r12 homeopathic medicine का इस्तेमाल मुख्या रूप से धमनियों में रुकावट और हार्ट अटैक की समस्या को ठीक करने के लिए किया जाता है यह dr reckweg की medicine है जो जर्मन में बनाई जाती है

आज के समय में धमनियों में रुकावट की समस्या हर 10 में से 1 व्यक्ति को जरुर है जिसके कारण उन्हें हार्ट अटैक भी आने लगता है इस समस्या का मुख्या कारण गलत खान पान होता है

धमनियों में रुकावट का मुख्या कारण तेल होता है जो हम रोज खाते है आपने देखा होगा की बहुत से लोग अपने खाने में अधिक तेल का इस्तेमाल करते है और यह तेल ही धमनियों में रुकावट का कारण बनता है

हार्ट का मुख्या कार्य पंप करके शरीर में खून को पहुचना होता है और उसके बाद खून वापिस हार्ट तक आता है और हार्ट दोबारा पंप करता है इस क्रिया के लिए हार्ट में 2 coronary artery होती है

एक right coronary artery और दूसरी left coronary artery और यह बहुत पतली होती है और जब आप अधिक तेल का सेवन करते है और लगातार कई सालो से करते आ रहे है

तो तेल खून के माध्यम से left coronary artery में जाता रहता है और जम जाता है और इसके साथ ही कुछ ब्लड सेल्स भी जम जाते है और दोनों के कारण थका बन जाता है

और इस थके के कारण खून आगे नहीं जा पाता है जिसके कारण मसल्स सुख जाती है जिसके कारण आपको हार्ट अटैक जैसी समस्या होने लगती है इसलिए तेल का सेवन बहुत कम करे

इसके अलावा r12 medicine धमनियों में रुकावट और हार्ट अटैक की समस्या को कम करने के लिए बहुत लाभकारी है और आपको फायदा होगा

अगर आपकी left coronary artery में 50 से 60 % थका बन गया है तो आप r12 medicine ले सकते है आपको बहुत फायदा होगा जानते है r12 medicine के बारे में

r12 homeopathic medicine uses in hindi

r12-homeopathic-medicine

r12 medicine का इस्तेमाल उम्र , लिंग , कोई नई या पुरानी बिमारी को ध्यान में रखकर डॉक्टर की सलाह के द्वारा किया जाता है ताकि बाद में कोई समस्या उत्पन न हो

अगर आपको धमनियों में रुकावट और हार्ट अटैक की समस्या है तो आप पहले डॉक्टर की सलाह ले उसके बाद ही आप r12 medicine का इस्तेमाल करे

r12 medicine के इस्तेमाल से पहले आपको ध्यान देना है की जब तक आप थोडा अच्छा महूसस न करने लगे तब तक नमक का सेवन न करे बाद में आप थोडा नमक का इस्तेमाल कर सकते है

धमनियों में रुकावट और हार्ट अटैक की समस्या में आपको r12 medicine की 10 से 15 ड्राप थोड़े से पानी में मिलाकर लेनी है दिन में 3 बार किसी भी समय आप r12 medicine ले सकते है

और अगर आपको ज्यादा समस्या है तो आप शुरू में 4 – 6 बार इसका इस्तेमाल दिन में कर सकते है 15 ड्राप के अनुसार उसके बाद आराम मिल जाए तो 1 या 2 बार ले पुरे दिन में

और अगर गोइटर और थायरोटोक्सीकोसिस की समस्या है तो आपको r12 medicine का इस्तेमाल दिन में 1 बार करना है 15 ड्राप के अनुसार 4 से 6 हफ्ते तक

(1) . व्यस्क और बुजुर्ग

बिमारी धमनियों में रुकावट
मात्रा 15 ड्राप
दिन में कितनी बार ले दिन में 3 बार ले
किस समय ले किसी भी समय ले सकते है
किसके साथ ले पानी के साथ ले
सलाह डॉक्टर की सलाह ले
अगर शुरू में समस्या ज्यादा है तो आप दिन में 4 से 6 बार ले सकते है और आराम मिलने पर 1 या 2 बार ले

benefits of r12 medicine in hindi

r12 medicine के फायदे आपको निचे देखने को मिल जाएगे जो इस प्रकार है

(1) . धमनियों में रुकावट में लाभकारी है

r12 medicine धमनियों में रुकावट को रोकने के लिए बहुत लाभकारी है अगर अधिक तेल का सेवन करके आपकी धमनियों में रुकावट हो गई है और थका बन गया है तो r12 medicine बहुत लाभकारी है

यह धमनियों में रूकावट होने से रोकती है और हार्ट अटैक के जोखिम को कम करती है पर आप एक बात का ध्यान रखे की आप तेल का इस्तेमाल बहुत कम कर दे अगर 2 चमच ले रहे है तो आधे चमच तेल का सेवन करे

(2) . हार्ट अटैक के लिए लाभकारी है

जिन लोगो को धमनियों में रुकावट की समस्या के कारण हार्ट अटैक का खतरा बना रहता है तो आप r12 medicine का सेवन कर सकते हो आपको बहुत फायदा होगा

धमनियों में रुकावट के कारण जो थका बनता है जिसके कारण खून आगे नहीं जाता है और मसल्स सुख जाते है उनके लिए r12 medicine लाभकारी है यह उस थके को होने से रोकती है

(3) . थायरोटोक्सीकोसिस में लाभकारी है

थायरोटोक्सीकोसिस की समस्या थायराइड ग्रंथि के कारण होती है जब यह थायराइड ग्रंथि अधिक मात्रा में हार्मोन को निकालने लग जाती है तो इसे ही थायरोटोक्सीकोसिस कहाँ जाता है

थायरोटोक्सीकोसिस की समस्या के लिए भी r12 medicine बहुत लाभकारी है इस समस्या में होने वाले लक्ष्ण को r12 medicine खत्म कर देती है आप इसका इस्तेमाल कर सकते है

इन सभी लक्षणों में r12 medicine लाभकारी है

(1) . चलने में समस्या होना

(2) . अपच की समस्या होना

(3) . कमजोर नर्वस सिस्टम होना

(4) . चक्र आना

(5) . कमजोरी होना

(6) . भूलने की बिमारी होना

side effects of r12 medicine in hindi

r12 medicine के दुष्प्रभाव के बारे में अभी तक कोई मुख्या सुचना नहीं मिली है आप इसका इस्तेमाल आसानी से कर सकते है परन्तु आपको कुछ बातो का ध्यान रखना है

और अगर आप r12 medicine का इस्तेमाल सही तरीके से और सही मात्रा में करते है तो आपको किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं होगी इसके साथ ही डॉक्टर की सलाह जरुर ले

precautions of r12 medicine in hindi

r12 medicine धमनियों में रुकावट और हार्ट अटैक की समस्या के लिए बहुत लाभकारी है परन्तु इसके इस्तेमाल से पहले आपको कुछ बातो का ध्यान रखना जरुरी है आपको इस medicine से जुडी कुछ सावधानियाँ निचे देखने को मिल जाएगी

(1) . r12 medicine से एलर्जी है तो न ले

अगर आपको r12 medicine से किसी प्रकार की एलर्जी की समस्या है तो आपको इस medicine का सेवन नहीं करना है और डॉक्टर से सलाह जरुर लेनी है

(2) . एल्कोहल का सेवन न करे

अगर आप r12 medicine का इस्तेमाल कर रहे है और आपको फायदा हो रहा है तो आपको ध्यान रखना है की आप एल्कोहल का सेवन बिलकुल न करे जब तक आप r12 medicine ले रहे है

(3) . नमक का सेवन न करे r12 medicine लेते समय

r12 medicine लेते समय या ले रहे है तो आपको ध्यान रखना है की आपको नमक का सेवन नहीं करना है अगर आपको आराम मिल जाता है तो आप फिर थोड़ी मात्रा में नमक का सेवन कर सकते है

(4) . तेल का सेवन कम करे खाने में

धमनियों में रुकावट और हार्ट अटैक की समस्या का कारण तेल होता है जिसका इस्तेमाल हम खाने में करते है इसलिए अगर आप r12 medicine का सेवन कर रहे है तो आपको तेल का सेवन कम करना है और अगर आपको धमनियों में रुकावट और हार्ट अटैक की समस्या है तो आप तेल का सेवन कम ही कर दो

ingredients of r12 medicine in hindi

r12 medicine में अलग अलग बहुत सी medicine मिली हुई है जो आपको निचे देखने को मिल जाएगी जो इस प्रकार है

(1) . फास्फोरस (phosphorus)

(2) . अर्निका मोंटाना (arnica montana)

(3) . अर्सेनिकम (arsenicum iodatum)

(4) . ओरम म्यूरिएटिकम नैट्रोनेटम (aurum muriaticum natronatum)

(5) . बेरियम म्यूरिएटिकम (barium muriaticum)

(6) . कैल्केरिया आयोडेटा (calcarea iodata)

(7) . कोनियम मैकुलेटम (conium maculatum)

(8) . ग्लोनाइनम (glonoinum)

(9) . काली आयोडेटम (kali iodatum)

(10) . प्लंबम एसिटिकम (plumbum aceticum)

do not use r12 medicine in these diseases in hindi

अगर आपको निचे दी गई समस्या में से कोई भी समस्या है तो आप r12 medicine का इस्तेमाल न करे और एक बार डॉक्टर से सलाह जरुर ले

(1) . हाइपरकलेमिया की समस्या में r12 medicine न ले

(2) . गुर्दे की समस्या में r12 medicine न ले

(3) . कैल्शियम की कमी होने पर r12 medicine न ले

r12 medicine को स्टोर करके कैसे रखे

आपको हमेशा r12 medicine को सामान्य तापमान पर ही रखना चाहिए यही सबसे अच्छा तरीका होता है r12 medicine को स्टोर करके का

बहुत से लोग r12 medicine को गर्मी में और बहुत से ठंडी जगह पर रखते है यह दोनों ही तरीके गलत है इसे इस medicine का असर नहीं होगा इसलिए सामान्य तापमान पर ही r12 medicine को रखे

निष्कर्ष

आशा करते है की आपको r12 homeopathic medicine के बारे में पता चल गया होगा और इसे जुडी सभी जानकारी मिल गई होगी अगर आप इसका इस्तेमाल करना चाहते है तो डॉक्टर की सलाह बहुत जरूरी होती है अगर left coronary artery में 50 से 60 % थका बना है तो आप इसका इस्तेमाल कर सकते है

related topic

एथेरोस्क्लेरोसिस क्या है – Atherosclerosis in Hindi | धमनियों में रुकावट के कारण लक्ष्ण जांच इलाज

r2 homeopathic medicine का इस्तेमाल हार्ट की समस्या में किया जाता है

जानिए कुछ सवालो के जवाब

Q . क्या प्रेगनेंसी के दोरान r12 medicine का इस्तेमाल कर सकते है ?

ans . प्रेगनेंसी के दोरान r12 medicine के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से सलाह लेना बहुत जरुरी होता है |

Q . क्या स्तन पान करवाने वाली महिला पर r12 medicine का कोई दुष्प्रभाव हो सकता है ?

ans . इसके बारे में कोई मुख्या सुचना नहीं मिली है अगर आप सही मात्रा और सही तरीके से इसका इस्तेमाल करती हो तो आपको कोई दुष्प्रभाव नहीं होगा |

डिस्क्लेमर – जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर प्रकार से प्रयाश  किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी thedkz.com  की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है

Categorized in: