आपने कभी सोचा है क्या होगा अगर डीजल से इंजन के अंदर की सफाई करे आज हम आपके इस सवाल का जवाब देंगे और बताएगे की यह तरीका सही है या गलत

जब हम नई कार लेते है तो इंजन अंदर से बिलकुल क्लीन होता है इंजन आयल भी साफ़ रहता है परन्तु धीरे धीरे इंजन के अंदर कार्बन और डस्ट जमा होने लगती है जो इंजन आयल को भी खराब करती है

और उस डस्ट को साफ़ करने के लिए कंपनी फ्लश का इस्तेमाल करती है और मार्किट में बहुत से इंजन फ्लश मिल जाते है परन्तु बहुत से मैकेनिक इंजन को अंदर से डीजल से साफ़ करते है

हमने बहुत से मैकेनिक को देखा है और बहुत से ग्राहक से सुना भी है की इंजन को डीजल से फ्लश करवाते है इंजन के अंदर सीधा डीजल डालते है और कार को स्टार्ट करके इंजन फ्लश करते है

क्या डीजल से इंजन को फ्लश करना सही होता है या गलत क्या इसे कोई नुक्सान होता है और क्या एसा करने से इंजन के कोई पार्ट खराब होते है या नहीं इन सभी सवाल का जवाब आपको आज हम देंगे

डीजल से इंजन फ्लश क्या है

इंजन फ्लश अलग अलग कंपनी का होता है जिसके इस्तेमाल से इंजन में जमा कार्बन डस्ट को निकाला जाता है उसके लिए इंजन फ्लश को इंजन आयल में डालकर कार को कुछ मिनट स्टार्ट किया जाता है

और कुछ मिनट कार स्टार्ट रखने के बाद उस इंजन आयल को निकाल लिया जाता है और उसमे इंजन के अंदर की कार्बन और डस्ट निकल जाती है और इंजन क्लीन हो जाती है

हर 5 से 6 सर्विस के बाद आप इंजन को अछि कंपनी के फ्लश से क्लीन करवा सकते है कोई समस्या नहीं परन्तु अगर आप समय पर सर्विस करवाते है तो इंजन फ्लश की जरूरत नहीं पड़ती है

परन्तु कुछ मैकेनिक इंजन के अंदर की डस्ट को निकालने के लिए डीजल का इस्तेमाल करते है वह इंजन फ्लश के लिए इंजन में डीजल डालते है और कार को स्टार्ट रखते है कुछ मिनट जैसे आम फ्लश के साथ करते है

उसके लिए मैकेनिक इंजन आयल को निकाल लेते है और उसमे इंजन आयल की मात्रा के अनुसार डीजल डालते है और इंजन को स्टार्ट करते है और कुछ मिनट स्टार्ट रखने के बाद डीजल को निकाल देते है

इसे इंजन के अंदर का कार्बन निकल जाता है सभी लाइन साफ हो जाती है परन्तु हम आपको बता दे की एसा करना बिलकुल सही नहीं होता है इसे इंजन के पार्ट तो साफ़ होते है साथ ही नुक्सान होता है

इसलिए आप कभी भी इंजन फ्लश के लिए डीजल का इस्तेमाल न करे एसा करना आपको भारी नुक्सान में डाल सकता है जानते है क्या होगा अगर डीजल से इंजन फ्लश किया जाए

क्या होगा अगर डीजल से इंजन के अंदर की सफाई करे

आपको यह तो पता चल गया है की इंजन फ्लश क्यों किया जाता है और इंजन फ्लश करवाना नुक्सानदयाक है परन्तु अगर डीजल से इंजन फ्लश करवाते है तो क्या होगा जानते है

जब हम डीजल को इंजन में डालते है तो वह सीधा आयल पैन में जाता है और जब कार को स्टार्ट करते है तो आयल पंप उस डीजल को सभी लाइन के द्वारा इंजन में सप्लाई करने लगता है

वह डीजल पंप से होता हुआ camshaft , crankshaft , piston etc में जाता है और इंजन के सभी हिसो में फैलता है उस समय में पार्ट के बीच में लुब्रिकेशन नहीं होती है और डीजल के कारण पार्ट घिसने लगते है

डीजल से पार्ट तो साफ़ हो जाते है परन्तु crankshaft और piston के bearing कटने लगते है साथ ही पिस्टन के साइड की पार्ट घिसने लगते है और पिस्टन रिंग कट जाते है

इंजन इंजन को नुकसान होता है अगर आप इंजन में डीजल डालकर कार को 5 से 10 मिनट भी स्टार्ट रखते है तो crankshfat और piston के बिगन / बेअरिंग घिस जाते है और उनमे दाग आ जाते है

और अगर एक बार इन दोनों के बेअरिंग में दाग आ जाता है तो पूरा इंजन खुलता है और 20 से 30 हजार का खर्चा आता है और आपको भारी नुकसान होता है इसलिए डीजल से इंजन फ्लश करना सही नहीं है

डीजल से इंजन फ्लश करने से क्या नुकसान होता है

जानते है अगर डीजल से इंजन फ्लश कर दिया जाए तो क्या नुक्सान होगा

(1) . बेअरिंग कट जाते है

डीजल से इंजन को फ्लश करने का सबसे बड़ा नुक्सान crankshaft और piston के बेअरिंग को होता है यह बेअरिंग घिस जाते है और कट जाते है जिसके कारण इनपर दाग आ जाता है और कुछ समय बाद इंजन से साउंड उत्पन हों जाता है जिसके लिए पुरे इंजन को खुलवाना पड़ता है जिसे बहुत ज्यादा खर्चा आता है

(2) . एग्जॉस्ट से सफ़ेद धुआं निकलता है

दूसरा बड़ा नुकसान जो डीजल से होता है वह है सफेद धुंए की समस्या उत्पन होना डीजल से piston ring कट जाते है जिसके कारण इंजन से सफ़ेद धुआं एग्जॉस्ट पाइप से बाहर निकलने लगता है और यह धुआं बंद नहीं होता है साथ ही इंजन की आवाज बदल जाती है इसलिए डीजल में इंजन फ्लश न करवाए

ध्यान देने वाली बात

इंजन फ्लश करवाना गलत नहीं होता है परन्तु देखा गया है की सही जानकारी न होने के कारण इंजन फ्लश नुकसानदायक हो जाती है और पूरा इंजन तक खुल जाता है

एसे में आपको बहुत सी बातो का ध्यान रखना चाहिए इंजन फ्लश करवाने से पहले तभी इंजन फ्लश करवाने का फायदा होगा नहीं आपको नुक्सान ही झेलना पड़ेगा

पहले अगर आपकी कार बहुत ज्यादा चल गयी है और आपने कभी इंजन फ्लश नहीं करवाया है तो आपको इंजन फ्लश के चक्र में नहीं पड़ना है तो ही आपके लिए अच्छा होगा

क्युकी अगर आपने बिना सोचे समझे और बिना इंजन की जाँच किये इंजन को फ्लश किया तो इंजन सीज हो सकता है इस बात का ध्यान रखे क्युकी यह इंजन में आयल की लाइन को बंद कर सकता है

अगर आपकी कार के इंजन में बहुत ज्यादा कार्बन जमा है और आप इंजन फ्लश करवाना चाहते है तो आपको एक कार्य जरुर करना है आपको फ्लश के साथ चैम्बर और आयल पंप जाली /फ़िल्टर को साफ़ जरुर करना है

इसे कोई समस्या उत्पन नहीं होती है एक बात और अगर आप समय समय पर सर्विस करवा रहे है और अछि कंपनी के इंजन आयल का इस्तेमाल करते है तो इंजन फ्लश की जरूरत नहीं है

अगर आप फिर भी इंजन फ्लश करवाना चाहते है तो आप 5 से 6 सर्विस के बाद एक बार इंजन फ्लश करवा सकते है इसे कोई समस्या नहीं होगी और इंजन भी क्लीन हो जाएगा

निष्कर्ष

आशा करते है की आपको क्या होगा अगर डीजल से इंजन के अंदर की सफाई करे इसके बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी और अब आपको इसे जुडी कोई समस्या नहीं होगी अगर आप डीजल से इंजन फ्लश करते है तो नुक्सान ही होगा इस बात का ध्यान रखे अगर आपको इसे जुड़ा कुछ सवाल है तो आप कमेंट करे हम आपकी मदत करेगे