आज हम car ac कंडेनसर क्या है इसके बारे में आपको बताएगे सभी कार में cooling system के लिए कंडेनसर लगा होता है जो आगे की तरफ रेडिएटर से जुड़ा होता है बोल्ड की मदत से

ac कंडेनसर के कारण ही कार के cabin में अंदर cooling होती है और ठंडक रहती है अगर किसी कार का ac कंडेनसर खराब हो जाता है तो cooling नहीं होगी ac कार्य नहीं करेगा

ac कंडेनसर में फिन्स बने होते है जिसे हवा पास होती है परन्तु कई बार डस्ट के कारण यह फिन्स बंद हो जाते है जिसके कारण ac कंडेनसर cooling नहीं करता है

इसके साथ ही कुछ लोग पानी का अधिक preassure ac कंडेनसर पर मारते है पानी के अधिक preassure से ac कंडेनसर के फिन्स मुड़ जाते है और बंद हो जाते है जिसके कारण समस्या उत्पन होती है

इसलिए ध्यान रहे की कार को वोश करवाते समय ac कंडेनसर पर अधिक preassure से पानी न मरवाए आराम से कम preassure से पानी लगवाए फिन्स की डस्ट साफ़ हो जाएगी

यह तो एक समस्या है जो ac कंडेनसर में होती है अब बात करते है की ac कंडेनसर क्या है और यह कैसे काम करता है car में जानते है

car ac कंडेनसर क्या है

car ac कंडेनसर क्या है

ac कंडेनसर मुख्या एलम्युनियम का बना होता है और इसके अंदर किसी प्रकार का कोई भी प्लास्टिक का पाइप नहीं लगा होता है यही इसकी पहचान होती है

और ac कंडेनसर रेडिएटर के बिलकुल आगे लगा होता है और इसे निचे लॉक और उपर दो बोल्ड लगे होते है जिसे ac कंडेनसर रुका रहता है

ac कंडेनसर में आपको दो होल देखने को मिलते है जो गैस को ग्रहण करने और आगे भेजने के लिए होते है इनमे पाइप लगे होते है ac कंडेनसर को भी अलग अलग पार्ट में बांटा गया है

ac कंडेनसर काम कैसे करता है

ac compressor कार्य करके गैस को आगे ac कंडेनसर में भेज देता है ac कंडेनसर में लाइन बनी होती है जिसमे से गैस आगे की तरफ जाती है और उन लाइन में से होती हुई दुसरे होल से गैस बाहर निकल जाती है

ac कंडेनसर के साइड में एक ट्यूब लगी होती है इसे बोतल भी कहाँ जाता है और रिसीवर ड्राईव भी कहाँ जाता है जब ac गैस लाइन से गुजरती है तो वह गैस इस ट्यूब में जाती है

और यह ट्यूब मुख्या रूप से फ़िल्टर का कार्य करती है ac system में जितनी डस्ट होती है यह ट्यूब उसे स्टोर कर लेती है और आगे नहीं जाने देती है

इसके अलावा यह मुख्या एक कार्य और करती है यह आगे सिर्फ लिकविड को ही भेजती है यह गैस को आगे नहीं जाने देती है

जब गैस ac कंडेनसर में आती है तो वह गैस लिकविड में बदल जाती है जो की ac कंडेनसर का कार्य होता है जब ac को हम ओन करते है

तो ac compressor घूमता है और गैस को आगे ac कंडेनसर में भेज देता है उसके बाद जब ac कंडेनसर के लाइन से गैस आगे की तरफ जाती है तो उस समय रेडिएटर फेन on होता है

और ac कंडेनसर से हवा फिन्स के द्वारा पास होने लगती है जब वह हवा ac कंडेनसर से पास होती है तो ac कंडेनसर के लाइन में चल रही गैस लिकविड के रूप में बदल जाती है

और आगे ac कंडेनसर के ट्यूब में चली जाती है जहाँ से लिकविड साफ़ होकर आगे जाने लगता है इस प्रकार ac कंडेनसर कार्य करता है

ac कंडेनसर के कार्य

ac कंडेनसर अलग अलग कार्य करता है जो इस प्रकार है

(1) . गैस को लिकविड में बदलना

ac कंडेनसर का पहला कार्य होता है गैस को लिकविड में बदलना ac कंडेनसर गैस को आगे नहीं जाने देता है और गैस लिकविड में रेडिएटर फेन की मदत से बदलती है

(2) . लिकविड को साफ़ करके आगे भेजना

ac कंडेनसर का दूसरा कार्य होता है लिकविड को साफ़ करने आगे भेजना लिकविड को साफ करने का कार्य ac कंडेनसर ट्यूब की मदत से करता है जो ac कंडेनसर के साइड में लगा होता है

(3) . ac system में डस्ट को रोककर रखना

ac कंडेनसर का तीसरा कार्य है डस्ट को रोककर रखना ac system में बहुत सी डस्ट भी होती है और ac कंडेनसर इस डस्ट को रोक लेता है और आगे लिकविड के साथ नहीं जाने देता है

ac कंडेनसर के यह तीन कार्य मुख्या है और इसी माध्यम से ac कंडेनसर काम करता है

खराब ac कंडेनसर के लक्ष्ण

ac कंडेनसर के खराब होने पर आपको अलग अलग लक्ष्ण दिखाई देते है जिसके बारे में आपको निचे देखने को मिल जाएगा जो इस प्रकार है

(1) . cooling कम हो जाती है

ac कंडेनसर खराब होने पर सबसे पहला लक्ष्ण जो आपको देखने को मिलेगा वह है cooling कम हो जाएगी जैस ही आप ac को on करेगे तो आपको गर्मी महसूस होगी जब ac कंडेनसर में गैस लिकविड में बदलनी बंद हो जाती है तो यह समस्या होती है इसके कारण ac के अन्य पार्ट भी सही कार्य नहीं करेगे

(2) . गैस लिक होने लगती है

ac कंडेनसर खराब होने पर आपको एक लक्ष्ण आपको और देखने को मिलेगा वह है गैस का लिक होना अगर ac कंडेनसर की लाइन कही से टूट जाती है तो गैस लिक हो जाती है जिसके कारण ac on नहीं होगा और cooling नहीं होगी साथ ही गर्म हवा की समस्या होगी

(3) . साउंड की समस्या होगी

ac कंडेनसर खराब होने पर आपको एक लक्ष्ण और देखने को मिल जाएगा वह है साउंड का जब भी आप ac को on करेगे तो आपको साउंड सुने को मिलेगा ac सही से कार्य नहीं करेगा साउंड की समस्या blower motor से भी आती है कभी कभी

(4) . गर्म हवा आएगी

ac कंडेनसर खराब होने के बाद आपको एक लक्ष्ण और दिखाई देगा वह है गर्म हवा का आना आप जब भी ac को on करेगे cabin में गर्म हवा आएगी क्युकी गैस सही से लिकविड में नहीं बदलती है जिसे आगे गैस जाती है इसका एक कारण और होता है अगर रेडिएटर फेन बंद हो जाता है on नहीं होता है

(5) . स्मेल आएगी

जब ac कंडेनसर कार्य करना बंद कर देता है तो आपको एक और लक्ष्ण देखने को मिलेगा वह है जलने की स्मेल आना जब ac कंडेनसर गर्मी को पूरी तरह से खत्म नहीं कर पाएगा तो heat ज्यादा होगी जिसे आपको cabin में जलने की स्मेल का अनुभव होगा

ac कंडेनसर खराब होने पर आपको उपर दिए गए लक्ष्ण दिखाई देंगे

ac कंडेनसर खराब होने के कारण

car ac कंडेनसर खराब होने के कुछ कारणों को हमने नोटिस किया है जिसके बारे में आपको निचे देखने को मिल जाएगा जो इस प्रकार है

(1) . ac कंडेनसर बहुत पुराना होने के कारण

ac कंडेनसर खराब होने का सबसे पहला कारण जो देखा गया है वह है ac कंडेनसर का बहुत पुराना हो जाना अगर ac कंडेनसर पुराना हो जाता है और आप ac की सर्विस भी नहीं करवाते है तो ac कंडेनसर खराब हो जाता है

(2) . डस्ट के कारण

ac कंडेनसर खराब होने का दूसरा कारण है डस्ट धीरे धीरे ac कंडेनसर में डस्ट जमा होती रहती है और ट्यूब और सील को खराब कर देती है जिसे ac कंडेनसर खराब होता है

(3) . दुर्घटना के कारण

ac कंडेनसर खराब होने का एक कारण है दुर्घटना अगर आपकी कार आगे से लग जाती है तो उसका सबसे पहला असर ac कंडेनसर पर होता है ac कंडेनसर की लाइन लिक हो जाती है

इसके अलावा ac कंडेनसर खराब होने का एक छोटा सा कारण हॉर्न है कुछ लोग हॉर्न को ac कंडेनसर के बिलकुल आगे लगा देते है तो कई बार वह हॉर्न ac कंडेनसर में टच करके लाइन को लिक कर देता है

(4) . ट्यूब या सील खराब होने के कारण

ac कंडेनसर खराब होने का एक कारण है ट्यूब और सिल का खराब हो जाना कई बार ac compressor से डस्ट और कुछ टूटे कण आगे ac कंडेनसर के ट्यूब में जमा होते है

जिसके कारण ट्यूब और सिल खराब हो जाती है और ac कंडेनसर के साथ जो ट्यूब होती है उसे बदला नहीं जा सकता है जिसके कारण पूरा ac कंडेनसर ही खराब हो जाता है और पुरे ac कंडेनसर को ही बदलना पड़ता है

ac कंडेनसर खराब होने के यह कुछ मुख्या कारण है जिनके बारे में उपर बताया गया है

ac कंडेनसर को कैसे खोले

आप आसानी से ac कंडेनसर को बदल सकते है हम आपको कुछ ही step में बताएगे की ac कंडेनसर को कैसे खोल सकते है जानिए

step . 1

आपको सबसे पहले कार के bonnet को खोलना है और उसे रोक लेना है हुक की मदत से ताकि वह निचे न गिरे

step . 2

उसके बाद आपको bumper को खोलना है उसके लिए आपको bumper में लगे आगे वाले बोल्ड को खोलना है जो 10 नंबर के होते है उसके बाद bumper के साइड में से पेचकस वाले 2 बोल्ड को खोलना है

step . 3

उसके बाद आपको bumper को खोलकर बाहर निकाल लेना है उसके बाद आपको सामने ac कंडेनसर देखने को मिलेगा ac कंडेनसर को खोलने के लिए गैस को निकालना पड़ता है

step . 4

अगर गैस निकल गई है तो ठीक है अगर गैस है तो आपको ac पाइप में लगे पिन को दबाकर गैस को निकाल लेना है गैस निकालने के बाद आपको ac पाइप को खोलना है

step . 5

ac पाइप को खोलने के लिए आपको 10 की गोटी लेनी है उसके बाद आपको दोनों पाइप में 2 बोल्ड देखने को मिलेगे आपको दोनों बोल्ड खोलने है आराम से क्युकी यह बोल्ड टूट भी जाते है

step . 6

बोल्ड को खोलने के बाद आपको ac पाइप को निकाल लेना है पाइप में रबर रिंग होते है उनका ध्यान रखे उसके बाद आपको ac कंडेनसर के बोल्ड को खोलना है जिसे ac कंडेनसर रेडिएटर से जुड़ा है

step . 7

ac कंडेनसर के बोल्ड को खोलते ही ac कंडेनसर खुल जाएगा उसके बाद आप ac कंडेनसर को बहार निकाल ले खोलकर और बदल या चेक करवा सकते है

निष्कर्ष

आशा करते है की आपको car ac कंडेनसर क्या है और यह कैसे काम करता है इसके बारे में पता चल गया होगा अगर आपको ac कंडेनसर को सही रखना है तो आप समय पर ac की सर्विस करवाए और ac फ़िल्टर को बदलवाए और अगर आपको car ac कंडेनसर से जुडी कोई समस्या है तो comment करे

related topic

symptoms of bad car ac compressor

ac filter in car क्या है | car ac filter replacement 4 easy step

जानिए कुछ सवालों के जवाब

Q . ac फ़िल्टर को कब बदलवा देना चाहिए ?

ans . आप हर सर्विस पर ac फ़िल्टर को साफ़ करवाए और जब ac फिल्टर अधिक गन्दा हो जाए तो ac फ़िल्टर को बदलवा दे |

Q . ac की सर्विस किस समय करवानी चाहिए ?

ans . सर्दी का मोश्म खत्म होते ही जब गर्मी का मोश्म आए और ac की जरुरत पड़े तो ac की सर्विस करवाए |