शेयर बाज़ार मैं पैसा लगाये या नही

अपनी इनकम पर प्रॉफिट कमाने का शेयर से अच्छा कोई रास्ता नही हो सकता है पर प्रॉफिट कमाने के  हमारे पास यही रास्ता नही है आप जब इन्वेस्ट करना चाहते है तो सबसे पहले दिमाग मैं शेयर खरीदने का ही आता है पर हमारे पास दूसरा विकल्प भी होता है पर आपको ज्यदा प्रॉफिट के लिए शेयर से बेहतर विकल्प नही हो सकता

अगर आप शेयर मार्किट को समझना चाहते है तो आपको शेयर और सिक्यूरिटी को समझना जरुरी है 

अगर आप शेयर को समझना चाहते है तो आपको उसके लिए सिक्यूरिटी को समझना जरुरी है सिक्यूरिटी जो है वो एक आर्थिक साधन है और इसकी एक तय की हुई कीमत होती है जिसे आसानी से खरीद सकते है और उसका कारोबार या बिज़नेस किया जा सकता है

सिक्यूरिटी कितने प्रकार की होती है 

सिक्यूरिटी दो प्रकार की होती है

डेब्ट सिक्यूरिटी क्या होती है 

डेब्ट सिक्यूरिटी – डेब्ट सिक्यूरिटी वो होती है जब कोई इंसान लोन लेता है और वो इंसान ब्याज के रकम के साथ उसको वापस करता है उसे डेब्ट सिक्यूरिटी कहते है इसका उदाहरन एक फिक्स्ड डिपाजिट है जब बैंक कस्टमर को उसके पैसे को ब्याज सहित वापस करता है

इक्विटी सिक्यूरिटी क्या होती है 

इक्विटी सिक्यूरिटी वो होती है जब हम किसी कम्पनी का हिस्सा खरीदते है और उस कम्पनी के उस हिस्से के मालिक होते है अपना अधिकार जताते है और लाभ हानि पर उसके उस हिस्से का जिम्मेदार होते है इसे हम इक्विटी सिक्यूरिटी कहते है इसी को हम इक्विटी या शेयर कहते है और जो शेयर हम खरीदते है उस पर हमे पूरा अधिकार होता है की हम उसे बेचे या उनको रखे

क्या शेयर मैं निवेश का अच्छा विकल्प है 

बहुत से कारन है जिसमे इन्वेस्टर का शेयर पर इन्वेस्ट करना एक अच्छा रास्ता लगता है

– भारत की महगाई दर 7% है और अब ये ज्यदा हो चुकी है करीब 14% ऐसे मैं शेयर जो है वो इस दर को पार करने मैं सक्षम होती है

जब आपको धन की जरूरत होती है तो अपने शेयर जो अचानक बेचना सही नही होता है

शेयर मार्किट मैं निवेश करने पर नुकसान और फायदा दोनों जुड़े होते है यह कोई घबराने की जरूरत नही है

निवेश मैं असल ज़िदगी के तरह फायदा और नुकसान जुडा होता है अगर आप एक अच्छी  रननीति बनाकर चलेगे और इन्वेस्ट को समझेगे तो आप जोकिम से होने वाले नुक्सान को कम कर सकते है

स्टॉक और शेयर कितने प्रकार होते है

शेयर दो प्रकार के होते है जिनको आपको समझना जरुरी होता है 

कॉमन स्टॉक क्या होते है 

ये शेयर का वो हिस्सा है जो किसी भी कम्पनी मैं सबसे ज्यदा कॉमन स्टॉक का इस्तेमाल होता है और ये डीवीडेड पर फायदा देता है ये फायदा तभी मिलता है जब अधिकांश शेयर होल्डर ने अपना डीवीडेड ले लिया गया हो अगर आप एक रिटेल यूजर है तो आप कॉमन स्टॉक मैं ही निवेश करेगे कॉमन स्टॉक ही सूचीबद्ध होता है बिज़नेस के हिसाब से आप किसी भी शेयर मैं इन्वेस्ट करोगो वो कॉमन स्टॉक ही होते है और इसमें मतदान का अधिकार होता है

अधिमान्य स्टॉक क्या होते है 

ये वो केटेगरी है जिसमे शेयर होल्टर को एक्स्ट्रा फायदा होता है इसमें शेयर होल्टर को एक एक्स्ट्रा लाभ दिया जाता है जिसे हम डीवीडेड  के तौर पर जाना जाता है इसमें कम्पनी अपना बिज़नेस बंद भी कर दे पर अधिमान्य स्टॉक होल्डर को उनके हिस्से का पैसा मिलता रहेगा इसमें मतदान का अधिकार नही होता है  कुछ अधिमान्य शेयर मैं शर्त होने के कारण इसे डेब्ट सिक्यूरिटी की केटेगरी मैं गीना जाता है

शेयर मालिक की क्या जिमेदारी होती है 

आपको बता दे की जैसे जैसे शेयर की प्रति जानकारी अधिक होने के कारण शेयर पर अकाउंट खोलना और उसमे आज के समय मैं बहुत ही आसन कर दिया और कम ब्रोकरेज चार्जेज लिया जाता है लेकिन ये सारी जिमीदारी एक निवेशक की होती ही क्युकी आप कही से भी शेयर मार्किट मैं निवेश करते है तो वो आपको बता देता है अगर बाज़ार का रुख बदलता है तो उसकी सारी जिमेदारी उस निवेशक की होगी आपका लाभ या नुकसान पर हमारा कोई मतलब नही है

एक म्यूच्यूअल फण्ड की तरह इसको भी समय समय पर जानना जरूरी होता है की आपका पैसा या आप ने जो इन्वेस्ट करते है वो सही है या नही या आपका पैसा कही बर्बाद तो नही हो रहा है कही ये गलत निवेश तो नही हो गया है

आप जंब भी किसी कम्पनी के शेयर खरीदने है तो आप  मालिक बन गए हो आपको कम्पनी के बड़े मतदान का अधिकार होता है आपको हर हिस्से के हिसाब से उस कपनी मैं मद करने का अधिकार होता है इसलिए कहते है की आपके पास कम्पनी के जितने ज्यदा शेयर होगे उतना ही अधिकार उस कम्पनी पर आपका ज्यदा होगा

जब आप एक कॉमन स्टॉक होल्डर होते है आपके पास सबसे बड़ा निर्णय ये होता है आप निदेशक मंडल के सेलेक्ट करने का मतदान प्राप्त होता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *