घुटनों में दर्द joint pain के लिए r73 homeopathic medicine का इस्तेमाल किया जाता है इसलिए आज हम r73 medicine इस्तेमला , फायदे , दुष्प्रभाव , सावधनियां , सामग्री के बारे में बताएगे

घुटनों में दर्द की समस्या आज के समय में आम बात हो गई है और यह समस्या सबसे ज्यादा 50 साल की उम्र में या उसके बाद ज्यादा देखने को मिल जाती है जिसके कारण चलने फिरने उठने बैठने में समस्या होती है

हमारे शरीर एक अंदर अलग अलग बहुत सी हडियाँ है और जहाँ जहाँ ये हडियाँ आपस में मिलती है उन्हें हम joint कहते है और जब किसी कारण इन joint में दर्द होता है तो उसे ही हम joint pain कहते है

हमारी घुटनों में दो हडियाँ होती है उपर की तरफ एक निचे की तरफ और बीच में joint होता है और इस joint के उपर की तरफ articular cartilage होते है और इसके नीचे एक नीले रंग का एरिया होता है

इसे हम joint containing synovial fluid कहते है परन्तु जब यह articular cartilage टूटने लग जाता है और यह synovial fluid कम हो जाता है तो हमारी दोनों हडियाँ आपस में टकराने लगती है

जिसके कारण घुटनो में दर्द होता है और इसी समस्या को हम आस्टियोआर्थराइटिस की समस्या कहते है आस्टियोआर्थराइटिस की समस्या के लिए आज हम आपको r73 medicine के बारे में जानकारी देंगे

r73 medicine क्या है – what is r73 homeopathic medicine uses in hindi

r73 medicine जर्मन की homeopathic medicine है जो की dr.reckeweg का एक ब्रांड है और जिसका इस्तेमाल joint pain के लिए किया जाता है r73 medicine को spondarthrin – drops for the joint के नाम से भी जानते है इसका price 259 रूपये है

r73 medicine के अंदर joint pain को ठीक करने के लिए कुछ homeopathic medicine मिली हुई है जैसे Argentum metallicum , Bryonia alba , Causticum , Ledum palustre , Acidum sulphuricum इन सभी medicine के बारे में निचे देखने को मिल जाएगा

r73 medicine का इस्तेमाल कैसे करे – r73 homeopathic medicine uses in hindi

r73 medicine का इस्तेमाल उम्र , लिंग , कोई नई या पुरानी बिमारी को ध्यान में रखकर डॉक्टर की सलाह के अनुसार किया जाता है ताकि आने वाले समय में आपको कोई समस्या न हो

r73 medicine को लेने के लिए आपको 1 चोथाई कप पानी लेना है और उसमे r73 medicine की 10 से 15 बुँदे डालनी है और उसका सेवन करना है आपको दिन में 3 बार r73 medicine को लेना है

एक समय में आपको 10 से 15 बुँदे ले और ध्यान रहे की r73 medicine को खाना खाने से आधे या एक घंटे पहले खाली पेट ले अगर आपको दर्द ज्यादा है तो आप शुरू में r73 medicine को दिन में 4 बार ले

और जब आराम मिल जाए तो इसे दिन में 2 या 3 बार ले अगर आपको आराम मिलता है तो कम से कम 2 महीने लगातार इसका सेवन करे अगर आपको 5 साल पुराना आस्टियोआर्थराइटिस है तो r73 medicine को 1 साल ले

