origin of transactions source documents of accountancy class 11

origin of transactions source documents of accountancy class 11

लेन देनो की उत्पति ( Origin of Transactions ) 

सभी प्रकार की बिज़नेस सन्गठन मैं अनेक लेन देन होते है जिनको पुस्तको मैं लेखा किया जाता है सभी लेन देन मूल डॉक्यूमेंट यानी एकाउंटिंग डॉक्यूमेंट  द्वारा प्रमाणित होते है सभी प्रकार के लेन देनो जैसे सम्पतियो वस्तुओ और सेवाओ का क्रय विक्रय या रोकड़ की प्राप्ति या भुगतान का पुस्तको मैं लेखा प्रमाणित डॉक्यूमेंट के आधार पर किया जाता है जैसे कैश मीमो , बीजक या बिल , नकद प्राप्ति , नकद भुगतान , डेबिट नोट , क्रेडिट नोट , जमा  कराने की रसीद , चैक  आदि . ये सभी डॉक्यूमेंट मूल डॉक्यूमेंट एकाउंटिंग डॉक्यूमेंट  कहलाते है . 

लेखाकन के मूल डॉक्यूमेंट  ( Source Documents Of Accountancy )

 मूल डॉक्यूमेंट यानी एकाउंटिंग डॉक्यूमेंट  एक वास्तविक डॉक्यूमेंट है जिसमे एक लेखाकन  प्रणाली के अंतर्गत लिखे गए लेन देनो को प्रमाणित करने का ब्यौरा सम्मलित होता है एक लेन देन से सम्बधित सभी प्रकार की सूचनाये का लेखा इस प्रकार के डॉक्यूमेंट मैं सम्मलित है बिक्री बीजक , नकद प्राप्ति , रोकड़ रजिस्टर्ड , पर्ची , डेबिट नोट , क्रेडिट नोट तथा जमा -पर्ची . 

मूल डॉक्यूमेंट यानी एकाउंटिंग डॉक्यूमेंट  बिज़नेस व्यवहार या लेखाक्न घटनाओ को प्रमाणित डॉक्यूमेंट प्रदान करते है और ये अंकेषण कार्य का एक विवेकपूर्ण भाग है लेखाक्न प्रणाली के वितीय लेखो की प्रमाणिकता तथा ऐतिहासिकता को स्थापित करता है इस प्रकार के डॉक्यूमेंट किसी प्रकार के विवाद की दशा मैं न्यायालय मैं विश्वसनीय प्रमाण के रूप मैं कार्य करते है 

कुछ मूल डॉक्यूमेंट का वर्णन निम्न प्रकार किया गया है :- 

कैश मीमो या रोकड़ मीमो ( cash memo ) | Cash memo meaning in Hindi

वस्तुओ और सेवाओ को नकद विक्रय के समय यापरी एक मूल डॉक्यूमेंट या एकाउंटिंग डॉक्यूमेंट  देता है जिसे कैश मीमो कहा जाता है और इसी प्रकार नकद क्रय के समय वह मूल डॉक्यूमेंट प्राप्त करता जिसे कैश मीमो कहते हाई इसमें लेखाकन से सम्बधित सभी आवश्यक सूचनाये जैसे मद , मात्रा , दर , कुल राशि , तथा अन्य शर्ते दी हुई होती है इस प्रकार की सभी कैश मीमो रोकड़ बही को बनाने का आधार प्रदान करती है कैश मीमो का नमूना निम्न प्रकार है 

 बीजक और बिल ( INVOICE AND BILL) | Meaning of invoice in Hindi

 जब व्यवसायी द्वारा उधार मैं माल बेचा जाता है तो बेचे गए माल के सम्बद्ध मैं वह एक डॉक्यूमेंट ( DOUCMENT) बनाकर ग्राहक को भेजता है जिसे बीजक कहते है इसमें ग्राहक को बेचे गए माल की मात्रा  , डॉ तथा कुल राशि लिखी हुई होती है इस बिल की मूल प्रतिलिपि ग्राहक को भेज दी जाती है और इसकी दूसरी ( DUPLICATE ) प्रतिलिपि व्यवसाय द्वारा पुस्तको मैं लेखा करने के लिए अपने पास रख ली जाती है

 इसी प्रकार जब व्यवसायी द्वारा उधार मैं माल ख़रीदा जाता है तो माल का विक्रेता एक डॉक्यूमेंट तैयार करके व्यवसायी को देता है जिसे बिल कहते है अत स्पष्ट है की माल को उधार बेचते समय बिल बनाया जाता है जबकि उधार माल क्रय करते समय बिल प्राप्त होता है यह याद रखना चाहिए की दोनों शब्दों को समान अर्थो मैं प्रयोग किया जाता है बीजक तथा बिल का नमूना नीचे दिया गया है  

रसीद ( RECEIPT) क्या होता है | receipt meaning in Hindi

 रसीद एक मूल डॉक्यूमेंट या एकाउंटिंग डॉक्यूमेंट  है जो व्यापारी द्वारा उस पक्षकार को जारी किया जाता है जिससे रोकड़ प्राप्त होती इस रसीद की दूसरी ( DUPLICATE) प्रतिलिपि व्यापारी द्वारा पुस्तको मैं लेखा करने तथा भविष्य मैं सन्दर्भ के लिए अपने पास रख ली जाती है 

इस डॉक्यूमेंट मैं रोकड़ प्राप्ति के सम्बद्ध मैं तिथि , राशि , पक्षकार का नाम तथा भुगतान की प्रकृति लिखी हुई होती है इसी प्रकार जब व्यापरी कोई नकद भुगतान करता है तो उसे इसी तरह की रसीद प्राप्त होती है 

डेबिट नोट या नाम पत्र ( DEBIT NOTE ) क्या होता है | debit note meaning in Hindi

 जब पूर्तिकर्ता को माल वापिश किया जाता है तो वापिस किये माल के साथ एक डॉक्यूमेंट बनाकर पूर्तिकर्ता को भेजा जाता है जिसे नाम पत्र कहते है यह डॉक्यूमेंट दिखाता है की कितनी राशी के साथ पूर्तिकर्ता का खाता डेबिट किया गया है यह एक मूल डॉक्यूमेंट है

 जिसमे डेबिट किये जाने वाले व्यक्ति का नाम , राशी तथा वापिस करने का कारण लिखा हुआ होता है नाम पत्र की एक प्रतिलिपि ( DUPLICATE COPY ) या प्रति पत्रक ( Counterfoil) व्यापरी द्वारा अपने पास रखी जाती है जिसके आधार वह पुस्तको मैं पूर्तिकर्ता का खाता डेबिट करता है . नाम पत्र का नमूना नीचे दिया गाया है 

जमा पत्र या क्रेडिट नोट ( Credit Note ) क्या होता है  | credit note meaning in Hindi

जब बेचा गया माल ग्राहकों द्वारा व्यापारी को वापिस किया जाता है तो व्यापारी द्वारा एक डॉक्यूमेंट तैयार किया जाता है जिसे जमा पत्र या क्रेडिट नोट कहते है यह जमा पत्र व्यापारी द्वारा ग्राहक को दिया जाता है 

जिससे लिखा होता है की ग्राहक को वापिस किये माल के मूल्य की राशी से क्रेडिट कर दिया गया है जमा पत्र की एक प्रतिलिपि ( DUPLICATE COPY ) व्यापारी द्वारा पुस्तको मैं लेखा करने के उद्देश्य से अपने पास रख ली जाती है 

 जमा पर्ची ( PAY -in – SLIP ) क्या होता है | pay in slip meaning in hindi

 जमा पर्चियों वो पर्चिया होती है जो रोकड़ को बैंक मैं जमा करवाने के लिए प्रयोग की जाती है यह एक निश्चित प्रारूप मैं सभी बैंक के पास होती है जब भी व्यापारी को बैंक मैं राशि जमा करनी होती है

 तो उसे इस पर्ची को बरना पड़ता है प्रत्येक जमा पर्ची के साथ एक प्रति पत्रक ( COUNTERFOIL) लगा होता है जिस पर बैंक का रोकडिया अपने SIGN करके तथा बैंक की मोहर लगाकर ग्राहक को दे देता है 

चेक ( CHEQUE ) क्या होता है | cheque meaning in hindi

 CHEQUE एक बीना शर्त का विनियम पत्र है जो किसी विशेष बैंक पर लिखा जाता है जिस पर लिखने वाले के हस्ताक्षर होते है जो बैंक को उसमे लिखी निश्चित रकम किसी निश्चित व्यक्ति को या उसमे आदेशित व्यक्ति को या उसके धारक ( BEARER ) को भुगतान करने की आज्ञा देता है 

CHEQUE पर हमेशा एक तिथि होती है जिस दिन यह जारी किया जाता तथा इस पर लेखक के हस्ताक्षर होते है . CHEQUE के साथ एक प्रति पत्रक ( COUNTEIOIL) लगी होती है प्रति पत्रक मैं वो सभी बाते लिखी होती है जो CHEQUE मैं होती है प्रति पत्रक भावी सन्दर्भ के लिए लेखक के पास रहता है CHEQUE का नमूना नीचे दिया गया है    

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *