रीढ़ की हड्डी में दर्द के कारण परहेज उपचार क्यों होता है रीढ़ की हड्डी में दर्द

रीढ़ की हड्डी में दर्द के कारण परहेज उपचार अलग अलग प्रकार से किए जाते है भारत में अधिकतर लोग रीढ़ की हड्डी में दर्द होने से परेशान है और इलाज करवा रहे है और जादातर लोगो को पता नहीं होता है की रीढ़ की हड्डी का दर्द है क्या

रीढ़ की हड्डी में दर्द अलग अलग प्रकार से हो सकता है अगर आपको रीढ़ की हड्डी में हल्का फुल्का दर्द है तो यह कोई बिमारी नहीं होगी क्युकी यह दर्द आपके उम्र बढ़ने के साथ भी हो सकता है

स्पोंडीलोसिस यह एक रीढ़ की हड्डी होती है जिसे एजिंग भी कहाँ जाता है और यह एजिंग उम्र के साथ बदलती है मान लीजिए की आपकी उम्र 20 साल है तो आपको रीढ़ की हड्डी पतली होगी और जब आपकी उपर 30 साल हो जाएगी तो आपको रीढ़ की हड्डी में बदलाव देखने को मिलेगा यह एजिंग प्रोसेस है और इसे ही स्पोंडीलोसिस कहाँ जाता है

और यह होना आम बात होती है परन्तु अगर आपकी उम्र 20 साल है और आपकी रीढ़ की हड्डी 40 साल की उम्र जैसी दिखाई दे रही है तो यह बिमारी हो सकती है जिसे रीढ़ की हड्डी में दर्द होता है

रीढ़ की हड्डी में दर्द तब होता है जब रीढ़ की हड्डी में केल्शियम कम हो जाता है रीढ़ की हड्डी में एक डिस्क होती है और उसमे पानी रहता है जब वह पानी कम होने लगता है तो वह डिस्क हार्ड हो जाती है

जिसके कारण रीढ़ की हड्डी के जॉइंट कमजोर होने लगते है जिसके कारण बाद में रीढ़ की हड्डी में दर्द होने लगता है , अगर आपको बैठकर या लेटकर दर्द नही होता है और चलते ही दर्द शुरू हो जाता है तो आपको डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए

यह भी पढ़े :-   पेट दर्द का घरेलू उपचार ,कारण,पेट दर्द के प्रकार,पेट दर्द की समस्या,इलाज का तरिका 

रीढ़ की हड्डी में दर्द के कारण परहेज उपचार

रीढ़ की हड्डी में दर्द के आपको अलग अलग कारण देखने को मिलगे जो आपको निचे देखने को मिल जाएगे रीढ़ की हड्डी में दर्द के कारण इस प्रकार है

.   रीढ़ की हड्डी में दर्द का एक कारण है अगर आपको कोई चोट लगी हो फ्रेक्चर हुआ हो तो रीढ़ की हड्डी में दर्द होने का कारण होता है

.  रीढ़ की हड्डी में दर्द का एक कारण होता है की डिस्क डैमेज हो जाना रीढ़ की हड्डी में डिस्क होती है और इसमें पानी होता है अगर यह पानी कम होने लगे तो डिस्क डैमेज हो जाती है और दर्द होता है

.   माश्पेशियों में खिचाव होने के कारण भी रीढ़ की हड्डी में दर्द होता है और यह रीढ़ की हड्डी में दर्द का एक कारण होता है

.   माश्पेशियो में एठन का होना रीढ़ की हड्डी में दर्द का एक कारण होता है

.   देखा गया है की अगर आप बहुत अधिक वजन उठाते है तो रीढ़ की हड्डी में दर्द होने का एक कारण होता है इसलिए जादा वजन ना उठाए

.   एक ही जगह पर अधिक समय तक बेठे रहना भी रीढ़ की हड्डी में दर्द का एक कारण हो सकता है

.   जिम में अधिक मात्रा में वजन उठाना , वेट लिफ्टिंग करना रीढ़ की हड्डी में दर्द का एक कारण होता है

यह भी पढ़े :-  सिर दर्द के घरेलू उपाय,कारण,सिर दर्द के प्रकार,सिर दर्द टिक करने का तरीका | instant home remedies for headache in hindi

रीढ़ की हड्डी में दर्द के उपचार 

रीढ़ की हड्डी में दर्द में दर्द के कुछ घरेलू उपाय इस प्रकार है जानिए

.   दूध का करे सेवन अगर रीढ़ की हड्डी में दर्द है

अगर आपके रीढ़ की हड्डी में दर्द है तो आप दूध का सेवन कर सकते है दूध रीढ़ की हड्डी में दर्द के लिए बहुत फायदेमंद होता है दूध का सेवन हडियों और माश्पेशियों को मजबूत बनाता है और दर्द को कम करने में मदत करता है अगर आप दूध में सहद डालकर दूध का सेवन करते है तो आपको और भी जादा फायदा होगा क्युकी दूध में केल्शियम , प्रोटीन , विटामिन ए , विटामिन डी पाया जाता है दूध में केल्शियम होने के कारण यह रीढ़ की हड्डी में केल्शियम की कमी को होने नहीं देता है

.   विटामिन सी का सेवन करे

अगर आपको रीढ़ की हड्डी में दर्द की समस्या है तो आप विटामिन सी का सेवन करे इसे आपको दर्द में राहत मिलती है और आपको फायदा भी होगा और जैसा की आपको पता है विटामिन सी के बहुत से स्त्रोत होते है आप विटामिन सी वाले प्रदार्थ जैसे आंवला , नारंगी , निम्बू , टमाटर , संतरा , अंगूर , अमरुद , सेब , केला आदि का सेवन कर सकते है इसके अलावा आप दूध , हरा धनिया , पालग , मुली के पते , शलगम , पोदीना का सेवन कर सकते है इन सभी के अन्दर अछि मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है

.   भरपूर पानी का सेवन करे

आपको पता ही है की पानी हमारे शरीर के लिए कितना जादा जरुरी होता है और हमारा आधे से जादा शरीर पानी का बना होता है अगर हमारे शरीर में पानी की कमी हो जाए तो रीढ़ की हड्डी में दर्द के साथ साथ कई बीमारियाँ हो जाती है इसलिए भरपूर पानी का सेवन करे क्युकी पानी के अन्दर सल्फर , मैग्नेशियम , केल्शियम पाया जाता है हमारे शरीर में जब यूरिक एसिड की मात्रा बढती है तो रीढ़ की हड्डी में दर्द होता है और अगर हम अछि मात्रा में पानी का सेवन करते है तो आप रीढ़ की हड्डी में दर्द को कम कर सकते है इसलिए भरपूर पानी पिए कम से कम 8 गिलास हर रोज

.   मेथी के दाने है फायदेमंद रीढ़ की हड्डी के दर्द में

मेथी के दाने रीढ़ की हड्डी में दर्द को कम करने में मदत करता है मेथी के दाने में आयरन , केल्शियम , फास्फोरस , एंटी एम्फ्लेमेंट्री और एंटी ओक्सिडेंट जैसे गुण पाए जाते है इसके अलावा मेथी में विटामिन ए और विटामिन सी पाया जाता है जो रीढ़ की हड्डी में दर्द को कम करता है आपको रात को सोने से पहले मेथी को भिगोने के लिए रखनी है और सुबह मेथी के पानी का सेवन करना है यह आपके लिए फायदेमंद होगा और रीढ़ की हड्डी में दर्द को कम करने में मदत करेगा

.   मालिश करे सरसों के तेल के साथ

रीढ़ की हड्डी में दर्द को कम करने के लिए आप सरसों के तेल की मालिश कर सकते है इसके साथ ही आप लहसुन का इस्तेमाल कर सकते है इन दोनों के मालिश करने से आपको रीढ़ की हड्डी में दर्द से बहुत राहत मिलती है आप इन दोनों का एक लेप तेयार करे और दर्द वाली जगह पर लगाए इसे आपको दर्द से आराम मिलेगा आपको सरसों के तेल में लहसुन की कलियों को उबालना है और उसमे अजवाइन के दाने को मिलाना है और जब उबल जाए तो मिश्रण को छान ले और लगाए आपको फायदा होगा

नोट :-   

रीढ़ की हड्डी में दर्द कई कारण से हो सकते है और यह कारण गंभीर भी हो सकते है और उम्र के साथ होने वाले बदलाव के कारण भी एसा हो सकता है रीढ़ की हड्डी में दर्द के उपचार है परन्तु अगर आपको लगता है की आपको दर्द जादा है और कई दिनों से है तो आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे और डॉक्टर के कहे अनुसार चले क्युकी आप जितनी जल्दी टेस्ट करवाएगे आपको उतना फायदा होगा अगर आपको बेठने और लेटने में रीढ़ की हड्डी में दर्द से राहत मिलती है और चलने पर या खड़े रहने पर रीढ़ की हड्डी में दर्द होता है तो आपकों तुरंत डॉक्टर के पास जाना है इसलिए लापरवाही न करे

यह भी पढ़े :-   सिर दर्द की दवा टेबलेट नाम,अर्धा सिरह,सामान्य सिर दर्द

डिस्क्लेमर – जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर प्रकार से प्रयाश  किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी thedkz.com  की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है  एक अच्छी जानकारी के लिए ही हमारी टीम काम करती है

Leave a Comment