health meaning in hindi | 100 most common medical words

आज हम आपको Basic medical terminology list के बारे मैं बतायेगे ये लिस्ट जो है सभी लोगो के काम आने वाला है क्युकी इनका हिंदी मैं लिखा गया है

Basic medical terminology list | 100 most common medical words

Basic medical terminology list in hindi

1. Analgesic :- दर्द निवारक दवा
2. Antipyretic :- बुखार कम करने की दवा
3. Antibiotic:– वह रासायनिक कैमिकल्स जो जीवाणुओ को खत्म करता है।
4. Appetite :- भूख लगना
5. Artificial Insemination :- कृत्रिम गर्भधान
6.Anthelmintic :- वह दवा जो पेट के कीडों को मारने के लिए दी जाती है
7. Abortion:– गर्भपात / Termination of pregnancy
8. Anatomy :- शारीरिक संरचना
9. Absorption:- अवशोषण
12. Anaerobic Bacteria:- वह जिवाणु जो ऑक्सीजन की अनुपस्थिती में जीवित रहते है।
10. Acetylcholine :- वो कैमिकल जो Neuromuscular जंक्शन पर संदेश का आदान प्रदान करता है।
11. Aerobic Bacteria :- वह जिवाणु जो ऑक्सीजन की उपस्थिती में जीवित रहते है।
12. Cervicitis:-गर्भाशय ग्रीवा मैं होने वाला यौन सक्रमण
13. Anti-Inflammatory :- वह दवा जो सूजन दर्द व रेडनेस (Redness) को कम करने के लिए दी जाती है।
14. Allergy :- शरीर की किसी प्रदार्थ के प्रति प्रतिकिया जो इम्यून सिस्टम को प्रभावित करती है।
15. Antispasmodic :- वह दवा जो शरीर के ऐंठन को नियंत्रित करती है।
16. Antibiotic Resistant Bacteria :- जो जिवाणु एन्टीबायोटीक के विरुद्ध लड़ते है, तथा एन्टीबायोटिक का उन पर कोई असर नहीं होता।
17. Anorexia:- भूख न लगना।
18. Bactericidal :- वह Antibiotic जो जिवाणुओं को मारती है। रोकती है।
19 . Assimilation of food:- जो पोशक तत्व भोजन से मिलते है उनका अवशोशण blood में होना।
20. Bacteria :- जीवाणु
21. Bacteriostatic :- वह Antibiotic जो जिवाणुओं की वृद्धि को
22. Bile :- हल्के हरे व पीले रंग का वो तरल जो वसा का पाचन करवाता है। यह Gall Bladder (पित्त की थैली) जो Liver में स्थित है से निकालता है।
23. Blood :- रक्त ।
24. Broad Spectrum Antibiotic:- वह Antibiotic जो ज्यादा से ज्यादा तरह के जिवाणुओं पर असरकारक है
25. Betalactamase:- कुछ जिवाणू एक तरह का एन्जाइम निकालते है जिसे Betalactamase कहते है। इस एन्जाइम से जिवाणूओं की Antibiotics से रक्षा होती है।
26. Bioavailability:- दवा की मात्रा आँत (Intestine) से अवशोषित (Absorb) होकर Blood में कितनी पहुँचती है। Blood से दवा Tissue एवं cell में पहुंचती है। जहां Infection है।
27. Bloat:-अफारा
28. Cell :- (कोशिका) शरीर की संरचनात्मक और कार्यात्मक इकाई
29. Cell Division:- कोशिका विभाजन
30. Cleanser :- वह कैमिकल जो शरीर की सफाई करने के काम आता है।
31. Corpus Luteum :- अंडे (Ovam) के Ovary से निकलने के बाद, Ovam के बाहरी खोल (Follicle) का Ovary की दिवार पर उभार की Form में बनना।
32. Complete Bactericidal:- एन्टी बायोटिक जो सभी तरह के जिवाणुओं को मारता हैं।
33. DNA :- डीऑक्सीराइबोस न्युकिल्क अम्ल, यह अनुवांशिक जानकारी के वाहक होते है। जो हर कोशिकाओं
(Cell) के अन्दर होते हैं।
34. Ectoparasite :- वह परजीवी जो शरीर के उपर रहते है।
35. Endo – parasite :- वह परजीवी जो शरीर के अंदर रहते है।
36. Ecbolic :- वह दवा जो गर्भाशय के संकुचन को बढावा देती है व गर्भाशय में उपस्थित गंदगी को बाहर निकालती है।
37. Enzymes :- वो केमिकल्स जो जैव रासायनिक प्रतिक्रियाओं को करवाता है।
38. Emmenagogue :- वो दवा जो मासिक धर्म (Estrus Cycle) के निर्वहन को बढावा देती है
39. Etiological Fever :- ऐसा बुखार जिसका Infectious agent (संक्रमण कारक) का पता हो।
40. Embryo:- भ्रूण
41. E.P.G. (Egg Per Gram of cow dung):- एक ग्राम गोबर में अण्डों की मात्रा।
42. Endocrine Glands :- अतः स्त्रावी ग्रंथीया जो शरीर में हार्मोस का स्त्राव करती है।
43. Fermentation :- वह पाचन प्रक्रिया जो सूक्ष्म जीवो द्धारा रुमेन होती है। व इसमें ऑक्सीजन की आवश्यकता नही पड़ती है।
44. Food Poisoning :- विषाप्त भोजन से होने वाला शारीरिक नुकसान।
45. Foetus :- गर्भावस्था के आठ सप्ताह बाद बच्चे की संरचना को Foetus कहते है।
46. Galactogogue :- एजेंट / जडी बूटी जो दूध स्त्राव को प्रेरित करता है।
47. Gonadotrophins:– Sex Hormones जिसे Hypothalums ग्रंथि release करता है।
48. G.IT/:– (Gastrointestinal Tract Infection) आमाशय व आँत का संक्रमण
49. Hormones :- वो कैमिकल्स जो अतः स्त्रावी ग्रथियों से स्त्रावित होते है। व शरीर की विभिन्न अन्दरूनी गतिविधियों का समन्वय करते हैं और विकास कराते हैं।
50. Heifer :- पशु की वो अवस्था जब तक उसनें बच्चा पैदा ना किया हो।
51. Helminths :- परजीवी जो जानवर के शरीर मे चपटे या गोल कृमि के प्ररुप में होते है।
52. Hemorrhage :- शरीर के अन्द्धरुनी भाग से रक्त का स्त्राव होना।
53. H.S. (Hemorrhagic septicemia):- गल घोंटू बीमारी, जिसमें गले के नीचे सूजन दिखती है।
54. Immunity :- शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता
55. Infection :-संक्रमण
56. Intrauterine :- अंतः गर्भाशियी / गर्भ के भीतर
57. Intestinal mucosa:- यह आतों का एक अन्दरूनी हिस्सा होता है जहाँ से पोशक तत्व अवशोशित होकर blood में पहुंचते है।
58. Intestinal Mucosa and Lumen:- आंतो के दो भाग होते है Intestinal mucosa जहां बैक्टीरिया हमला करता है। Lumen जहाँ बैक्टरिया अपनी बढ़ोत्तरी करता है।
59. Kreb’s Cycle:- इस क्रिया में ग्लूकोज से ऊर्जा मुक्त होती है। व यह किया माइटोकॉन्ड्रिया में होती है।
60. Liver fluke:- ये वर्म बडे होते है। Leaf (पत्ती) के आकार के होते है। ये लीवर में पाये जाते है।
61. Lung Worms:- यह वर्म Lungs में पाये जाते है।
62. Mitochondria :- कोशिका का ऊर्जा स्त्रोत
63. Microbes :- सूक्ष्म जीव जैसे कि जीवाणु, कीटाणु, विषाणुओं को रोगाणु (Microbes) कहते है।
64. Nucleic acid :- वो कार्बनिक प्रद्धार्थ जो शरीर की कोशिका में DNA व RNA के रुप में उपस्थित रहती है।
65. Organ:-अंग
66. Destrous Cycle :- एक निश्चित अवधि के बाद बार – बार शारीरिक परिवर्तन जिससे पशु गर्मी में आता है।
67. Estrogen :- मादा चक में उत्पन्न वह हार्मोन जिससे पशु गर्मी में आते है
 68. Parasites :- परजीवी
69. PH:- किसी माध्यम की अम्लीयता (Acidic) या क्षारीयता (Alkaline) मापने का पैमाना।
70. Placebo :- यह वो प्रद्धार्थ है जो दवा के बदले दिया जाता है। और जिसका शरीर पर कोई प्रभाव नही होता।
71. Progesterone :- गर्भावस्था को बनाए रखने वाला हार्मोन
72. Placenta :- माँ व शिशु के मध्य वह अस्थाई अंग जो गर्भावस्था के दौरान बनता है। जो शिशु को
ऑक्सीजन तथा पौष्टिक प्रदार्थ पहुँचाता है तथा शिशु से मल्ल तथा कार्बनडाईआक्साइड बाहर निकालता है।
73. Prolapse :- शरीर के किसी अन्दरुनी हिस्से का स्थान से बाहर निकल आना।
74. Productivity :- उत्पादन क्षमता में बढ़ोतरी
75. Phagocytes :- वो शवेत रक्त कोशिका जो जिवाणु को खाती है।
76. Phagocytosis :- जिवाणुओ को खाने वाली प्रक्रिया
77. Pessary :- गर्भाशय में रखने वाली गोली
78. Parturition :- बच्चा देने की प्रक्रिया
79. Peristalsis :- आतः की चाल
80. Post Partum Destrus:- ब्याहने के बाद गर्मी में आना।
81. Pharmaco Kinetic Profile of Drugs:- एक दवा कैसे Blood में अवशोशित होकर tissue तथा cell में जाती है तथा कैसे शरीर से बाहर होती है।
82. Prolapse of uterus:- गर्भाश्य का बाहर आ जाना
83. RNA :- राइबोज न्यूक्लिक अम्ल, जो कोशिका में प्रोटीन बनाने में सहायक होता है।
84. RBC:- लाल रक्त कणिकाएँ
85. Resistant Microbes :- वह जिवाणु जिनके विरुद्ध कोई एन्टी बायोटिक कार्य नही कर पाता।
86. Round Worm:- जो पेट के कीड़े Round Shape में होते है तथा जानवर के Production को कम करते
है तथा जो Small intestine, large intestine तथा abomasum में पायें जाते है।
87. Repeat Breeders:- पशु का बार-बार गर्मी में आना, पर फिर जाना (गर्भधारण न करना)
88. R.T.I:- Respiratory Tract infection (सांस से सम्बंधित रोग जैसे निमोनिया)
89. Spindle Fibres :- कोशिका विभाजन के समय उपस्थित तन्तु जो विभाजन मे मदद करते है।
90. Septicemia :- जीवाणुओं द्वारा रक्त में आकर जहर उत्पन्न कर देना।
91. Subclinical Parasitism:- इसमें अतः परजीवी होने का कोई भी लक्षण दिखाई नहीं देता है। तथा Productivity में बहुत नुकसान होता है।
92. Toxins :- जिवाणुओं द्वारा शरीर में उत्पादन होने वाला जहर ।
94. Total Spectrum:- पूरी तरह से जिवाणुओं को मारने वाला।
93. Toxicity :- कोशिका में जहर से होने वाली क्रिया।
95. Tape worms:- यह वर्म रिबन (Ribbon) के समान चपटे होते है तथा छोटी आंतों की दिवार से चिपके रहते है।
96. Uterus :- गर्भाशय (मादा पशुओं में बच्चा 9-10 महीने यहीं बड़ा होता है।)
97. U.T.I:- Urinary tract infection वह इन्फेक्सन जो Urinary tract जैसे किडनी, मूत्रवाहिनी (Ureters) तथा Urinary bladder में उपस्थित होता है।
98. WBC:- सफेद / श्वेत रक्त कणिकाएँ, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए महत्वपूर्ण होती है।
99. Mammogenic :- वह दवा जो Udder में दुग्ध ग्रंथी का विकास करवाती है।
100. Herbs :- जडी बूटीयाँ
101. Zygote :- मादा प्रजनन कोशिका (Ovam) व नर प्रजनन कोशिका (Sperm) के सयोजन से बनने वाली संरचना (Cell)
102. Abdomen :- पेट (आमाशय)
103. Metabolism :- जीवों में जीवनयापन के लिये होने वाली रसायनिक प्रतिक्रियाओं
104. Digestion :- शरीर की वह प्रक्रिया जिससे भोजन का पाचन होता है।
105. Topical :– शरीर का बाहरी हिस्सा
106. Wound :- घाव
107. Mammary Gland :- दुग्ध स्त्रवी ग्रंथी (Udder)
108. Oedema :- त्वचा या श्लेष्म झिल्ली के नीचे सेलुलर ऊतको में पानी भर जाना।
109. Reproduction:- शरीर के प्रजनन अंगो द्वारा कि जाने वाली किया।
110. Lactation Period :- दूध देने का अन्तरा
111. Gestation :-Tufare 112. Puberty :- वह समय जब प्रजनन अंग कार्यरत हो जाते है।

disease terms terminology

1.Anorexia:- भूख न लगना
2. Acidosis :- वह प्रकिया जिससे आमाशय अंग की अम्लता अधिक हो जाती है।
3. Arthritis :- गठिया / जोड़ों में होने वाली बिमारी
4. Alopecia :- बालों का झड़ना / गंजापन
5. Anoestrus:– गर्मी में ना आना।
6. Anaemia :- खून की कमी। 7. Abscess :- फोडा / मवाद भरी फुसी।
8. Atony :- शरीर के माँस पेशियों की शक्तिहिनता।
9. Bloat/ Tympany :- जानवरों के पेट में अत्याधिक गैस बनना / अफारा
10. Colic:- पेट दर्द
11. Coughing :-खाँसना
12. Cervicitis :- गर्भाशय ग्रीवा में होने वाला यौन संक्रमण
13. Constipation :- कब्ज
14. Dystocia :- बच्चा व्यायने में परेशानी
15. Dysuria :- पेशाब में परेशानी
16. Diarrhoea:-दस्त
17. Dermatitis :- त्वचा में होना वाला संक्रमण (खुजली)
18. Drying off :- बच्चा ब्याहने से पहले दूध देना बन्द कर देना
19. Enteritis:- आंत में सूजन / संक्रमण
20. FMD :- खुर पका मुँह पका
21. Fertile:- वह जानवर जो बच्चा पैदा करने योग्य हो
22. Gout:- गठिया
23. Gastritis :- पेट में सूजन / संकमण
24. Hepatitis :- यकृत में सूजन / संक्रमण
25. Haematuria:- पेशाब में खून आना
27. Heat Stroke :- लू लगना
26. Haemorrhagic Septicemia :- गल घोटू की बीमारी
28. Inflammation :– सूजन, दर्द एवमं लालिमा (Redness)
29. Laminitis:- लगड़ापन आ जाना / खूर में सूजन
30. Mastitis :– दुग्ध ग्रथीयों में सूजन / संकमण
31. Metritis :- गर्भाशय में सूजन / संक्रमण
32. Endometritis :- गर्भाशय की अन्दरुनी सतह में सूजन / संक्रमण
33. Meningitis :- मस्तिक की अन्दरुनी सतह में सूजन / संक्रमण
34. Myalgia :- पुट्ठो का गठिया / माँस पेशियों में दर्द
35. Myositis :- माँस पेशी ऊतक की सूजन / संकमण
36. Nephritis :- गुर्दे के नेफोंस में सूजन / संकमण
37. Osteoporosis :- हडिडयों मे छेद बन जाना
38. Osteomalacia :- हडिडयो में मिनरल्स की कमी के कारण लचक आ जाना
39. Osteomyelitis :- हडिडयो मे सूजन / संक्रमण आ जाना
40. Oedema :- त्वचा या श्लेष्म झिल्ली के नीचे सेलुलर ऊतको में पानी भर जाना।
41. Pain :- दर्द /दुखदायी / वह अहसास जिसके होने से शरीर की असहनीय पीडा होती है।
42. Pyrexia :- बुखार
43. Pyometra :- गर्भाशय में मवाद बनना।
44. Pica:– फास्फोरस की कमी के कारण असामान्य चीजों का खाना।
45. Pruritus :- प्रचंड खुजली जिससे शरीर पर खरोंच पड़ जाती है।
46. Pneumonia :- फेफडो में सूजन एवमं संक्रमण वाली एक परिस्थिति है।
47. Paralysis :- माँसपेशियों की गतिहिनता / लकवा
48. Repeat Breeding :- बार बार गर्मी में आना / या गर्भधारण ना करना।
49. Retention of Placenta:– नाल/ जेर का फंस जाना
50. Rickets :- विटामिन D की कमी से हडिडयो का टेढ़ापन
51. Sterility :- बाँझपन
52. Spasm :- माँसपेशियों में ऐंठन
53. Ulcers:- वह घाव जिससे रक्त आता रहता है। व कभी भरता नही है।
54. Urethritis :- मूत्रनली में सूजन व जलन / मूत्रमार्ग में सूजन व जलन एवमं संक्रमण
55. Vaginitis :- योनि में सूजन जो आमतौर पर संक्रमण के कारण होती है।
56. Weakness :- दुर्बलता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *