शुगर में मौसमी का जूस पीना चाहिए या नहीं जानते है मौसमी का जूस सभी को पीना अच्छा लगता है क्युकी हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होता है

मौसमी का जूस कई बीमारियों में इस्तेमाल किया जाता है डॉक्टर मौसमी का जूस पिने की सलाह देता है मौसमी में विटामिन सी बहुत ही अछि मात्रा में पाया जाता है जो इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है

इसके अलावा इसमें  लिमोनोइड्स पाया जाता है जो कैंसर से लड़ने में हमारी मदत करता है साथ ही इसमें कैल्शियम , फास्फोरस , पोटैशियम , कार्बोहाइड्रेट जैसे कई गुण पाए जाते है

मौसमी के जूस को लेकर समाज में अलग अलग धारणा है अधिकतर लोगो का कहना होता है की शुगर में मौसमी का जूस पीना चाहिए और कुछ का कहना है नहीं पीना चाहिए

और इसी धारणा के कारण अधिकतर लोग समझ नहीं पाते है वेसे तो मौसमी का जूस हमारी सेहत के लिए लाभकारी होता है परन्तु शुगर के मरीज के लिए इसका सेवन करना अलग बात है

शुगर के मरीज इसका सेवन इसलिए नहीं करते है क्युकी शुगर में रक्त में चीनी की मात्रा बढ़ जाती है और अगर किसी मीठे प्रदार्थ का सेवन करे तो शुगर बढ़ जाता है और मौसमी का जूस खटा और मिट्ठा होता है

शुगर में मौसमी का जूस पीना चाहिए या नहीं

शुगर-में-मौसमी-का-जूस-पीना-चाहिए-या-नहीं

शुगर में आप आसानी से शुगर में मौसमी का जूस पी सकते है क्युकी मौसमी का जूस में कैलोरी की मात्रा कम होती है जिसे शुगर मरीज इसका सेवन कर सकते है

मौसमी का जूस इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है साथ ही शुगर की समस्या में वजन अधिक तेजी से बढ़ता है ऐसे में मौसमी का जूस शुगर मरीज के लिए पीना अच्छा होता है क्युकी मौसमी का जूस वजन कम करता है

मौसमी का जूस में पॉलीफेनोल पाया जाता है`जो इन्सुलिन के उत्पादन को सही प्रकार से कार्य करने में मदत मिलती है और जिसे शुगर कण्ट्रोल में रहता है

इसके अलावा मौसमी का जूस शुगर को जल्दी से बढ़ने नहीं देता है जादा मात्रा में मौसमी का जूस पीना शुगर के मरीज के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है इसलिए कम मात्रा में सेवन करे

ध्यान रहे की दिन में सिर्फ 1 बार जूस पिए और बिना चीनी वाला और अगर किसी शुगर के मरीज का वजन अधिक कम है तो वह मौसमी का जूस का जादा मात्रा में सेवन ना करे इसे वजन कम हो सकता है

शुगर में आपको मौसमी का जूस पीना चाहिए या नहीं यह तो पता चल गया होगा जानिए की मौसमी का जूस हमारे शरीर के लिए कितना फायदेमंद होता है

दिन में कितनी बार जूस पिए :दिन में सिर्फ 1 बार
जूस पिने का तरीका :बिना चीनी वाला जूस पिए
किन लोगो को जूस नही पीना :जिनका वजन अधिक कम हो
ज्यादा मात्रा में न ले

मौसमी का जूस है फायदेमंद 

क्या आपको पता है की मौसमी का जूस हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है मौसमी के फायदे इस प्रकार है

(1) . पाचन के लिए लाभकारी है

मौसमी का जूस हमारे पाचन के लिए बहुत जादा लाभकारी होता है इसमें फ्लेवोनोइड्स पाया जाता है जो हमारे पाचन को सही से कार्य करने में मदत करता है

(2) . इम्यून सिस्टम के लिए लाभकारी हिया

इम्यूनटी सिस्टम को मजबूत बनाता है मौसमी का जूस अगर कुछ दिन के लिए मौसमी का जूस पिया जाए तो इम्यून सिस्टम मजबूत हो जाता है

(3) . श्वसन के लिए लाभकारी है

श्वसन के लिए फायदेमंद होता है मौसमी का जूस इसमें पाया जाने वाला एंटी-कंजेस्टिव गुण श्वसन के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी होता है

(4) . वजन कम करने में लाभकारी है

वजन को कम करता है अगर आप मौसमी का जूस का सेवन करते है तो आपको वजन कम करने में काफी मदत मिलेगी और कुछ ही दिनों में वजन कम होने लगेगा

(5) . पीलिया में लाभकारी है

पीलिया को सही करने में मदत करता है मौसमी का जूस क्युकी मौसमी का जूस लीवर को सही प्रकार से कार्य करने में मदत करता है

एक बात का ध्यान रखे की जादा मात्रा में मौसमी का जूस नुक्सान कर सकता है 

निष्कर्ष

आशा करते है की आपको शुगर में मौसमी का जूस पीना चाहिए या नहीं यह पता चल गया होगा और इसके साथ ही मौसमी के जूस के फायदे के बारे में शुगर की बिमारी में खान पान का विशेष ध्यान रखे और समय के अनुसार डॉक्टर की सलाह ले और जांच करवाते रहे खाने के दो घंटे बाद शुगर लेवल चेक करे

related topic

शुगर में चावल खाना चाहिए या नहीं किन चीजो का सेवन करे या नही

मधुमेह क्या है इसके कारण लक्ष्ण घरेलू उपाय

जानिए कुछ सवालो के जवाब

Q . एक दिन में कितनी बार शुगर में मौसमी का जूस पीना चाहिए ?

ans . दिन में सिर्फ 1 बार ही मौसमी के जूस का सेवन करे |

Q . क्या शुगर में मौसमी के जूस में चीनी का इस्तेमाल कर सकते है ?

ans . नहीं आपको मौसमी के जूस में चीनी का इस्तेमाल नहीं करना है इसे शुगर बढ़ सकती है |

डिस्क्लेमर – जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर प्रकार से प्रयाश  किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी thedkz.com  की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है