बीमा कितने प्रकार के होते हैं 8 प्रकार के लाइफ प्रोडक्ट जान लीजिये

बीमा कितने प्रकार के होते हैं 8 प्रकार के लाइफ प्रोडक्ट जान लीजिये

व्यक्ति के लिए कई प्रकार  जरुरतो जैसे आय की सुरक्षा , मेडिकल खर्चो की भरपाई , बच्चो की शिक्षा , बच्चो का विवाह

विभिन्न सम्पतियो तथा उसके परिवार के भरण पोषण के लिए सुरक्षा आवश्यक हो उनको उचित उत्पाद की सलाह देना

एक एजेंट के लिए बहुत ही जरुरी कर्तव्य होता है जिनके कारण वो अपनी उपरोक्त आवश्यकताओ की पूर्ति भली भाती

कर सके | सुरक्षा जरुरतो को प्रभावित करने वाले कारणों मैं स्वय की आयु अथवा आश्रित लोगो की आय और आयु वह सम्पतिया तथा दायित्व शामिल है

बीमा कितने प्रकार के होते हैं 8 प्रकार के लाइफ प्रोडक्ट जान लीजिये

बीमा उत्पाद ( insurance Products ) कितने प्रकार के होते है

अधिकतर जीवन बीमा योजनाओ मैं दो मूल तत्व डेथ कवर तथा maturity लाभ होते है

अवधि बीमा योजना ( term insurance) मैं पालिसी अवधि के दौरान बीमित व्यक्ति की डेथ होने पर केवल डेथ कवर प्रदान

किया जाता है  | पर maturity पर कुछ देय नही |

शुध बंदोबस्ती योजना  (pure endowment ) maturity लाभ / उतरजीवित लाभ प्रदान करती है यदि बीमित व्यक्ति योजना की सम्पूर्ण अवधि तक जीवित रहता है

 एक बंदोबस्ती बीमा योजना ( endowment plan  ) क्या है

यह एक अवधि योजना तथा एक शुध बंदोबस्ती योजना का मिश्रण है इसमें पालिसी

की अवधि के दौरान बीमित व्यक्ति की डेथ होने पर बीमा राशी नामिती / लाभ ग्रहीता को प्रदान की जाती

है  यदि बीमित योजना की सम्पूर्ण अवधि तक जीवित रहता है तो maturity लाभ / उतर जीवित लाभ बीमित को

मिल जाता है इस योजना मैं बचत का तत्व भी होता है बीमा कंपनिया निवेश पर अर्जित प्रतिफल पर बोनस की घोषणा करती है

आजीवन योजना (whole Life plan )  क्या है

बीमित व्यक्ति की सम्पूर्ण अवधि को कवर करता है इस पालिसी मैं कम प्रीमियम देय

है तथा अधिक बोनस मिलता  है

परिवर्तनीय बीमा योजनाये ( convertible whole life plan )  एक जीवन  बीमा योजना से अन्य जीवन बीमा योजना मैं परिवर्तन की अनुमति देती है , यह योजना उन लोगो के लिए उतम है जो अधिक प्रीमियम देने की स्तिथि मैं नही होते

लेकिन कुछ वर्ष पश्चात वह अधिक प्रीमियम दे सकते है अत इसमें शुरू के पाच वर्षो का प्रीमियम कम होता है  तथा इसके पश्चात इसे एक उच्च प्रीमियम की बंदोबस्ती योजना या आजीवन योजना परिवर्तन किया जा सकता है

परिवर्तित किया जा सकता है परिवर्तनीय योजना का अन्य लाभ यह है की परिवर्तन के समय पुन जोखिममानक निर्णय भी नही लिया जाता है

मनी -बैक पालिसी क्या है

मनी बैक पॉलिसियो मैं  विनीदिर्ष्टि अन्तराल पर पालिसी की अवधि के दौरान समय समय पर बीमाधन का कुछ अंश

उतरजीवित  हित लाभ का भुगतान किया जाता है

सयुक्त जीवन बीमा योजनाये ( joint life insurance plan ) क्या है

एक ही पालिसी के अंतर्गत दो व्यक्तियों को बीमा कवर प्रदान करती है सयुक्त जीवन पालिसी शादीशुदा जोड़े एक ही पालिसी के अंतर्गत बीमाकवर आबंटित करती है तथा इसके प्रीमियम की गणना सयुक्त आयु के आधार पर की जाती है

पेंशन प्लान ( ANNUITY PLANS) क्या है

किसी व्यक्ति द्वारा बीमा कम्पनी को एक मुश्त या एक विनिदिर्ष्टि वर्षो तक भुगतान की गयी राशी के प्रीमियम मैं प्राप्त होने वाला भुगतान एनुयटी होती ये पेंशन plan दो तरह से ली जाती है

1 . तुरत पेंशन योजना

2 . विलमभीत पेंशन योजना

समूह बीमा योजनाए लोगो के एक समूह को बीमा सुरक्षा प्रदान करती है जो एक समान्य उदेश्य के लिए एक साथ किसी समूह मैं होते है

लघु बीमा योजनाए अल्प आय वाले लोगो को बीमा कवर प्रदान करती है इसका संचालन एन जी ओं द्वारा गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगो के लिए किया जाता है इस मैं कम से कम 5000 एव अधिकतम 50 हज़ार की बीमा राशी का आवरण दिया जाता है

यूनिट लिकड बीमा योजनाए (ULIP ) क्या है

बीमित व्यक्ति को बाज़ार की विरधी (चड़ने ) मैं भाग लेने का अवसर प्रदान करती है

यूलिप (ULIP ) मैं निवेश जोखिम बीमित द्वारा वहन किया जाता है न की परम्परागत योजनाओ की तरह बीमा कम्पनी द्वारा

बाल बीमा योजनाए ( CHILDREN INSURANCE ) क्या है

अभिभावकों को उनके बच्चो की भावी वितीय जरुरतो जैसे शिक्षा विवाह आदि की सुरक्षा मैं मदद करती है

आयकर और मुद्रास्फीती ( taxation & inflation ) क्या है

आयकर अधिनियम की धारा 80 c के अंतर्गत एक वितीय वर्ष मैं बीमा योजनाओ के लिए  1.50 लाख तक किया गया प्रीमियम का भुगतान कर योग्य आय मैं से कटोती योग्य होता है

आयकर लाभ के लिए किसी एक वर्ष मैं प्रीमियम बीमा धन के 20% से अधिक नही होना चाहिए या बीमा धन प्रीमियम का कम से कम 5 गुना या अधिक होना चाहिए आयकर अधिनियम की धारक 10(10D) के अंतर्गत किसी जीवन बीमा कम्पनी से प्राप्त maturity लाभ या डेथ कवर कर मुफ्त होता है

अवधि लम्बी होने पर मुद्रास्फीती बीमा कवर का मूल्य हाष कर देता है कुछ बीमा कंपनिया मुद्रास्फीदी  के साथ सामजस्य बनाये रखने के लिए नियमित अन्तराल पर बीमा कवर मैं विरधी का लाभ प्रस्ताविक करती है कुछ बीमा कंपनिया बीमा कवर मैं नियमित अन्तराल पर कमी का लाभ प्रस्ताविक करती है जो रीनो के मामलो मैं उपयोगी होता है क्युकी समय बीतने के साथ रीन राशी घटती जाती है

जीवम बीमा के मूल तत्व

डेथ कवर – यह राशी पालिसी की अवधि के दोरान बीमित व्यक्ति की डेथ होने की स्तिथि मैं नामित / लाभग्रहीता को भुगतान की जाती है

maturity लाभ – यह राशी पालिसी को maturity पर भुगतान की जाती है यदि बीमित व्यक्ति पालिसी की अवधि तक जीवन रहता है पालिसीया जैसे मनी बैक पालिसीया maturity से पूर्व पालिसी की अवधि के दोरान बीमित व्यक्ति को समय समय पर भुगतान भी करती है ये उतरजीविता हित लाभ कहलाते है

एक समूह बीमा के लक्षण

एक समूह बीमा पालिसी लोगो के समूह बीमा सुरक्षा प्रदान करती है जो एक सामान्य उदेश्य से किसी समूह मैं सम्मलित होते है

लोगो को समूह हो सकता है

एक संगठन के कर्मचारी

एक बैंक के ग्राहक

एक ट्रेड यूनियन ( मजदुर संघ ) के सद सय्दस्य

एक व्यवयसायिक निकाय जैसे लेखाकार संघ के सदस्य

लोगो को अन्य कोई समूह जो उदेश्य की सामान्यता के कारण एक साथ आते है या एक सामान्य उदेश्य के लिए एक दुसरे से जुड़े रहते है

एक समूह बीमा पालिसी मैं बीमा कम्पनी समूह के सभी सदस्य को कवर करती हुई एक मास्टर पालिसी जारी करती है उदाहरन के लिए बीमा कम्पनी एक नियोक्ता को कम्पनी के सभी कर्मचारियों को कवर करती हुई एक मास्टर पालिसी जारी करेगी नियोक्ता मास्टर पालिसीधारक के नाम से जाना जायेगा

बीमा की सविधा बीमा कम्पनी तथा मास्टर पालिसीधारक के मध्य होती है कर्मचारी बीमा सविदा के प्रत्यक्ष पक्षकार नही होते है

समूह बीमा योजनाए समूह ( गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोग ) को बीमा कवर प्रदान करके समाज कल्याण के साधन के रूप मैं सरकार द्वारा भी उपयोग की जाती है

जुलाई 2005 मैं बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (IRDA ) ने समूह बीमा पालिसीयो पर एक मार्गदर्शिता जारी की है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *