सकते है ,  फ्यूज , temperature switch , फेन मोटर  , वायर ग्रिप का जल जाना , इन सब कारण से फेन बंद हों सकता है | और car overheat हो जाती है , फेन बंद होने के बाद अगर आप कार ज्यदा चला लेते है तो इंजन सीज हो सकता है |

4 . रेडिअटर चोक

यह भी एक कारण होता है car overheat का क्युकी water का सिस्टम रेडिअटर से ही चलता है , रेडिअटर में water भरा हुआ होता है और इसका एक पाइप oil कूलर और दूसरा पाइप अल्बो में लगा होता है और इन्ही पाइप से water सप्लाई होता है |

अगर रेडिअटर चोक हो जाता है तो इन पाइप में से water की सप्लाई रुक जाती है  जिसे car overheat होती है | लेकिन जब आप रेडिअटर का water चेक करेगे तो आपको water ठंडा ही मिलेगा | पर car overheat हो जाएगी रेडिअटर चोक होने के बाद |

5 . पाइप

long drive पर पाइप फटने की समस्या जायदा आती है जिसके वजह से car overheat होती है | यह प्रोब्लम कार को लगातार चलाने से होती है जब आप कार को 60 या 70 किलोमीटर चला लेते है ,लेकिन आप कार को रोकते ही नहीं है न कार को रेस्ट देते है जिसे कार लगातार चलने की वजह से इंजन जायदा हिट होता है

और कोई न कोई पाइप फट जाता है और water लीक हो जाता है और car overheat हो जाती है | इसलिए अगर long drive पर जाए तो खुद को और कार को 10 या 15 मिनट का रेस्ट जरुर दे | इसे आपका भी फायदा होगा और कार का भी |

6 . थर्मास्टेट वाल

थर्मोस्टेट वाल अल्बो के अन्दर लगा होता है और एल्बो head में लगी होती है , 50 % कार इसके खराब होने से  overheat होती है | इसके खराब होने से gasket फटने का भी खतरा होता है | यह गोल आक्रार का होता है और इसके दोनों साइड पानी होता है ,

जब इंजन हिट होता है तो water भी हिट होता है तो temperature sensor ecu को बता देता है की water हिट हो गया है और ecm थर्मोस्टेट वाल को खोलता है जेसे हि यह वाल खुलता है तो हिट water है वह रेडिअटर में आता है और फेन on होता है | पर जब यह वाल नहीं खुलता या खराब हो जाता है  तो water हिट होने के बाद भी वाल नहीं खुलता न फेन on होता है जिसके कारण car overheat होती है |

7 . head gasket

head gasket  यह इंजन में लगा होता है और यह जल्दी खराब नहीं होता और जब यह खराब होता है तो आपकी कार कुछ दूर चलते है car overheat होने लग जाती है , और यह खराब है इसका पता करने का एक तरीका है आपको कुलेंट बोतल का कैप खोलना है ध्यान से वह गरम भी हो सकता है कई कार में यह कैप रेडिअटर में होती है

head gasket 

और कुछ कारो में कुलेंट की अलग से बोतल होती है ,जब आप इसकी कैप खोल लेगे तो आपको थोडा दूर रहना है , आपको कार स्टार्ट करनी है , अगर कार स्टार्ट करने पर इस बोतल या रेडिअटर से पानी बाहर फेक रही है तो समझ जाइए head gasket  फट गया है | अगर स्टार्ट करने पर भी पानी सांत है तो gasket  ठीक है | इसके खराब होने से भी car overheat होती है |

ये कुछ कारण है जिनकी वजह से car overheat होती है |

Leave a Comment