r42 homeopathic medicine uses in hindi

r42 homeopathic medicine uses in hindi medicine reckeweg (जर्मन) कंपनी के द्वारा बनाई जाती है r42 का मुख्या कार्य है वीनस सिस्टम में हुई अलग अलग प्रकार की समस्या को खत्म करना

हमारे शरीर में वीनस सिस्टम उन नालियों को कहाँ जाता है जो शरीर के किसी भी पार्ट को हमारे हार्ट से जोडती है और इसे हम नशे भी कह सकते है अगर इन नालियों में सुजन आ जाती है

या किसी प्रकार की कोई रूकावट आ जाती है तो उस समय r42 homeopathic medicine नालियों की समस्या को दूर करने के लिए सबसे अछि medicine है जो reckeweg द्वारा बनाई गई है

r42 homeopathic medicine का तीन बिमारी में सबसे जादा इस्तेमाल किया जाता है उनमे से सबसे पहला है Varicose veins दूसरा है  Varicosele तीसरा है  piles इन तीनो बीमारी में r42 homeopathic medicine का इस्तेमाल किया जाता है

r42 homeopathic medicine uses in hindi

r42 homeopathic medicine uses in hindi का इस्तेमाल Varicose veins ,  Varicosele , piles में किया जाता है जिसके बारे में आपको निचे देखने को मिल जाएगा r42 का इस्तेमाल बचो को नहीं करना चाहिए

r42 homeopathic medicine है जिसको डॉक्टर के निर्देशा अनुसार दिया जाता है इसके साथ ही r42 मरीज के उम्र के अनुसार और उसके बिमारी के अनुसार की कोई पुरानी बिमारी ना हो इन सभी को जाँच करके दिया जाता है

अगर आपको Varicose veins ,  Varicosele , piles  इनमे से कोई समस्या है तो r42 लेने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरुर ले तभी इस्तेमाल करे देखा गया है की कई बार यह पुरे तरीके से फायदा नहीं दे पाती है

r42 homeopathic medicine को आप दिन में 3 बार ले सकते है आपको इसकी 15 बुँदे ( एक समय में ) आधे कप पानी में डालकर खाना खाने से पहले लेनी है आप चाहे तो 10 बुँदे भी ले सकते है

मेडिसिन दिन में कितनी बार          खाना खाने से पहले या बाद में                  उम्र                              किसके साथ ले 

दिन में 3 बार ले                                खाना खाने से पहले                          वयस्क और बुजुर्ग                      पानी के साथ ले

r42 homeopathic medicine benefits in hindi 

r42 homeopathic medicine निचे दी गई बीमारियों में बहुत फायदा करती है जो इस प्रकार है

.  Varicose veins

Varicose veins यह बिमारी हमारे शरीर के पेरों में होती है जब यह विन्स मोटी हो जाती है या कह सकते है इसमें सुजन हो जाती है यह जाली जैसे दिखाई देने लगती है तो इसे Varicose veins कहते है

और जब यह विन्स बड़ी हो जाती है तो यह फट भी सकती है जिसे खून बहता है और रुकता नहीं है आगे चलकर इसमें छाले भी हो जाते है यह मुख्या रूप से 40 के उम्र के बाद जादा देखने को मिलती है

इमसे सूजी हुई और मुड़ी हुई नशों को स्पाइडर वेंस भी कहाँ जाता है Varicose veins को हम सूजी हुई नशे भी कह सकते है इसमें reckeweg की r42 homeopathic medicine के इस्तेमाल से बहुत लाभ मिलता है और मरीज जल्दी ठीक होता है

.  Varicosele

Varicosele एक आम समस्या होती है जो पुरुषो को होती है , पुरुषो के अंडकोष में जो सुक्राणु बनते है उसे बने के लिए हमारे शरीर के तापमान से कम तापमान की जरूरत होती है दोनों अंडकोष के चारो तरफ नशों का जाल होता है जिसमे खून बहता है

और यह नशों का जाल तापमान को बनाए रखता है जब इन नशों के जाल में सुजन की समस्या हो जाती है नशे बड़ी हो जाती है तो इस समस्या को हम Varicosele कहते है और r42 homeopathic medicine इन नशों की सुजन कम करने में मदत करता है

.  piles

piles को बवासीर भी कहाँ जाता है piles हमारे मल के द्वार में सूजी हुई नशे होती है इसमें आपके मल के साथ रक्त आने की समस्या हो जाती है मल त्याग होते ही रक्त निकलता है जो जमा होता है

piles का जो मुख्या कारण होता है मल त्याग करते समय अधिक जोर लगाना जिसे मलदवार पर अधिक जोर पड़ जाता है जिसके कारण piles की समस्या होती है

कब्ज के कारण भी piles हो जाता है piles के लिए भी r42 homeopathic medicine बहुत अधिक लाभकारी होती है यह नशों की सुजन को कम कर देता है जिसे piles की समस्या खत्म होती है

इन तीनो बिमारी में r42 homeopathic medicine का इस्तेमाल किया जाता है अगर आपको इनमे से कोई भी समस्या है तो सबसे पहले डॉक्टर से जाँच करवाए 

r42 homeopathic medicine precautions in hindi 

r42 homeopathic medicine uses in hindi के बारे में तो आपको पता चल गया होगा परन्तु इसके इस्तेमाल के साथ साथ आपको कुछ सावधानियां बरतनी होगी जो इस प्रकार है

.  एलर्जी की समस्या में

r42 homeopathic medicine आयुर्वेदिक medicine है परन्तु फिर भी आपको सावधानियाँ रखनी पड़ती है अगर आपको इस medicine से किसी प्रकार है एलर्जी की समस्या है तो आपको r42 homeopathic medicine का इस्तेमाल नहीं करना है अगर कर रहे है तो डॉक्टर की सलाह जरुर ले

.  कोई पुरानी बिमारी

r42 homeopathic medicine उम्र , लिंग और कोई पुरानी बिमारी को देखकर दी जाने वाली medicine है अगर आपको पहले कोई पुरानी बिमारी थी जो ठीक हो गई हो या है तो r42 homeopathic medicine के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर की सलाह ले उसके बाद इस्तेमाल करे

.  एल्कोहल के साथ ना ले

आपको हमेशा एक बात का पूरा ध्यान रखना है की r42 homeopathic medicine को आपको एल्कोहल के साथ इस्तेमाल नहीं करना है क्युकी यह आयुर्वेदिक medicine है तो यह एल्कोहल के साथ मिलकर आपको नुक्सान कर सकती है वेसे आपको एल्कोहल का सेवन नहीं करना चाहिए

.  ड्राइव के समय ना ले

r42 homeopathic medicine का इस्तेमाल करते समय आपको एक बात का और ध्यान रखना है की इस medicine के इस्तेमाल के बाद आप कुछ समय ड्राइव ना करे क्युकी r42 homeopathic medicine से सुस्ती और नींद आ सकती है जिसे ड्राइव करते समय समस्या उत्पन हो सकती है

.  बच्चो से दूर रखे

r42 homeopathic medicine बच्चो के लिए नहीं है इसलिए ध्यान रखे की इसका इस्तेमाल बचे ना कर पाए इसे एसी जगह पर राखे जिसे बच्चे इसको ना ले नही तो आपको समस्या हो सकती है

r42 homeopathic medicine side effect in hindi 

r42 homeopathic medicine के अभी तक कोई side effect देखने को नहीं मिले है यह एक आयुर्वेदिक medicine है जिसका हमारे लिए बहुत अधिक फायदा होता है

परन्तु फिर भी हमें r42 homeopathic medicine को अपनी उम्र , लिंग , कोई बिमारी , सावधानियों को ध्यान में रखते हुए डॉक्टर की सलाह के अनुसार लेना चाहिए ताकि किसी प्रकार की कोई समस्या ना हो

r42 homeopathic medicine ingredients in hindi 

r42 homeopathic medicine में अलग अलग ingredients मिलाए जाते है जो आपको निचे देखने को मिल जाएगे

.  Aesculus

r42 के अन्दर जो सबसे पहली medicine है वह aesculus इसका इस्तेमाल मुख्या रूप से piles में किया जाता है और साथ ही जिन लोगो को बहुत जादा कब्ज की समस्या होती है या उनकी शिराए बहुत अधिक फेलने लगती है उसके लिए aesculus बहुत फायदेमंद होती है

.  Belladonna

r42 के अन्दर जो दूसरी medicine है वह है belladonna जो हमारे शरीर के अन्दर किसी भी प्रकार की सुजन को कम करने के लिए फायदेमंद होता है अगर आपको शरीर में कही पर भी नशो में सुजन या दर्द की समस्या होती है तो belladonna फायदा करती है और सुजन को खत्म करती है

.  Secale

secale जो r42 में पाई जाती है यह खून के स्त्राव के लिए बहुत फायदा करती है जिन लोगो के शरीर में खून का स्त्राव कम हो जाता है साथ ही वहा का हिसा ठंडा होने लगता है नीला दिखाई देने लगता है उसके लिए seclae फायदा करती है

.  Mezereum

जब हमारे वीनस सिस्टम में खून रुकने लगता है जिसके कारण उस जगह पर सुजन हो जाती है खुजली होने लगती है जिसके कारण धबे होने लगते है उसके लिए mezereum जो r42 के अन्दर पाई जाती है बहुत फायदा करती है खुजली और सुजन को कम करने के लिए

.  Carduus marianus

Carduus marianus भी r42 के अन्दर पाए जाने वाली medicine है और इसका कार्य है की जब नशों में सुजन या हार्डनेस होने के कारण रूकावट हो जाती है उस समय r42 में पाए जाने वाली Carduus marianus उस रूकावट को खत्म करता है और नशों के कार्य को खोलता है

.  Calcium fluoratum

Calcium fluoratum हमारे शरीर में बहुत फायदा करती है जब Varicosele की समस्या के कारण हमारी नशे हार्ड होने लगती है उस जगह वाला हिसा हार्ड हो जाता है इसके लिए भी Calcium fluoratum बहुत अधिक फायदा करती है

उपर दिए गए सभी ingredients r42 homeopathic medicine में पाए जाते है और यह r42 अलग अलग ingredients होने के कारण सभी प्रकार की समस्या को ठीक करती है 

r42 का प्रेगनेंसी में भी इस्तेमाल किया जा सकता है 

r42 homeopathic medicine आयुर्वेदिक medicine है जिसका side effect नहीं है और प्रेगनेंसी के दोरान अगर किसी महिला को Varicose veins ,  Varicosele , piles की समस्या हो जाती है

तो वह r42 homeopathic medicine का इस्तेमाल आसानी से कर सकती है परन्तु फिर भी इसके इस्तेमाल से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह लेना जरुरी है r42 homeopathic medicine में प्लेसेंटा मेडिसिन होती है

जो प्रेगनेंसी के दोरान हार्मोन की जो इन्बेलंसिंग होती है और इसके कारण Varicose veins की समस्या हो जाती है उन महिलाओं के लिए r42 homeopathic medicine बहुत फायदेमंद होती है

निष्कर्ष 

आशा करते है की आपको r42 homeopathic medicine uses in hindi के बारे में पता चल गया होगा Varicose veins ,  Varicosele , piles के लिए बहुत ही अछि medicine है अगर आपको इनमे से कोई समस्या है तो आप पहले डॉक्टर की सलाह ले जाँच करवाए अपनी मर्जी से किसी भी मेडिसिन का इस्तेमाल ना करे

related topic 

r41 homeopathic medicine uses in hindi

crocin tablet uses in hindi-क्या है ,इस्तेमाल,फायदे,साइड इफ़ेक्ट,सावधानियाँ,उपयोग,खुराक

zincovit tablet uses in hindi-लाभ फायदे,नुकसान,प्राइस,खुराक,सावधानियाँ,इस्तेमाल,विटामिन

saridon tablet uses in hindi-सेरीडोन टेबलेट,साइड इफेक्‍ट,इस्तेमाल,लाभ,सावधानियाँ,खुराक,सामग्री,फायदे

aspidosperma mother tincture uses in hindi,क्या है,फायदे,नुकसान,इस्तेमाल,प्रेगनेंसी

जानिए कुछ सवालों के जवाब 

Q . क्या R42 Homeopathic Medicine हमारे लीवर के लिए ठीक है या नहीं ?

ans . R42 Homeopathic Medicine हमारे लीवर के लिए बिलकुल ठीक है परन्तु फिर भी डॉक्टर की सलाह जरुरी है |

Q . R42 Homeopathic Medicine हमारी किडनी के लिए ठीक है ?

ans . R42 Homeopathic Medicine के इस्तेमाल से हमारी किडनी पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पाड़ता है परन्तु लेने से पहले डॉक्टर की सलाह ले |

Q . इसकी एक डोस भूलने पर अगली डोस के साथ पहली डोस ले सकते है या नहीं ?

ans . नहीं , अगर आप पहली डोस भूल जाते है तो अगली डोस के साथ इसका सेवन ना करे इसे आपको नुकसान हो सकता है |

Q . क्या बच्चो के लिए यह सुरक्षित है ?

ans . R42 Homeopathic Medicine बच्चो के लिए सही नहीं है इसलिए इसका इस्तेमाल बच्चे ना करे |

डिस्क्लेमर – जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर प्रकार से प्रयाश  किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी thedkz.com  की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है

Leave a Comment