R62 homeopathic medicine का इस्तेमाल inflelamation of mucus membranes की समस्या के लिए किया जाता है inflelamation की समस्या के लिए यह बहुत लाभकारी है

mucus membran के बारे में सायद ही आपने सुना होगा यह हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है हमारे mucus membran से mucus निकलता है अगर आप अपने होठों के पीछे ऊँगली को लगाएगे तो आपको एक लिक्विड जैसा महसूस होगा उसे mucus कहते है

mucus हमारे शरीर के खुले भागो में होता है जैस मुहँ , कान , नाक , गुदा द्वार , आँख में होता है और इसका मुख्या कारण हमें बेक्टीरिया और वायसर से बचाना है जैसे ही बेक्टीरिया और वायसर हमारे शरीर में प्रवेश करते है तो mucus उसे रोक देता है और खत्म कर देता है

परन्तु mucus में inflelamation सबसे ज्यादा होता है क्युकी यही बेक्टीरिया और वायसर से लड़ता है जब इसमें inflelamation होता है तो मुहँ में छाले , आंख आना , नाक में सुजन जैसी समस्या उत्पन हो जाती है इसके लिए आज हम आपको R62 homeopathic medicine के बारे में जानकरी देंगे जो inflelamation के लिए है

R62 medicine क्या है – what is R62 homeopathic medicine in hindi

Dr.reckeweg R62 medicine जर्मन की homeopathic medicine है जो की Dr.reckeweg का एक ब्रांड है जिसका इस्तेमाल inflelamation of mucus membranes की समस्या के लिए किया जाता है इसका प्राइस 240 रूपये है R62 medicine को Morbilin – inflelamation of mucus membranes के नाम से भी जानते है

R62 medicine के अंदर कुछ homeopathic medicine मिली हुई है जैसे Arum triphyllum , Belladonna , Ferrum phosphoricum , Mercurius solubillis . इन सभी के बारे में निचे देखने को मिल जाएगा

R62 medicine का इस्तेमाल कैसे करे – R62 homeopathic medicine uses in hindi

Dr.reckeweg R62 medicine का इस्तेमाल उम्र , लिंग , कोई नई या पुरानी बिमारी को ध्यान में रखकर डॉक्टर की सलाह के बाद किया जाता है ताकि आने वाले समय में आपको कोई समस्या न हो

R62 medicine को लेने के लिए आपको एक चोथाई कप पानी लेना है और उसमे R62 medicine की 10 बूंदों को डालना है और उसका सेवन करना है

आपको हर 2 घंटे बाद इसका सेवन करना है और एक समय में 10 बुँदे जब आपको लगे की आराम है लक्ष्ण कम हो गए है तो आप इसे 4 घंटे में एक बार ले

उसके बाद अगर आप और ज्यादा ठीक हो जाते है तो आप इसे सिर्फ दिन में 3 बार ले सुबह दोपहर शाम और जब बिलकुल ठीक हो जाओ तो R62 medicine को लेना बंद कर दे

आपको R62 medicine का इस्तेमाल 5 दिन तक करना है 5 दिन में आपको आराम मिल जाएगा 5 या 6 दिन से ज्यादा इसका सेवन न करे अगर समस्या है तो डॉक्टर की सलाह ले

(1) . R62 medicine को कैसे ले

बिमारी inflelamation of mucus membrane
मात्रा 10 बुँदे एक समय में
दिन में कितनी बार हर 2 घंटे बाद ले लक्ष्ण कम होने पर दिन में 3 बार
खाना खाने के बाद या पहले खाने से आधे घंटे पहले ले
किसके साथ ले एक चोथाई कप पानी के साथ
सलाह लगातार 5 दिनों तक ले
R62 medicine का सेवन 5 दिन तक करे इसे ज्यादा के लिए डॉक्टर से सलाह ले

R62 medicine के फायदे – Benefits of R62 medicine in hindi

Dr.reckeweg R62 medicine के मुख्या फायदे इस प्रकार है

(1) . मुहँ के छाले और सुजन के लिए लाभकारी है

अगर आपके मुहँ में बार बार छाले हो रहे है मुहँ के अल्सर की समस्या है सुजन और जलन हो रही है तो आपके लिए R62 medicine बहुत लाभकारी है हर 2 घंटे बाद इसक सेवन करे पुरे दिन आपको आराम मिलेगा

(2) . आँख आने की समस्या के लिए लाभकारी है

आपने बहुत से व्यक्ति को देखा होगा आँख आने की समस्या हो जाती है यह inflelamation के कारण होता है आँख से पानी आता है लाल हो जाती है इसके लिए भी R62 medicine बहुत लाभकारी है इसे कुछ समय में ही आँख आने की समस्या कम हो जाती है

(3) . कान में इन्फेक्शन के लिए लाभकारी है

कान के mucus में inflelamation के कारण इन्फेक्शन हो जाता है जिसके कारण कान बहने की समस्या हो जाती है सुजन हो जाती है दर्द होता है तो आप R62 medicine का इस्तेमाल कर सकते है

(4) . पेशाब में जलन के लिए लाभकारी है

जब भी पेशाब करते है तो जलन होती है बहुत ज्यादा पेशाब रुक सा जाता है तो इसके लिए भी आप R62 medicine का सेवन करे यह बहुत लाभकारी है

inflelamation के कारण खुले अंगो में जो इंफेक्शन होता है उसके लिए R62 medicine बहुत ज्यादा लाभकारी है यह इसके मुख्या लाभ है

R62 medicine के दुष्प्रभाव – Side effects of R62 medicine in hindi

Dr.reckeweg R62 medicine inflelamation के लिए बहुत लाभकारी है और R62 medicine का हमारे शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है

पार्न्तु अगर आपको R62 medicine के सेवन से कोई दुष्प्रभाव होता है तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए और जांच करवाने चाहिए

R62 medicine की सावधानियाँ – Precautions of R62 medicine in hindi

R62 medicine के लेने से पहले आपको कुछ बातो का ध्यान रखना है जैसे

(1) . डॉक्टर की सलाह ले

अगर आपको उपर बताई गई कोई समस्या है तो आपको Dr.reckeweg R62 medicine के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर की सलाह जरुर लेनी है

(2) . शराब का सेवन न करे

अगर आपको मुहँ में अल्सर हुआ है जलन है तो आपको शराब का सेवन नहीं करना है इसे आपका अल्सर ज्यादा बढ़ सकता है और R62 medicine का असर कम हो सकता है

(3) . 5 दिन से ज्यादा R62 medicine को न ले

अगर आपने R62 medicine को लेना चालू कार दिया है तो आपको 5 दिन ही R62 medicine का इस्तेमाल करना है क्युकी आप हर 2 घंटे बाद मेडिसिन ले रहे हो इसलिए 5 से ज्यादा दिन न ले

(4) . चाय कॉफ़ी का सेवन न करे

चाय कॉफ़ी का सेवन आपकी समस्या को बढ़ा सकता है इसलिए अगर आप R62 medicine को ले रहे है तो आपको चाय कॉफ़ी का सेवन नहीं करना है

(5) . मांस का सेवन न करे

मांस का सेवन करना बहुत से व्यक्ति को पसंद होता है परन्तु अगर आप R62 medicine को ले रहे है तो आपको मांस का सेवन नहीं कारण है इसे R62 medicine का असर कम हो सकता है

(6) . exp date को जरुर चेक करे

exp date चेक करना बहुत जरुरी होता है इसलिए अगर आप R62 medicine को ले रहे है तो उसकी exp date को जरुर चेक करे क्युकी कई बार exp date निकली होती है

अगर अआप R62 medicine ले रहे है या लेना चाहते हो तो उपर बताई गई बातो का ध्यान जरुर रखे

R62 medicine की सामग्री – Ingredients of R62 medicine in hindi

R62 medicine के अंदर अलग अलग homeopathic medicine मिली हुई है जिसके बारे में आपको निचे देखने को मिल जाएगा

(1) . अरुम ट्राइफिलम

अगर mucus membran में inflelamation होता है तो जलन की समस्या बहुत ज्यादा होती है और अगर आपको सुजन जलन और लालपन ज्यादा है तो उस समय में अरुम ट्राइफिलम बहुत लाभकारी है

(2) . बेलाडोना

अगर आपके mucus membran में बहुत ज्यादा सुजन हो रही है साथ में लालापन हो गया है दर्द हो रहा है मुहँ में छाले हो गए है तो उसके लिए बेलाडोना बहुत अछि मेडिसिन है

(3) . फेरम फास्फोरिकम

जब mucus membran में inflelamation होती है तो उसके साथ साथ बुखार की समस्या होती है तो फेरम फास्फोरिकम बहुत लाभकारी है साथ ही यह सुजन और inflelamation को कम करती है

(4) . मर्क्यूरियस सोलुबिलिस

अगर आपको आँख आई है और आँख से पानी निकल रहा है तो उसके लिए मर्क्यूरियस सोलुबिलिस बहुत ही अच्छी मेडिसिन है

यह सभी homeopathic medicine R62 medicine में मिली हुई है और यह सभी homeopathic medicine बहुत ही लाभकारी है जिसके कारण R62 medicine का असर ज्यादा हो जाता है

R62 medicine को कैसे रखे – How to store R62 medicine in hindi

Dr.reckeweg R62 medicine को आप हमेशा सामान्य तापमान में रखे इसके लिए आप इसे अपने कमरे के सामन्य तापमान में रख सकते है

आपको एक बात का ध्यान रखना है की आपको R62 medicine को ज्यादा गर्म व ज्यादा ठंडी जगह पर नहीं रखना है इसे R62 medicine का असर कम हो सकता है

निष्कर्ष

आशा करते है की आपको R62 homeopathic medicine के बारे में पता चल गया होगा और अब आप इसका इस्तेमाल सही तारीके से करेगे और आपको कोई समस्या नहीं होगी अगर आपको कोई समस्या है तो आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते है

related topic

r87 homeopathic medicine का इस्तेमाल बैक्टीरियल संक्रमण के लिए किया जाता है

Orasore Gel Uses in hindi का इस्तेमाल मुहँ के छालो में किया जाता है

जानिए कुछ सवालो के जवाब

Q . क्या प्रेगनेंसी के दोरान R62 medicine का सेवन कर सकते है ?

ans . प्रेगनेंसी के दोरान R62 medicine को लेने से पहले डॉक्टर किस सलाह ले उसके बाद सेवन करे |

Q . क्या स्तनपान करवाने वाली माहिला R62 medicine का सेवन कर सकती है ?

ans . स्तनपान करवाने वाली महिला को R62 medicine के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए |

डिस्क्लेमर – जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर प्रकार से प्रयाश  किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी thedkz.com की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है

Categorized in: