पपीता खाने से क्या होता है जाने पपीता के 30 फायदे

आज हम आपको बतायेगे की  पपीता खाने से क्या होता है और किन बीमारियों मैं पपीता काम आता है चलो जानते है

पपीता एक एसा फल है जिसे भारत में बहुत चाव से खाया जाता है और पपीता खाने में बहुत अच्छा लगता है | और कचे पपीते को सब्जी बनाने में भी इस्तेमाल किया जाता है | पपीता बहुत सी बीमारियों को दूर करने में सहायक है और यह तवचा के लिए भी बहुत अच्छा होता है | इसलिए आपको पपीता रोज खाना चाहिए | जानते है पपीता के फायदे

पपीता खाने से क्या होता है जाने पपीता के फायदे और नुकसान

Contents

2 .पपीता खाने से क्या होता है

(i) हृदय रोग में फायदेमंद

पपीता हृदय रोग में बहुत फायदेमंद है , क्युकी पपीते के अन्दर बहुत फाइबर , पोटाशियम , विटामिन होता है जो हमारे हृदय रोग को बहुत कम करता है क्युकी पपीता खाते समय हम पोटाशियम जायदा ग्रहण करते है और सोडियम कम इसलिए पपीता हमारे लिए फायदेमंद होता है

(ii) पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है पपीता

पाचन क्रिया को भी बेहतर बनाता है पपीता , पपीते में पपेन नामक एन्जाइम की मात्रा अधिक होने के कारण यह पाचक क्रिया को उतेजित करने में बहुत अच्छा होता है | इस फल में  पानी और घुलनशील फाइबर होता है जिसके कारण भी पाचन क्रिया को सही रखने में मदत मिलती है | यह आंतो के उचित कार्यो को बढाता है और कब्ज को दूर करता है | इसके अलावा इसमें विटामिन e और विटामिन c होता है जो प्रदांत केंसर को नहीं होने देता |

(iii) आँखों की सुरक्षा में मदत

आँखों की सुरक्षा में मदत

आँखों के लिए भी पपीता बहुत अच्छा होता है | पपीते में विटामिन a विटामिन b और विटामिन e होने के कारण पपीता आँखों के लिए बहुत अच्छा होता है | केरोटिन आइटीन गुलुटेन और चेक सेंटिन भी होता है जो अधिक रौशनी वाले चीजो से पपीता हमारी आँखों की रक्षा करता है |क्यकी कई बार नीला प्रकाश हमारी आँखों की रेटिना को खराब करता है , पपीता इस प्रकाश से भी हमारी आँखों को बचाता है |

(iv) गठिया में उपयोगी

पपीते में बहुत से एंटी इन्फ्ल्युमेंट एंजाइम होते है जो गठिया के कारण होने वाले दर्द से हमें राहत देते है , दर्द कम करता है | पपीते में पपेन और चाइमोपेन नामक दो और प्रोटीन एंजाइम होते है जो संधि शोध से जुडी सुजन को कम करते है | पपीते में विटामिन a , c और e की अधिक मात्रा भी सुजन को कम करने के लिए बहुत प्रभावी होते है |

(v) तवचा को साफ़ करने में सहायक

 तवचा को साफ़ करने में सहायक

पपीता का सबसे अच्छा फायदा तवचा के लिए होता है | अगर पपीते को रोजाना खाया जाए तो यह तवचा को साफ़ करने में बहुत असर दार होता है | पपीते में बहुत से ऐसे घटक होते है जो  तवचा को साफ़ करने में  मदत करता है , पपीते को फेस पेक के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता  है | पपीता मुहासों को कम करने में भी मदत करता है | यह हमारे फेस को जवा रखता है |

(vi) बालो के लिए लाभदायक पपीता

बालो के लिए लाभदायक पपीता

बालो के लिए भी बहुत अच्छा होता है पपीता यह हमारे बालो को मजबूत बनाता है | क्युकी इसमें बहुत सारे खनिज , विटामिन एन्जय्मो से भरपूर होता है जिसे यह बालो के विकास और मजबूत करता है | यह बालो के विकास में भी वृद्धि करता है | और पपीते का इस्तेमाल रुसी को भी दूर करने के लिए किया जाता है | पपीते के रस को आप कंडीसनर के रूप में इस्तेमाल कर सकते है |

(vii) केंसर से बचाव में सहायक

यह केंसर को भी कम करता है , पपीते में बहुत से योगिक है जो केंसर के होने को कम करता है , और कैंसर को आगे नहीं बढ़ने देते इसमें निहित एंटीओक्सिडेंट , लाइकोपिन , बीटाकेरोटिन और केरोतिनाईट होते है जो केंसर के जोखिम को कम करने के लिय बहुत असरदार होते है | आइसोथियो साइनेड पपीते में शामिल है जो केंसर को रोकने के लिए शरीर से सव्भाविक कार्सिनिनो जेन्स को नष्ट कर देते है | और केंसर को कम करने वाली कार्य शीलता को बढ़ा देते है |

(viii) वजन कम करता है पपीता

वजन कम करता है पपीता

पपीता वजन को कम करने में भी बहुत सहायक होता है | पपीते में उपयुक्त विटामिन a और c पोटाशियम और पोलेट फाइबर जेसे पोषक तत्व होते है जो वजन को कम करने में मदत करता है | इसमे एक फाइबर होता है जो हमारे पेट को भरा हुआ महसूस कराता है जिसे हमें वजन कम करने में मदत मिलती है | यह कब्ज होने से भी रोकता है | इसमें नामका पेपेन हमारे वजन को कम करता है | पपीते में केलेस्ट्रोल के साथ साथ वसा से भी मुक्त होता है | पपीता वजन कम करने वालो के लिए सबसे उतम आहार होता है |

(Xi) लीवर को बनाता है मजबूत

पपीता लीवर को सही रखने में बहुत फायदेमंद होता है , पपीते को आप निम्बू के रस के साथ ले सकते है यह सुबहे खाली पेट खाने से इसे लीवर में कोई प्रोबल नहीं होती है | क्युकी यह कब्ज को दूर करता है इसलिए इसे रोज खाना फायदेमंद है |

3 . पपीता खाने का सही समय क्या होता है

अगर आप डेली पपीता खाते है तो आपको पपीता खाने का सही समय पता होना बहुत जरुरी है |क्युकी सही समय पर खाने से ही यह आपके शरीर को फायदा देगा | अगर आप बिना किसी टाइम के पपीता खाते है तो वो आपके शरीर को जायदा फायदा नहीं देगा ,और गलत तरीके से खाने से साइड effect भी हो सकते है |

और पढ़े –आम के पत्ते के फायदे 20 | benefits of mango leaves in hindi

पपीता खाने का सबसे सही समय है सुबहे 5 बजे से लेकर 9 बजे तक , यह सबसे अच्छा टाइम होता है पपीता खाने का | इस टाइम में पपीता खाने से यह अच्छी तरीके से पचेगा और आपके शरीर को लगेगा | जिनको पीलिया , हाईब्लड प्रेसर , कब्ज होना , आँखों की रौशनी का कम हो जाना , इन सब प्रोब्लम को पपीता ठीक कर सकता है अगर सुबहे 5 से 9 के बीच खाया जाये |

4 . पपीता खाने का सही तरीका क्या है

पपीते की ताशिर गर्म होती है , जिनका शरीर गर्म होता है उनको पपीते का सेवन कम करना चाहिए | गर्मियों के मोसम में पपीता नहीं खाना चाहिए क्युकी पपीता पहले से गरम होता है और गर्मी में खाने से यह हमारे शरीर की गर्मी को और बढ़ा देता है |

पपीते को आप नार्मल तरीके से खा सकते है, पिस काटकर , पपीते का आप जूस बनाकर भी पि सकते है | कचे पपीते की आप सब्जी बनाकर भी खा सकते है और इसका फ्रूट सेलेड बना कर भी खा सकते है |

5 . पपीता खाने के बाद क्या ना खाए जाने

पपीता खाते समय एक बात का ध्यान रखे की आप खटे फल ना खाए , पपीते के साथ कभी खटे फल नहीं खाने चाहिए जेसे – नीबू , कीनू . दही आदि | अगर खटी चीजे खा लेते है तो यह एसिडिटी की प्रोब्लम हो सकती है | इसलिए पपीते के साथ या पपीता खाने के बाद कभी खटा नहीं खाना चाहिए |

6 . पुरे दिन में कितना पपीता खाए जो सही हो

अब जानते है की पुरे दिन में हमें कितने पपीते खाने चाहिए |आपको पुरे दिन में कम से कम 200 ग्राम पपीता खाना चाहिए | यह आपके शरीर के लिए ठीक रहेगा | क्युकी जायदा पपीता खाने से साइड effect हो सकते है |

7 . गलत तरीके से पपीता खाने के नुक्सान क्या हो सकते है

पपीता हमारे सेहत के लिए जितना अच्छा है , उतना ही साइड effect कर सकता है |

(i) भोजन नली को कमजोर

पपीता शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है , लेकिन अगर इसे अधिक मात्रा में खाया जाए , या गलत तरीके से खाया जाए तो यह भोजन नली को कमजोर बना देता है जिसके कारण भोजन अच्छे से नहीं पच पाता |

(ii) एलर्जी

एलर्जी

अगर आप कचा पपीता खाते है तो आपको एलर्जी हो सकती है क्युकी कचे पपीते में पाया जाने वाला लिटेक्स एलर्जी को बढ़ा सकते है | इसलिए जब भी पपीता खाए तो कचा ना खाए और सावधानी से खाए |

(iii) pregnancy’s में ना खाए पपीता

pregnancy's में ना खाए पपीता

pregnancy’s में पपीता नही खाना चाहिए क्युकी पपीते की ताशिर गरम होती है ये आपको और बेबी को नुक्सान पंहुचा सकता है |

8 . किन लोगो को पपीता नहीं खाना चाहिए पर क्यों

(i) जिन लोगो की सर्जरी हुई है

जिन लोगो की सर्जरी हुई है उन लोगो को पपीता नहीं खाना चाहिए क्युकी पपीते में जो पपेन एंजाइम होता है वह खून को पतला कर देता है | जिसके वजह से आपको प्रोब्लम हो सकती है | इसलिए सर्जरी होने पर पपीता ना खाए |

(ii) जिन लोगो को डायरिया है

जिन लोगो को डायरिया है

जिन लोगो को डायरिया है वह भी पपीते का परहेज करे क्युकी पपीते में जायदा फाइबर होता है और फाइबर के कारण स्टूल जयादा बनता है और स्टूल जयादा बनेगा तो आपको जायदा दिकत हो सकती है डीहाईट्रेशन हो सकती है | इसलिए जिन लोगो को डायरिया है वह पपीते का सेवन ना करे |

और पढ़े –संतरे के फायदे जो बाचता है बीमारियों से | benefits of eating oranges everyday in hindi

(iii) जो लोग खून पतला करने की दवा खाते है

आपको बता दे अगर आप खून पतला करने की दवा खाते है तो आप पपीता ना खाए , पपीते का परहेज करे | आप पहले से ही खून पतला करने की दवा खा रहे होते है अगर पपीता भी खाते है तो खून और पतला हो जायेगा क्युकी पपीते में पपेन एंजाइम होता है जो खून पतला करता है ,और अगर आपको कही पर कट लग जाता है तो खून नहीं रुकेगा , इसलिए खून पतला करने वाली दवा खाने वाले लोग पपीते से दूर रहे |

9 . pregnancy में पपीता खाए या नहीं जाने

बहुत बार लोगो के मन में यह सवाल आता है की pregnancy’s  में पपीता खाना चाहिए या नहीं , पपीता खाने से बेबी को कोई नुक्सान तो नहीं होगा ,

पपीता दो तरह के होते है एक पका हुआ और दूसरा कचा पपीता , हम इन दोनों के बारे में बात करेगे |

(i) पका हुआ पपीता

जो पपीता बाहर की तरफ से आपको पिला दिखेगा वह पका हुआ पपीता होता है इसमें बीटा केरोटिन होता है जो बचे की हडियो , आँखों , और दांतों के लिए बहुत आवश्यक रहता है और इसमें फाइबर , फोलिक ऐसेड , पोटासियम , और वीटामीन a,b , c रहता है , जो pregnancy’s  में खाना आपके लिए बहुत फायदेमंद होता है |

(ii) कचा पपीता

दूसरा कचा पपीता यह बाहर की तरफ से हरा होता है | और यह pregnancy’s  में नहीं खाना चाहिए क्युकी हरे पपीते में बहुत जायदा लेटिक्सऔर पपेन होता है जो बेबी को नुक्सान दे सकता है अगर यह जयादा बढ़ जाता है तो labor पैन हो सकता है इसलिए कचा हरा पपीता pregnancy’s  में नहीं खाना चाहिए |

लेकिन आप पका हुआ पिला पपीता खा सकते है लेकिन ध्यान रहे की पपीता फ्रेश हो और कचा ना हो और जिनको pregnancy’s के  अलावा   किसी तरह की और हेल्थ प्रॉब्लम हो तो वो पपीता बिलकुल ना खाए |

10 . पपीते के बिज के फायदे क्या है

पपीते के बिज दो तरीके से निकलते है एक जब हम कचा पपीता काटते है तो सफ़ेद बिज निकलते है और जब पका हुआ पपीता काटते है तो  काले रंग के बिज निकलते है , हमने पके हुए पपीते के बिज को लेकर अछे से धो लेना है |

बिज को धोने के बाद छलनी के ऊपर रखना है और हवा के निचे सुखा लेना है और मिक्सी में पीसकर पाउडर बना लेना है | और एक चमच रोज खाना है , जानते है इसके फायदे —

(i) पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है पपीता

अगर पपीते के बिज का पाउडर रोज खाए तो यह पाचन क्रिया को सही रखता है , कब्ज को दूर रखता है , अगर पेट में कीड़े हो गए हो तो इसको भी यह पाउडर ख़त्म कर देता है | जिन लोगो को गैस की प्रोब्लम होती है और पेट भरा भरा रहता है कुछ खाने का मन नहीं होता पपीते के बिज का पाउडर रोज एक चमच खाने से ये सब प्रोब्लम ख़तम हो जाती है | बचो को यह पाउडर आधा चमच देना चाहिए इसे कमजोरी भी नहीं होती |

और पढ़े –प्रेगनेंसी में संतरा खाने के फायदे खाना चाइए या नहीं | eating oranges pregnancy in hindi

(ii) केंसर की बिमारी में पपीते के बिज का पाउडर फायदेमंद क्यों

किसी भी तरह का केंसर हो , पपीते के बिज का पाउडर रोज एक चमच खाना चाहिए |इस पाउडर में ऐसे गुण होते है जो केंसर को कम करता है और बढ़ने से रोकता है |

(iii) सुजन से राहत

पपीते के बिज का पाउडर एक चमच खाने से सुजन से भी राहत मिलती है | अगर आपके शरीर में किसी भी वजह से सुजन है सारी सुजन को कम कर देता है | सुजन में बहुत फायदेमंद होता है यह पाउडर |

अगर आप रोज एक चमच पके हुए पपीते के बिज का पाउडर खाओगे तो आपको इन सब बीमारयो से राहत मिलेगी |

 

disclaimer – हमारी टीम ने अपने लेवल से पपीते के इस आर्टिकल को रिसर्च किया है फिर भी हम आपको यही कहेगे की आप कुछ भी करे पहले डॉक्टर की सलाह ले उसके बाद करे

 

Leave a Comment