bs6 bike ko scan kaise kare | किसी भी फाल्ट को ठीक करे 7 easy स्टेप से

क्या आपको पता है की bs6 bike के फाल्ट को स्कैनिंग सिस्टम से देखा जाता है इसलिए आज हम आपको बताएगे की bs6 bike ko scan kaise kare जिसे आप आसानी से फाल्ट को खोज सके

bs6 bike को स्कैन करने की जरूरत इसलिए पड़ी है क्युकी उसमे सेंसर सिस्टम दे दिया गया है पहले की bike बिलकुल सिंपल थी उसमे फ्यूल की सप्लाई एक नार्मल तरीके से होती थी

परन्तु bs6 bike में फ्यूल की सप्लाई मोटर के द्वारा होती है जो टैंक में लगी है और फ्यूल की सप्लाई की मात्रा के लिए ecm को दिया गया है जो सभी सेंसर और फ्यूल की सप्लाई को कण्ट्रोल करता है

bs6 bike में जो सेंसर दिए गए है अगर उनमे से किसी सेंसर में समस्या आ जाती है तो हम पता नहीं लगा सकते है इसलिए स्कैनर का इस्तेमाल किया जाता है जो फाल्ट का पता लगाती है

अगर आपको हम बता दे की स्कैनर ले और बाइक को स्कैन कर दे तो आपको कुछ समझ नहीं आएगा इसलिए आज हम आपको एक एक चीज के बारे में बताएगे जिसे आप bs6 bike ko scan kaise kare जानकारी ले सके

scaner क्या है 

स्कैनर एक obd 2 tool होता है जिसका इस्तेमाल फाल्ट को पता लगाने के लिए किया जाता है यह सिर्फ सेंसर से जुडी समस्या के बारे में आपको बताता है इसके साथ ही इसका इस्तेमाल कार , बस , ट्रक , बाइक में किया जाता है

स्कैनर कई तरह के होते है छोटे भी और बड़े भी अगर हम बड़े की बात करे तो हमे एक elm मिलता है जिसमे ब्लूटूथ सिस्टम होता है और वह bike की वायरिंग के साथ कनेक्ट होता है

उसकी के साथ एक स्क्रीन मिलती है जिसमे obd 2 app होती है जिसे हम फाल्ट का पता करते है एसे ही आपको छोटे में एक elm मिलता है उसमे भी ब्लूटूथ होता है परन्तु उसके लिए आपको अपने मोबाइल में app डाउनलोड करनी पड़ती है

और साथ ही छोटे elm में 16 पिन होती है जिसके कारण वह बाइक के वायरिंग के साथ कनेक्ट नहीं होती है उसके लिए आपको अलग से सभी कंपनी की वायर लेनी पड़ती है उसे भी आप bike को स्कैन कर सकते है

इन दोनों में फर्क कुछ नहीं है बस सस्ते वाले में आपको स्कैनर की वायर अलग से लेनी पड़ती है और महंगे वाले में आपको सभी चीजे आसानी से मिल जाती है और दोनों ही स्कैनर ecm से कनेक्ट होकर ही चलते है

अब हम आपको बताएगे की bs6 bike में लगने वाला स्कैनर काम कैसे करता है परन्तु उसे पहले आपको कुछ सेंसर के बारे में पता होना जरुरी है जिसे आपको आसानी से समझ आ जाएगा स्कैनर कैसे काम करता है

bike के सेंसर 

bs6 bike में लगे मुख्या सेंसर इस प्रकार है –

.  ecm / ecu

ecm / ecu bike का मुख्या पार्ट है जो पूरी bike के सेंसर को कण्ट्रोल करता है ecm ही फ्यूल की सप्लाई करता है और ecm ही सेंसर से सिगनल प्राप्त करता है ecm को engine control moduel भी कहा जाता है इसका code है (p0611)

.  ऑक्सीजन सेंसर

ऑक्सीजन सेंसर बाइक के साइलेंसर में लगा होता है यह बाइक के इंजन से निकलने वाले धुए के माध्यम से ecm / ecu को सिगनल भेजता है जिसे ecm / ecu फ्यूल की सप्लाई करता है इसका code है (p0420)

.  आयल प्रेशर सेंसर

आयल प्रेशर सेंसर सिलेंडर में लगा होता है जो इंजन आयल की मात्रा को बताता है जिसे हमे पता चलता है इंजन में आयल है या नहीं अगर इंजन में आयल खत्म होता है तो वार्निंग लाइट ओन होती है इसका code है (p0522)

.  इंजेक्टर

इंजेक्टर bs6 bike का मुख्या पार्ट है यह इंजन में फ्यूल की सप्लाई करता है और ecm इसे सिगनल देता है अगर इंजेक्टर में समस्या होती है तो वार्निंग लाइट ऑन हो जाती है इसका code है (p0200)

.  मेप सेंसर

मेप सेंसर थ्रोटल बॉडी में लगा होता है और यह पता करता है की इंजन में कितनी एयर जा रही है और पता कर ecm को सिगनल भेजता है जिसे ecm फ्यूल की सप्लाई करता है इसका code है (p0106)

जानिए

यह सेंसर bs6 bike में लगे होते है आपको इनके बारे में पता चल गया होगा परन्तु आपको इन सेंसर के साथ एक code देखने को मिला होगा सभी सेंसर को एक code दिया गया है

और यही code आपको फाल्ट को खोजने में मदत करता है मान लीजिए की अगर आपकी bs6 bike में फ्यूल की सप्लाई नहीं हो रही जिसके कारण bs6 bike स्टार्ट नहीं हो रही है आपकी

और फ्यूल सिस्टम इंजेक्टर से जुड़ा है जब आप bs6 bike को स्कैन करवाते है तो इंजेक्टर से जुड़ा code (p0200) देखने को मिलेगा जिसे आपको फाल्ट का पता चलेगा और साथ ही इंजेक्टर के बारे थोडा लिखा होगा स्कैनर में

जिसे आप bs6 bike को आसानी से ठीक कर सकते है परन्तु आप अगर बिना स्कैनर के फाल्ट को खोजते है तो आपको पता करना मुश्किल होगा परन्तु आपको पता होना जरुरी है की bs6 bike ko scan kaise kare जानिए

bs6 bike ko scan kaise kare

bs6 bike ko scan kaise kare जानिए एक एक स्टेप के अनुसार जो आपको निचे देखने को मिल जाएगे

.  स्टेप 1

आपको सबसे पहले bike को बड़े स्टैंड पर लगाना है उसके बाद आपको bike को स्टार्ट करना है उसके बाद वार्निंग लाइट को चेक करना है स्टार्ट होकर आ रही है या नहीं अगर आ रही है तो आपकी bike में फाल्ट है उसके लिए आपको bike में स्कैनर लगाना पड़ेगा वायरिंग में आपको स्कैनर का कंनेक्टेर देखने को मिलेगा

.  स्टेप 2

उसके बाद आपको bike में अपने स्कैनर को कनेक्ट करना है और रीड कोड को चेक करना है क्या फाल्ट दिखा रही है मान लीजिए की अगर ऑक्सीजन सेंसर का code (p0420) आया तो आपको सबसे पहले इस code को लिखना है और स्कैनर की मदत से क्लियर कर देना है

.  स्टेप 3

फिर आपको code को रीड करना है अगर दोबारा से आपकी bike में (p0420) ऑक्सीजन सेंसर का ही code आता है तो इसका मतलब है आपकी bike के ऑक्सीजन सेंसर में प्रॉब्लम है अब पता तो चल गया अब इसे ठीक कैसे कर सकते है इस कोड को क्लियर कैसे कर सकते है

.  स्टेप 4

उसके लिए आपको सबसे पहले डाटा स्ट्रीम में जाना है और ऑक्सीजन सेंसर के डाटा को चेक करना है पॉइंट आ रहे है या नहीं उसके बाद आप bike से स्कैनर को निकाल ले अब आपको सिर्फ ऑक्सीजन सेंसर ही चेक करना है फाल्ट को सही करने के लिए आपको ऑक्सीजन सेंसर के बारे में पता होना जरुरी है

.  स्टेप 5

ऑक्सीजन सेंसर ख़राब होने से क्या लक्ष्ण दिखाई देते है इसके ख़राब होने के क्या कारण होते है यह काम कैसे करता है (p0420) ऑक्सीजन सेंसर के फाल्ट को क्लियर करने के लिए आपको ऑक्सीजन सेंसर को चेक करना होगा , ऑक्सीजन सेंसर की वायर को चेक करना होगा इसके कंनेक्टेर को चेक करना होगा वायरिंग को चेक करना होगा

.  स्टेप 6

अगर आपको इनमे से कोई फाल्ट मिल जाता है तो आप उसे ठीक कर दे और फिर bike में स्कैनर लगाए और (p0420) code को क्लियर कर दे और वार्निंग लाइट को चेक कर दे फाल्ट ठीक हो जाएगा आपको सिर्फ एक बात का ध्यान रखना है की किसी भी सेंसर का कोड आए या फाल्ट आए

.  स्टेप 7

आपको उस सेंसर को , उसकी वायरिंग को , कंनेक्टेर को , सेंसर में लग रही तार को अच्छे से चेक करे आप सेंसर को बदल कर भी चेक कर सकते है आपको फॉल्ट मिल जाएगा और ठीक भी हो जाएगा इसके साथ ही आपको पता होना चाहिए की कोनसा सेंसर क्या काम करता है और इसके ख़राब होने पर क्या लक्ष्ण दिखाई देते है

निष्कर्ष 

आशा करते है की आपको पता चल गया होगा की bs6 bike ko scan kaise kare और स्कैनर के बारे में थोड़ी जानकारी , अगर आपको सेंसर की नोलेज है तो स्कैनर आपके लिए बहुत फायदेमंद है परन्तु अगर आपको सेंसर के कार्य के बारे में जादा नहीं पता है तो आपको समस्या हो सकती है अगर आपको सेंसर के बारे में जानना है तो आप हमारे सेंसर वाले आर्टिकल पढ़ सकते है

related topic 

bs6 बाइक में cng लगवा सकते है या नहीं | cng के फायदे और नुक्सान

bs6 बाइक के साइलेंसर को बदला तो हो सकते है बड़े नुक्सान

bs4 और bs6 बाइक मैं क्या अंतर है अगर नहीं पता है तो जल्दी जान लीजिए

मोटरसाइकिल में ecu का क्या काम है 2022 | what is the use of ecu in motorcycle in hindi

bs 6 बाइक में होगा पेट्रोल कम तो हो सकते है 4 बड़े नुक्सान

जानिए कुछ सवालों के जवाब 

Q . क्या एक स्कैनर से सभी bike को स्कैन किया जा सकता है ?

ans . हाँ एक स्कैनर से सभी बाइक को स्कैन किया जा सकता है उसके लिए आपको अलग अलग bike के अनुसार उसकी वायर लेनी पड़ेगी |

Q . क्या सभी सेंसर के अलग अलग code होते है ?

ans . हाँ सभी सेंसर के अलग अलग कोड होते है

Q . किस सेंसर के खराब होने से माइलेज में समस्या आती है ?

ans . ऑक्सीजन सेंसर के ख़राब होने से माइलेज में समस्या आ जाती है |

Q . क्या हर सर्विस में थ्रोटल बॉडी को साफ़ करवाना जरुरी है ?

ans . नहीं हर सर्विस में थ्रोटल बॉडी को साफ़ करवाना जरुरी नहीं होता है |

Leave a Comment