(1) . r73 medicine का सेवन करे

बिमारी आस्टियोआर्थराइटिस , घुटनों में दर्द
मात्रा 10 से 15 drop एक समय में
दिन में कितनी बार ले दिन में 3 बार समस्या ज्यादा होने पर 4 बार ले
खाना खाने से पहले या बाद में खाना खाने से आधे घंटे पहले ले या बाद में
किसके साथ ले एक चोथाई कप पानी के साथ ले
सलाह डॉक्टर की सलाह ले
r73 medicine को डॉक्टर की सलाह के अनुसार ले

r73 medicine के फायदे – benefits of r73 medicine in hindi

r73 medicine के फायदे इस प्रकार है

(1) . घुटनों में दर्द (आस्टियोआर्थराइटिस) के लिए लाभकारी है

50 साल की उम्र के बाद joint में दर्द की समस्या होने लगती है एसा cartilage टूटने और synovial fluid कम होने के कारण होता है जिसके कारण दर्द सुजन होती है तो एसे में r73 medicine बहुत अच्छा असर दिखाती है r73 medicine cartilage को ठीक करती है synovial fluid को कम होने से रोकती है और इसको बढ़ाती है इसके लगातार सेवन से आस्टियोआर्थराइटिस की समस्या में आराम मिलता है

r73 medicine के दुष्प्रभाव – side effects of r73 medicine in hindi

आस्टियोआर्थराइटिस joint pain के लिए r73 medicine बहुत लाभकारी है और r73 medicine का हमारे शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है

परन्तु फिर भी आप सही मात्रा में r73 medicine का सेवन करे और अगर कोई दुष्प्रभाव होता है तो डॉक्टर से सलाह ले और जांच करवाए

r73 medicine की सावधानियाँ – precautions of r73 medicine in hindi

r73 medicine को लेने से पहले आपको कुच्छ बातो का ध्यान रखना चाहिए जो इस प्रकार है

(1) . डॉक्टर की सलाह ले

आप कभी भी अपनी मर्जी के अनुसार किसी भी मेडिसिन का सेवन न करे सबसे पहले अपनी समस्या की जाँच डॉक्टर से करवाए उसके बाद r73 medicine का सेवन करे

(2) . शराब का सेवन न करे

शराब आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक होती है इसी के साथ अगर आप r73 medicine के साथ या लेने के दोरान शराब का सेवन करते है तो r73 medicine का असर कम हो सकता है

(3) . चाय कॉफ़ी का सेवन न करे

जब भी आप r73 medicine का सेवन करते हो तो r73 medicine लेने के आधे या एक घंटे पहले या बाद में चाय कॉफ़ी का सेवन न करे

(4) . मांस का सेवन न करे

अगर आप r73 medicine का सेवन कर रहे है तो आपको किसी भी प्रकार के मांस का सेवन नहीं करना है इसे r73 medicine का असर कम हो सकता है

(5) . मुहँ को साफ रखे

आपको r73 medicine लेने से पहले या बाद में मुहँ को साफ करना है प्याज और लहसुन जैसे खाद्य प्रदार्थ का सेवन नहीं करना है

(6) . exp date को चेक करे

r73 medicine को लेने से पहले उसकी exp date को जरुर चेक करे क्युकी कई बार r73 medicine की exp date निकली होती है

अगर आप r73 medicine का सेवन कर रहे है तो उपर बताई गई बातो का ध्यान रखे

r73 medicine की सामग्री – ingredients of r73 medicine in hindi

r73 medicine के अंदर अलग अलग बहुत सी homeopathic medicine मिली हुई है जिसके बारे में आपको निचे देखने को मिल जाएगा

(1) . अर्जेन्टम मेटालिकम (argentum metallicum)

अर्जेन्टम मेटालिकम मुख्या रूप से जो synovial fluid कम होता है उसे सही करती है साथ ही हडियाँ आपस में घिसने के कारण जो दर्द होता है उसे ठीक करने के लिए synovial fluid बहुत लाभकारी है

(2) . ब्रायोनिया अल्बा (Bryonia alba)

अगर आपको चलने फिरने में समस्या होती है उठने बैठने में दर्द होता है घुटनों में सुजन बनी रहती है तो उसके लिए ब्रायोनिया अल्बा बहुत लाभकारी medicine है

(3) . कॉस्टिकम (Causticum)

जब हमारे घुटने में बहुत तेज दर्द होता है सुजन होती है चलने में उठने बैठने में समस्या होती है तो उसके लिए कॉस्टिकम बहुत लाभकारी medicine है

(4) . आर्निका (arnica)

आर्निका homeopathic medicine घुटनों में खून के संचार को बढ़ा देती है जिसे joint में हो रही सुजन और दर्द से बहुत आराम मिलता है आर्निका एसे में लाभकारी है

(5) . एसिडम सल्फ्यूरिकम (Acidum sulphuricum)

एसिडम सल्फ्यूरिकम मुख्या रूप से joint में टूटे हुए cartilage को ठीक करती है इसके साथ ही घुटने में हो रही सुजन और दर्द के लिए एसिडम सल्फ्यूरिकम लाभकारी है

(6) . लीडम पाल (Ledum palustre)

लीडम पाल मुख्या हमारे घुटने में synovial fluid को बढ़ाती है और घुटने में होने वाले दर्द और सुजन को कम करने में मदत करती है जो बहुत लाभकारी है

यह सभी homeopathic medicine r73 medicine में मिली हुई है जिसे r73 medicine का असर बहुत अच्छा देखने को मिलता है

r73 medicine के साथ दूसरी किस medicine का सेवन करे – Which other medicine should be taken along with r73 medicine

(1) . r73 medicine के साथ calcarea fluoricum 6x का सेवन करे

r73 medicine के साथ आप calcarea fluoricum 6x ले इसे आस्टियोआर्थराइटिस की समस्या में बहुत ज्यादा फायदा मिलता है आप calcarea fluoricum 6x की 6 गोली दिन में 3 या 4 बार ले सकते है इसकी गोली को आपको चूसकर सेवन करना है इसकी dose के लिए आप डॉक्टर की सलाह ले

r73 medicine को कैसे रखे – how to store r73 medicine in hindi

r73 medicine को आपको हमेशा ही समान्य तापमान में रखना चाहिए इसके लिए आप r73 medicine को अपने कमरे के सामान्य तापमान में रख सकते है

आपको ध्यान रखना है की आपको r73 medicine को ज्यादा गर्म व ज्यादा ठंडी जगह से दूर रखना है इसे r73 medicine का असर कम हो सकता है

निष्कर्ष

आशा करते है की आपको r73 homeopathic medicine के बारे में पता चल गया होगा और अब आपको इसे जुडी कोई समस्या नही होगी और आप r73 medicine का सही से इस्तेमाल करेगे एक एक बात का ध्यान रहे की r73 medicine को लेते समय डॉक्टर की सलाह जरुर ले

related topic

गठिया रोग क्या है – arthritis in hindi

गठिया में कौन सा तेल लगाना चाहिए

जानिए कुछ सवालो के जवाब

Q . r73 medicine का सेवन कितने महीने कर सकते है ?

ans . r73 medicine का सेवन आप 2 महीने लगातार कर सकते है |

Q . पुरानी आस्टियोआर्थराइटिस की समस्या में r73 medicine को कितने समय तक ले सकते है ?

ans . अगर आपको 5 साल पुराना आस्टियोआर्थराइटिस है तो आप r73 medicine का सेवन 1 साल तक कर सकते है डॉक्टर की सलाह के अनुसार |

Q . क्या प्रेगनेंसी के दोरान r73 medicine को ले सकते है ?

ans . प्रेगनेंसी के दोरान r73 medicine के सेवन से पहले आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए |

Q . क्या स्तनपान करवाने वाली महिला r73 medicine का सेवन कर सकती है ?

ans . स्तनपान करवाने वाली महिला को r73 medicine के सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए |

Q . r73 medicine को लेने के कितने समय के बाद कुछ खाना चाहिए ?

ans . r73 medicine लेने के आधे या 1 घंटे बाद ही कुछ खाना चाहिए |

डिस्क्लेमर – जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर प्रकार से प्रयाश  किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी thedkz.com की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है

Categorized in: