संचय और आयोजन क्या है | Reserve and provision meaning in Hindi

संचय और आयोजन क्या है | Reserve and provision meaning in Hindi

आज के समय मैं हर प्रकार के बिज़नेस मैं कुछ ना कुछ अनिश्चिताओ का सामना करना ही होता है इस सभी मुसीबत के लिए बिज़नेस को कुछ ना कुछ प्रबन्ध करना ही होता है किसी  हां एक बात जरुर ध्यान देना चाहिए बिज़नेस के सभी लाभों और शेयर मैं से कुछ बचा कर के रखना चाहिए ताकि अपनी वितीय स्थिति को मजबूत बना सके और जो लाभ आप बचाते है उस भाग को आयोजन (provisions) और संचय बनाकर रखा जाता है

आयोजन (provisions) और संचय दो अलग अलग शब्द है और इसका प्रयोग एक समान अर्थ के रूप मैं नही किया जा सकता है और कानून के दृष्टिकोण से दोनों को स्पष्ट रूप मैं परिभषित किया जाता है

आयोजन का अर्थ  | Provision meaning in Hindi

कम्पनी अधिनियम के अनुसार आयोजन से अभिप्राय ऐसी राशि से है जो सम्पतियो पर डेप्रिसिएशन  यानी उनके मूल्य मैं कमी लिए रखी जाए

या किसी ऐसे ज्ञात दायित्व liability  को पूरा करने के लिए रखी गयी राशि जिसको पर्याप्त शुद्धता के साथ (अनुमानित ) न किया जा सके यदि किसी ज्ञात दायित्व की राशि का शुद्धता से अनुमान नही लगाया जा सकता हो तो उसे आयोजन न कहकर अदत दायित्व (OUTSTANDING LIABILITY ) कहा जाता है

आयोजन के उधाह्र्ण

देनदारो पर छूट के लिए आयोजन

ये भी पढ़े   depreciation meaning in hindi | ह्रास (depreciation) क्या है

करो के लिए आयोजन

सम्पति का नवीकरण और मरमत के लिए

इस बात का ध्यान देना चाहिए की खर्चो और हानियों के लिए आयोजन चालू अवधि की आय के प्रति एक खर्चा है आयोजनों का निर्माण आयो और खर्चो के उचित मिलान को स्पष्ट करता है जिससे सही लाभ को ज्ञात किया जा सके

 संचय का अर्थ | meaning of Reserve

सामान्य शब्दों मैं संचय से अभिप्राय भविष्य की आवश्यकताओ के लिए कुछ राशि बचाकर रखना है इसलिए संचय से आशय ऐसी राशि से है जो फर्म के लाभों मैं से भविष्य की ज्ञात या अज्ञात अनिश्च्ताओ के लिए अलग से रखी जाती है इसे लाभ का बटवारा भी  कहते है और बिज़नेस संस्थाओ द्वारा अपनी वितीय स्थिति को मजबूत करने के लिए बनाया जाता है

साधारण भाषा मैं हम अपने लाभ और अन्य बचत मैं से निकालकर अलग रख दी जाती है और जिसका उदेश्य स्तिथि विवरण के दिन किसी ज्ञात दायित्व के मूल्य मैं कमी के लिए प्रबध करना नही है

संचय के कुछ example

सामान्य संचय ( general reserve )

पूंजीगत संचय (capital reserve )

लाभान्श समानीकरण संचय ( DIVIDEND EQUILISATION RESERVE )

विनियोग उतार चड़ाव कोष ( investment फ्लक्चुएशन FUND )

और इस बात का ध्यान देना चाइये यदि संचय की राशी को बिज़नेस से बहार विनियोग नही किया जाता है तो इसे संचय कहते है और यदि यह राशी बिज़नेस से बहार विनियोग कर दी जाती है तो इसे संचय कोष ( reserve FUND ) कहते है संचय लाभों का बटवारा या समायोजन है इसलिए इसे लाभ हानि खाते मैं नही दिखाया जाता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *