जीवन बीमा एजेंट परीक्षा प्रश्न व उत्तर और एक एजेंट बनने के लिए जरुरी है

जीवन बीमा एजेंट परीक्षा प्रश्न व उत्तर

जीवन बीमा एजेंट परीक्षा प्रश्न व उत्तर

Contents

अगर आप एक जीवन बीमा एजेंट बनना चाहते है ये बुलेट पॉइंट आपको परीक्षा पास करने मैं हेल्प मिलेगी मैंने भी ये परीक्षा इसी बुलेट पॉइंट से पास किया है

हलाकि आपको insurance से related आर्टिकल आपको इसी ब्लॉग से मिल जायेगा

प्रस्तावक ( proposer ) क्या है

वो इंसान जो पालिसी खरीदने के लिए प्रस्ताव करता है

साधारण शब्द – अगर आप कोई पालिसी करते है तो आप एक प्रस्तावक है

प्रस्ताव पत्र ( proposal form ) क्या है

यह आवेदन पत्र है जिसे भरकर ( अपनी पूरी जानकारी ) पालिसी खरीदते है

साधारण शब्द – अगर आप कोई भी insurance की पालिसी को खरीदते है

पालिसीधारक ( पालिसी होल्डर ) क्या है

जिसके नाम की पालिसी

साधरण शब्द – अगर आप ने कोई पालिसी ली है और आपने  नाम है तो आप एक पालिसी होल्डर हो

बीमाकर्ता ( कम्पनी ) क्या है

जो पालिसी दे रहे है क्लेम दे रहे है जैसे टाटा ,बिरला ,LIC बीमा कम्पनी आदि

अभिकर्ता (AGENT ) क्या है

जो कम्पनी और ग्राहक के बीच का सलाहकार है

साधारण शब्द -जो एजेंट किसी भी बीमा कम्पनी के साथ जुडा है और वो उस कम्पनी का प्रोडक्ट बेचता है उसी को हम एक बीमा एजेंट कहते है

बीमाधन  ( SUM ASSURED ) क्या है

बीमा राशी जीवित रहने पर पालिसीधारक को दिया जाता है और मरने के बाद जो उसका GRANTER होता है उसे दिया जाता है

परिपवक्ता (MATURITY ) क्या है

अगर कोई व्यकित बीमापूरा ख़त्म हो जाता है और जीवित रहता है तो उसको वो बीमा का पूरा अमाउंट दे दिया जाता है पालिसी के हिसाब से

राइडर ( RIDER ) क्या है

किसी भी पालिसी के साथ लिया गया अन्य लाभ जैसे दुर्घटना के लिए आन्तरिक लाभ ,बीमारी के लिए या अन्य कई राइडर पालिसी मैं जोड़े जा सकते है कम राशी पर अधिक लाभ

साधारण शब्द  दुसरे शब्दों मैं हम कह सकते है की राइडर जो है वो पालिसी के लाभ तथा हानि को आकलन करता है

और पढ़े –बीमा कितने प्रकार के होते हैं 8 प्रकार के लाइफ प्रोडक्ट जान लीजिये

बीमाकन ( UNDERWRITING ) क्या है

प्रस्ताव की जाच करना (प्रस्ताव आंकलन ) किसको पालिसी देना है किसको नही

इसका काम यह होता है की आप कोई पालिसी करते है तो उस पालिसी की जाच किया जाता है की ये पालिसी लेने के लिए सही है या नही इसको पालिसी देनी चाइये या नही इसी को हम बीमाकन कहते है

बीमाकनकर्ता  (UNDERWRITER ) क्या है

प्रस्ताव पर जोखिम आंकलन करने वाला

जब भी कोई पालिसी की जाती है तो इसका काम यही रहता है

जोखिम  एव आपदा (RISK AND PERILS ) क्याहै

जोखिम किसी अप्रिय घटना का घटित होना |जोखिम आपदा के प्रचलन पर असर डालता है |यदि फेफड़ो का केंसर एक जोख़िम है तो ध्रूमपान एक आपदा हो सकती है |

सर्वेयर (करोनर ) (INVESTIGATOR) क्या है

जो दुर्घटना एव बड़े दावे निपटाने के लिए जांच करता है | तथा बाहरी तत्व से जानकारी प्राप्त करता है |

चिकत्सा  रेफ्री( MEDICAL REFEREE ) क्या है

यह डॉक्टर की टीम है , जो अधिक जोखिम वाली पालिसी में चिकितसकिया जांच की रिपोर्ट तयार करता है | यह कंपनी के कर्मचारी नहीं है |

और पढ़े –बीमा के आधारभूत सिद्धांतों का वर्णन | एलआईसी का नियम क्या है?

आई .आर .डी .ए ( IRDA) क्या है

बिमा विनायक विकास प्राधिकरण |

अनुग्रह अवधि ( GRACE PERIOD ) क्या है

पालिसी की किस्त निश्चित तारीख में न निपटाने पर अतरिक्त अवधि होना /वार्षिक /अर्ध्वार्सिक /तिमाही में एक माह और मासिक में 15 दिन |

वय्पगत ( LAPSE ) क्या है

प्रीमियम न चुकाने पर पालिसी रुक जाना |

पुन्जिवन ( REVIVAL ) क्या है

लेप्स पालिसी को फिर से चालु करना |

नामित ( NOMINEE ) क्या है

बीमित का उतराधिकारी , मृत्यु के बाद जिसको दावा राशि प्राप्त होगी |

नयसी ( TRUSTEE ) क्या है

जिसको विसेस कानून द्वारा नामित बनाया जाता है , मृत्यु दावा इसी के नाम पर आता है |

विवाहित नारी सम्पति अधिनियम क्या है

( M. W.P.ACT )सिर्फ पतनी , बचों को विसेस कानून द्वारा नामित बनाया |

और पढ़े –बीमा जोखिम से आप क्या समझते हैं?

पृष्ठकन   (  ENDORSEMENT ) क्या है

यह एक प्रक्रिया है जो किसी एक परकार के परिवर्तन के लिए भरा जाता है , जेसे – नाम , पता , मोबाइल नंबर , मोड या कोई अन्य |

सम्नुदेसन ( ASSIGNMENT ) क्या है

सव्य की पालिसी अधिकार को दुसरो को बेच देना , या गिरवी रख देना या दान  कर देना की पर्करिया | पोलोसी देने वाला – सम्नुदेसक , पोलोसी लेने वाला सम्नुदेस्ती |

सविंदा ( CONTRACT ) क्या है

चूँकि पालिसी एक सम्पन्ति है इसलिए , पोलिसिधारक और कंपनी के बीच एक कानून सविक्रती बिना सरत के होती है , जिसे सविंदा कहते है |

उपखंड ( CLUASE ) क्या है

यह एक परकार की धारा है जो जायदा जोखिम वाले व्यक्ति पर लगाया जाता है | जेसे जायदा जोखिम वाले वयाव्साए पर , कार्य छेत्र , जटिल बिमारी आदि | एक बार यह धारा लगने पर पालिसी की पूरी अवधि चलती रहती है |

ग्रहणाधिकार ( LIEN ) क्या है

पालिसी ने कुछ निश्चित अवधि के लिए पालिसी अवधि को ध्यान में रखकर मृत्यु दावे पर सरते लगायी जाती है | बिमाकनकर्ता पर निर्भर करता है |

सतिपुरती ( indemnity ) क्या है

यह सिधान्त जीवन बिमा में नहीं होता अधिक लाभ की अनुमति नहीं |

परम सद्भावना ( UTMOST GOOD FAITH ) क्या है

पालिसी धारक को पालिसी लेते समय  अपनी सारी जानकारी प्रस्ताव पत्र पर भर कर देनी होती है | कंपनी इसको पूरण सत्या मानती है | अगर इसमें कोई गलत जानकारी जान्भुजकर भरी है या जानकारी भरी ही नहीं है | तो मृत्यु दावा निपटाने पर बाधा आएगी | जिसकी अवधि पोलासी सुरु होने की तिथि से अगले 24 माह तक होती है |

और पढ़े –बीमा किसे कहते है | बीमा के लाभ

बिमा योग्य हित ( INSUREABLE INTEREST ) क्या है

इसका  अर्थ है , आप बिमा सिर्फ उसी का ले सकते है , जो आपका खुद का हो अदार्थ जिसके जीवत रहने पर आपका फायदा हो | और जिसकी मृत्यु से आपको नुक्सान |

भोतिक जोखिम ( PHYSICAL RISK ) क्या है

सरारिक सरचना व्यवसाय से जुड़े जोखिम पुरुस अथवा स्त्री |

निस्पाधन का सामर्थ्य क्या है

सविदो के दोनों पक्षकारो  में निष्पादन की समता तथा योग्यता होनी चाहिए |

नेतिक खतरे ( MORAL HAZARDS ) क्या है

जूठ , बईमानी , सवास्थ के प्रति लापरवाही लालच इत्यादि |

मोचन निषेध ( FORECLOSURE ) क्या है

ऋण ब्याज समपर्ण मर्त्यु के बराबर होने पर मानव निषेध |

ओम्बडर्समेन ( OMBUDSMAN ) क्या है

यह एक लोपाल है जहा पोलिसिधारक और कंपनी के बीच होने वाले विवादों को सुल्झ्या जाता है | जिसकी सीमा 20 लाख रुपए तक होती है , विवादों का निपटारा 90 दिनों में होता है , इसके निर्णय को माने के लिए कंपनी बाध्य है किन्तु पालिसी धारक नहीं  | पालिसी धारक एक बार में सिर्फ एक ही मंच में जा सकता है | अधरात यदि उसका केस किसी अन्य कोर्ट या किसी अन्य मंच में चल  रहा है तो यह ओम्बडर्समेन के पास याचका नहीं डाल सकता |

जोखिम प्रतिधारण  ( RISK RETENTION ) क्या है

अपने जोखिम को सव्य ही वहन करना अधार्थ बिमा न करना |

जोखिम हस्तातर्ण ( RISK TRANSFER ) क्या है

अपने जोखिम को किसी और पर डाल देना अधार्थ बिमा कंपनी को दे देना |

मानव जीवन मूल्य ( HUMAN LIFE VALUE) क्या है

जिसकी जितनी वार्षिक आय है उसकी उतनी कीमत है किन्तु बीमा के अनुसार वार्षिक आय का 20 गुना होता है भविष्य की आय को वर्तमान मैं जोड़ना

और पढ़े –LOAN : लोन कैसे प्राप्त करे | लोन लेते समय क्या सावधानी बरतनी चाहिए

चुकता मूल्य (PAIDUP VALUE ) क्या है

दिए गए प्रीमियमो की संख्या X बीमाधन +बोनस /कुल प्रीमियम देने की संख्या

लोन (LOAN ) क्या है

समप्रमन मूल्य का 90% होता है ULIP पालिसी पर लोन नही मिलता है

कालातीत (REJECT ) क्या है

पालिसी के पूर्ण जीवन के समय निकलने के बाद यदि पालिसी को पूर्ण जीवित नही कराया जाता है तो पालिसी समाप्त हो जाएगी

एक्चुरी ( ACTUARY ) क्या है

यह कम्पनी का अधिकारी है जो कम्पनी के लाभ व् हानि और बोनस की गणना करता है

प्रथम प्रीमियम रिसीप्ट ( FIRST PREMIUM RECEIPT )

प्रथम प्रीमियम रसीद के बाद की सारी रसीदे क्या है

जोखिम का समूह ( POOLING of RISK ) क्या है

एक समान जोखिम वाले लोगो को एक समूह मैं रखना

इनकम टैक्स एक्ट 1961 क्या है

( INCOME TAX ACT ) (1 ) 80 c जीवन बीमा मैं निवेश मैं छूट 150000 तक (2 )  80D स्वास्थ्य बीमा की राशी पर छूट पर 15000 तक और माता पिता के लिए लेने पर 20000 तक ( 10D) पालिसी से मिलने वाला धन वो कर मुक्त होगा

अवधि बीमा ( term  insurance ) क्या है

maturity मूल्य से नही पालिसी अवधि मैं जोखिम सुरक्षा

बंदोबस्ती योजना ( endowment ) क्या है

मरने जीने दोनों पर बीमा की राशी मिलेगी

समूह बीमा ( GROUP insurance ) क्या है

बहुत सारे लोगो का बीमा एक पालिसी मैं लेना इसमें नियोक्ता प्रीमियम देगा और कर्मचारियों को बीमा होगा समूह मैं 25 लोग होने चाहिए और पालिसी मास्टर कहलाती है

शुध  बंदोबस्ती योजना क्या है क्या है

जीने पर ही दिया गया धन वापस मिलता है

सयुक्त जीवन बीमा ( joint life POLICY ) क्या है

दो व्यक्तियों की पालिसी एक मैं लेना यह केवल पति पत्नी और साझेदारी के लिए ही है

औघोघिक बीमा ( INDUSTRIAL POLICY ) क्या है

निम्न आय वर्ग के लोगो के लिए जो किसी उघोग मैं काम करते हो

सूक्ष्म बीमा ( MICRO insurance ) क्या है

जीवन बीमा पर 5 हजार से 50 हज़ार एक इसे दो प्रकार के अभिकर्ता बेच सकते है IRDA द्वारा पास अभिकर्ता ( अपराधी , अवयस्क , पागल अभिकर्ता नही बन सकते (2) NGO ग्रामीण बैंक निम्न वर्ग के लिए प्रीमियम भुगतान साप्ताहिक भी मान्य होगा

बीमा इतिहास ( insurance HISTORY ) क्या है

भारतीय जीवन बीमा अधिनियम 1912 मैं बना , बीमा अधिनियम 1938 मैं बना , भारतीय जीवन बीमा निगम 1 सितम्बर 1956 मैं बना , बीमा विनियामक विकास प्राधिकरण IRDA 1999 मैं बना और 2000 मैं लागू हुआ , m.w.p एक्ट 1874 मैं ,  ENAY मनी लांड्रिंग एक्ट 2002 मैं बना

जीवन चक्र ( life CYCLE ) क्या है

बचपन 0 से 17 वर्ष , अविवाहित युवा 18 से 35 वर्ष , विवाहित युवा 26 से 30 तक , सन्तान के साथ पिता  31 से 35 वर्ष ,  बडती संतान के साथ पिता 36 से 45 वर्ष , सेवानिर्वित से पूर्व 46 से 59 साल सेवा के बाद 60 वर्ष से मरने तक

निवेश प्राथिमिकता – उच्च प्राथमिकता तुरत निवेश आवश्यक , मध्य प्राथमिकता थोडा निवेश शुरू करना चाहिए , निम्न प्राथमिकता भविष्य मैं निवेश हेतु सोच कर रखे

बीमा प्रकार ( KINDS of insurance )

बीमा प्रकार – जीवन बीना -गैर जीवन बीमा -पूर्णबीमा

अग्नि -समुद्र -विविध-

मोटर -यात्रा -स्वास्थ्य -सम्पति -दायित्व

बोनस  क्या है

maturity दावा या मरने दावा पर बीमा धन के साथ मिलने वाली अतरिक्त राशी यह चार प्रकार का होता है

साधारण बोनस – प्रतिवर्ष बीमाधन पर मिलने वाला बोनस

चक्रवर्ती बोनस -प्रतिवर्ष बीमाधन और पूर्व के बोनस पर मिलने वाला बोनस

अंतिम बोनस – लम्बी अवधि वाली पालिसीयो पर मिलने वाला बोनस होता है

आन्तरिक बोनस – बीमा कम्पनी मैं मूल्याकन की तारीख 31 मार्च एक मूल्याकन परिणाम सितम्बर के माह मैं घोषित होता 31 मार्च और सितम्बर से पहले यदि कोई दावा आती है तो उसके बोनस का भुगतान एक्युरी एक अलग बोनस से करते है जिसे आंतरिक बोनस कहा जाता है

लदान ( LOADING ) क्या है

प्रीमियम पर कम्पनी द्वारा मागी गयी अतिरिक्त राशि जिसके कई कारण है जैसे कम्पनी के खर्च मैं बडोतरी , सहभागी पालिसी पर दिया गया बोनस ( मूल्याकन के बाद ) अनापेक्षित आकस्मक आने वाले बड़े मरने दाबे ( बाढ़ भूकम्प ) मरने की संख्या मैं इजाफा

ULIP (यूलिप ) क्या है

यह वह बीमा योजना है जिसका सम्बद्ध शेयर बाज़ार से होता जिसके अंदर धन के जोखिम ( पैसे की वर्धि या कमी ) उपभोक्ता द्वारा वहन की जाती है NAV-NET asset VALUE  शुध अस्ति मूल्य -ULIP मैं पैसे का लेनदेन NAV के रूप मैं होता है NAV खरीदने को OFFER PRICE कहते है NAV बेचने को BID PRICE कहते है

बचत उत्पाद  क्या है

जिसके द्वारा व्यक्ति धन बचाता हैजैसे बैंकिंग उत्पाद RD ,FD बचत खाता आदि , पोस्ट ऑफिस उत्पाद -RD ,FD ,KVP ,NSC , maturity फण्ड -शेयर बाज़ार के आधीन  CORPORATE BOND -एक प्रकार की FD निश्चित ब्याज दर पर ,शेयर -बाज़ार जोखिम के अधीन , मैटल धातु ,सोना चांदी ,जीवन बीमा

दावे क्लेम क्या है

– परिपक्वता दावा उतर जीविता लाभ ,घटी बीमा राशी का भुगतान ,चुकता मूल्य नही दावा मूल्य दावे (1 ) शीघ्र (2 ) सामान्य

विधि तथा ग्राहक -पारिश्रमिक 1938 बीमा अधिनियम (2 ) छूट देने का निषेध (3 ) बीमा एजेंट का लाइसेंस (4 ) न्याय /न्यासी (5 ) उच्च तथा निम्न जोखिम्युक्त ग्राहक

धारा 40 क्या है

(1 ) लाइसेंस प्राप्त अभिकर्ता के अतिरिक्त अन्य व्यक्ति को बीमा प्राप्त करने के लिए किसी भी प्रकार से  भुगतान का निषेध करता है

धारा -42 क्या है

बीमा एजेंट का लाइसेंस होना

धारा 44 क्या है

– पाच वर्षो तक एजेंसी चलाने के पश्चात एजेंसी समाप्त होने पर भी नवीकरण कमिशन देय है यदि समाप्ति वर्ष पूर्व कम से कम 50000 कुल बीमित राशि की पालिसी उस वर्ष मैं बीमाकर्ता (LIC ) को मिली हो

जीवन बीमा एजेंट परीक्षा प्रश्न व उत्तर  इम्पोर्टेन्ट

एक सामान्य योजना के किस प्रकार सम्ताहिक क़िस्त को प्राप्त किया जा सकता है ?

ans. माइक्रो बीमा

पुन बीमाकरता का ग्राहक कौन है ?

ans. बीमा कंपनी

माइक्रो या लघु बीमा प्रोडक्ट्स कौन से बाज़ार को मैं किन व्यक्तियों को दिया जाता है ? 

ans. इसमें आपको अपने परिवार की सुरक्षा दिया जाता है बच्चे की शिक्षा और शादी मैं काम आता है अगर अपनी नौकरी से रिटायर हो गए तब

IRDA की शुरुआत कब की गयी ?

ANS. 1999

IRDA का क्या कर्तव्य है ?

Ans . ये बीमा कम्पनी के विकाश के लिए rule और इनको समय समय पर निर्देश दिए जाती है और इन पर नजर रखी जाती है

बीमा लेने की आवश्यकता क्यों है ?

Ans . अपना भविष्य को सुक्षित बनाना , अपने जीवन को सुरक्षित रखना और बचत के लिए

अगर कोई कम्पनी अख़बार के जरिये अपना बीमा प्रोडक्ट को बेचती है तो उसे क्या कहते है ?

Ans .डायरेक्ट सेल या बिक्री

अखबार में विज्ञापन के माध्यम से सामान बेचने वाली बिमा कंपनी को क्या कहाँ जाता है ? 

ans . प्रत्यक्ष बिक्री

किसी भी नुकसान का सिधान्त  उस सिधान्त पर आधारित होता है की जिसने पालिसी ली उसको बचाना ?

ans . बिमा से लाभ अर्जित कर रहे है

नरेश एक बीमाकर्ता है जिसको किसी भी काम के लिए बिमा किश्त को लगाने का गहरा अनुभव है उनका प्रोफाइल किस प्रकार का होगा ?

ans . एक बिमकंक

यदि ग्राहक सभी वीतय वस्तुओ में भेद भाव करना चाहे तो वह किस आदमी से सही राय ले सकता है ?

ans . दलाल

राकेश अपने परिवार की सुरक्षा के लिए एक मियादी बिमा योजना को लेना चाहता है , उसे किसे मिलने की सलाह दी जानी चाहिए ?

ans . जीवन बिमा

बिमा व्यापार को कोनसे तीन मुख्या प्रकारों पर बांटा गया है ?

ans . जीवन , सवास्थ्य .पुनबिमा

जीवन बिमा कंपनी जोखिम की गणना किस आधार पर करती है ?

ans . दावे के अनुभव पर

जीवन बिमा में जोखिम को किस आधार पर निर्धारित किया जाता है ?

ans . विगंत आकडे

मनुष्य को जीवन बिमा की जरूरत क्यों होती है ?

ans .  मृत्यु का समय अनिश्चित है

बिमा व्यवसाय से तालुक है ?

ans . परिसपंतियो का आर्थिक मूल्य

अप्रत्यक्ष विपणन का कोनसा मार्ग सही नहीं होता ?

ans . इंटरनेट के द्वारा

एक बीमा चालक किसके बीच मध्यस्थ है ?

ans . ग्राहक व् बिमा कंपनी

एक सविंदा सामने आती है तो क्या होता है ?

ans . एक पार्टी पेशकश करती है और दूसरी पार्टी बिना शर्तो को सविक्रिती करती है |

बेंक इसोयोरंस क्या है ?

ans . बैंक के द्वारा बिमा बिक्री |

बिमा बाजार बटा हुआ है ……… ?

ans . जीवन एंव सामान्य ( गेर जीवन बिमा )

यदि 5 % बोनस हर साल दिया जाता है तो  एक लाख के एस ए पर 15 साल बाद दोबारा समान निराक्ष्ण किया जाये तो क्या भुगतान होगा ?

ans . 75000 .

Q . बीमा किस जिखिम के लिए किया जाता है 

ans. शुध जोखिम

Q . बीमा किस तरह की विधि है 

ans. जोखिम किसी और को देना

Q . जीवन बीमा लेने का मुख्य कारण क्या है 

ans. जीवन की सुरक्षा

Q . लोकपाल को कितने दिन मैं अपना फैसला लेना होता है 

ans. 30 दिन मैं लेना होता है

Q . जोखिम मैं क्या समलित होता है

ans. संकटपूर्ण और खतरनाक , स्तर ,अनिश्चिता

Q . बीमा कपनी द्वारा एक समानं जोखिम को सूचीबद्ध करना क्या कहलाता है

ans. जोखिम पुलिग

Q. श्री महेश एक सॉफ्टवेर इंजीनियरिंग है उसने तीन लाख रूपये 30 वर्ष के लिए मियादी बीमा लिया यह किस तरह का उधाह्र्ण है

ans . जोखिम हस्ताक्षर

Q . एक ग्राहक ने एस ए 800000 और निहित बोनस 60000 के साथ एक स्थायी निधि पालिसी ली है उसने 30 वर्ष की योजना मैं 8 वर्ष वार्षिक बीमा किस्तों का भुगतान किया है भुगतान किये गए चुकता मूल्य की गणना करे

ans . 273333

Q . एक बीमा पालिसी मैं फ्री लॉक इन पीरियड कब शुरू किया गया है

ans. जब पालिसी प्राप्त की जाती है

Q . जीवन बीमा सविधा मैं बीमाक्र्नीय ब्याज की आवश्यकता कब पड़ती है

ans. पालिसी के पारंभ होने पर

Q . दावे की सुचना एक समाचार पत्र मैं विज्ञापन के माध्यम से देंने की जरूरत क्यों पड़ती है

ans. पालिसी के दस्तावेज गुम होने पर

Q . एक पालिसी के दो नाम्कित व्यक्ति है दोनों नामकित व्यक्तियों को क्या राशी दी जानी चाहिए

ans . इस सम्बद्ध मैं किसी भी प्रकार की कोई सीमा नही है

Q . मीनू के जीवन पर शीनू एक पालिसी लेता है तो मीनू क्या है

ans. प्रस्तावकर्ता

Q . बीमा पालिसी की परिपवक्ता पर राशी का केवल 25 प्रतिशत भुगतान किया जाता है इसका क्या कारण हो सकता है

ans . यह धन वापसी पालिसी है

Q . पालिसी लेने के बाद कितने दिन के भीतर ग्राहक पालिसी को वापस कर सकता है

ans . 15 दिन के भीतर

Q . बीमा सविधा मैं प्रवेश करने की न्यूनतम आयु क्या है

ans  . 18 साल तक

Q . एक अभिकर्ता ने 10 फरवरी 2011 को पालिसी स्म्प्रपित की यह ग्राहक नई योजना कब खरीद सकता है

ans . 2014 मैं

Q . बीमाकरणीय लाभ कब लागू होता है

ans . सविधा का शुरू मैं

Q . शुद्ध प्रीमियम बराबर है

ans . जोखिम प्रीमियम +ब्याज अर्जन

Q . बीमा मैं जोखिम के पुलिग का क्या अर्थ है

ans . समस्त समरूप जोखिम एक साथ पुल किये गए

Q . कार्यरत व्यक्ति को कितना बीमा दिया जा सकता है

ans . मानव जीवन मूल्य के अनुसार

Q . आतरिक बोनस किस अवधि तक वैध है

ans . अगले बोनस की घोषणा तक

Q . अप्रवासीय भारतीय द्वारा निवेश होगा

ans . जोखिम उच्च जोखिम

Q . ए सी आर की आवश्यकता क्यों पड़ती है

ans . प्रस्ताविक योजना को सत्यापित करना बीमाकर्ता को जोखिम आंकलन मैं सहायता करना

Q . प्रस्तावक निर्णय के सम्बद्ध मैं ग्राहक को कितने दिनों के दौरान सूचित किया जाना चाहिए

ans . 15 दिन

Q . बीमा अधिनियम 1938 ने इनमे से क्या सुरजीत किया

ans . प्रशुल्क सलाहकार समिति TAC

Q . अधिक संख्या का नियम बीमाकर्ता को सहायता करता है

ans . मुर्त्यु दर को निर्धारित करने मैं

Q . ग्राम पंचायत से प्राप्त आयु प्रमाण है

ans . मानक नही है परतु स्वीकार है

Q . एम् पी एल का पूरा मतलब क्या है

ans . मैक्सिमम पोसिबल प्रोसेस

Q . आयकर छूट लाभ हेतु बीमा क़िस्त का अधिकतम स्तर क्या है

ans . 100000

Q . ग्राहक का प्राथमिक बीमाकर्ता कौन है

ans . अभिकर्ता

Q . किस पालिसी मैं पालिसी धारक लोन ले सकता है

ans . मियादी पालिसी

Q . सुक्ष बीमा मैं अधिकतम सुरक्षा कितनी होती है

ans . 50000 तक

Q . जो परिवार की सुरक्षा चाहता है उसके लिए कौन सी पालिसी अच्छा है

ans . मियादी पालिसी

Q .  कौन सा बीमा उत्पाद धारा 80C के तहत आयकर अधिनियम 1961 नही आता है

ans . हेल्थ बीमा योजना का अदा किया गया प्रीमियम

जीवन बीमा महत्वपूर्ण MOCK टेस्ट 50 question

Q . 1  – एक व्यक्ति बीमा लेकर प्रीमियम का भुगतान कर बीमाकर्ता को हस्तारित करता है वो क्या कहलाता है

ans . जोखिम

Q . राज ने हाल ही मैं एक हेल्थ बीमा पालिसी और एक व्यक्तिगत  दुर्घटना पालिसी खरीदी है बताये की ये पालिसी किस बीमा बाज़ार से सम्बधित है

ans . दोनों ही तरीके से ये एक गैर जीवन बीमा पालिसी है

Q . गैर जीवन बीमा कम्पनी मैं जोखिमकर्ता की मुख्य क्या भूमिका है

ans . विशेष रूप से जोखिम की स्वीकार्यता का आकलन करना

Q . अक्षित अपेशाकृत  रातर्क व्यक्ति है बीमा के सन्धर्भ वह समान्यता  विरधी करना पसद करेगा

ans . आवश्यक बीमा जोखिम

Q . अवधि बीमा के अंतर्गत आपदाओ और जोखिमो के मध्य समान्यता कैसे अंतर किया जाता है

ans . आपदाए वे खतरे है की पालिसीधारक की  विनिदिर्ष्ठी दिनाक से पहले मुर्तु हो जायेगी उन खतरे को प्रभावित कर सकते है

Q . बीमा के स्धर्भ मैं एक अपगता होने का खतरा किस प्रकार के जोखिम के रूप मैं वर्णित है

ans . वितीय

Q . ग्रह बीमा पालिसी के लिए बीमा हित केवल शुरू मैं मौजूद होना जरुरी है

ans . दावा उत्पन्न होने की तारीख पर

Q . राहुल सनी के यहा नौकरी करता है इस रोजगार के सदर्भ मैं राहुल का सनी के जीवन मैं बीमा हित किस सीमा तक है

ans . राहुल के मासिक वेतन

Q . अरुण ने 20 वर्षो के लिए अवधि बीमा पालिसी पारम्भ की पालिसी अवधि के दौरान बीमाकर्ता अरुण से अच्छे हेल्थ का प्रमाण प्रस्तुत करने के लिए कब कह सकते है

ans . इसका जवाब है कोई नही

Q . शतिपुर्ती की अवधारणा इस मत्वपूर्ण सिधान्त पर आधारित है की पालिसीधारक को रोका जाना चाहिए

ans . बीमा से अनुचित लाभ हेतु

Q . जीवन बीमा पालिसी के अंतर्गत जब एक बार परम समनुदेशन हो जाता है तब इस पालिसी का हकदार कौन होता है

ans . सभी मामलो मैं समनुदेशती

Q . अवधि बीमा पालिसी के अंतर्गत पालिसी दस्तावेज प्राप्त होने की तारीख से कितने समय की अवधि तक मुक्त लाक in अवधि या कुलिग आफ अवधि का विकल्प होता है

ans . 15 दिन

Q . एक जीवन बीमा कम्पनी ने 14 दिन की गारंटी के लिए 10 फरवरी को एक कुटेशन जारी किया जो की ग्राहक को 10वे दिन प्राप्त हुआ है बीमा कम्पनी जोखिम को तभी अस्वीकार कर सकती है यदि

ans . अगर आवश्यक तत्त्यो मैं बदलाव करने पर

Q . एक धन वापसी योजना पालिसी दस्तावेज के किस मुख्य भाग मैं यह उल्लेस्ख करता है की प्रस्तावक द्वारा हस्ताक्षित प्रस्ताव और घोषणा सविदा का आधार होती है

ans . प्रस्तावना

Q . एक जीवन बीमा योजना मैं चुकता मूल्य का भुगतान किया जा सकता है जब एक विशिट पालिसी मैं विघमान हो

ans . बचत तत्व

Q . एक जीबन बीमा प्रस्तावक पत्र मैं निम्न मैं से कौन सा कारक प्रस्तावक की उचाई से उचित तुलना करने मैं सक्षम है

ans . वजन

Q . एक जीवन बीमा पालिसी के अंतर्गत प्रतिवर्ष बढ़ती लचीली प्रीमियम योजना परिचालित होती है इस योजना के अंतर्गत प्रीमियम राशि सामान्यता कितने प्रतिशत वार्षिक अधिक होती है

ans . 5.0%

Q . 30 वर्ष की एक जीवन बीमा पालिसी के अंतर्गत बीमाधन राशि और प्रत्यावर्तित बोनस से अधिक भुगतान किया अधिक भुगतान का परिणाम है

ans . एक टर्मिनल बोनस

Q . एक बार ग्र्हंधिकार की अवधि समाप्त हो जाती है तब एक जीवन बीमा पालिसी के अंतर्गत बीमाधन राशि का समान्यता क्या होता है

ans . अधिक होता है

Q . एक 19 साल का व्यक्ति को मुख्य बीमा सुरक्षा की जरूरत निम्न मैं से किसे लिए सबसे अधिक होता है

ans .  आत्म सरक्षण

Q . रोहन ने एक जीवन बीमा पालिसी खरीदी जिसमे वह एक मास्टर पालिसीधारक के रूप मैं वर्गीकृत है इस रूप मैं उसकी भूमिका है

ans . एक नियोक्ता की

Q . एक बीमा अभिकर्ता से निवेश की सलाह की आवश्यकता साधारणत कब होती है

ans . बाज़ार जानकारी का आभाव

Q . जिस व्यक्ति के पास वितीय नियोजन के लिए पूजी नही है उन्हें बचत के किस तत्व की सबसे अधिक आवश्यकता होगी

ans . आपत्कालीन निधि सुरजन

Q . सुरेश सीधे निगमित ब्रांड मैं निवेश करके अपनी आय की जरूरत पूरी कर रहा है वह किस रूप मैं इस आय को प्राप्त करेगा

ans . ब्याज भुगतान के रूप मैं

Q . नितिन अपनी प्रयोज्य आय निवेश करना चाहता है जिसमे की एक बेहतर कर बचत हो सके वह एक इक्वटी लीकवड बचत योजना या राष्टीय बचत प्रमाण पत्र और एक बदोबस्ती पालिसी के लिए विचार कर रहा है किस निवेश मैं उसकी कर योग्य आय मैं से प्रीमियम कटौती कर बचत की अनुमति को प्रदान करता है

ans . इक्वटी लिकवद बचत योजना , राष्टीय बचत प्रमाण पत्र और बंदोबस्ती पालिसी

Q . एक निवेशक के पास शेयरों की एक  list है यदि भारतीय रिज़र्व बैंक मत्वपूर्ण ब्याज दरो मैं विर्द्धि करती है इन शेयरों के मूल्य

ans . कम होगे

Q . गारटी बीमा राईडर का मुख्य प्रयोजन पालिसी धारको को यह अधिकार देता है

ans . जब जीवन मैं कोई मुख्य घटना घटित हो बीमा सुरक्षा मैं विरधी करने का

Q . हाल के वर्षो मैं हेल्थ देखभाल की लागत मैं परिवर्तन होने से हेल्थ बीमा क्या प्रभाव हुआ है

ans . बीमा की सुरक्षा अधिक विरधी

Q . हाल के वर्षो मैं किन मुख्य समस्याओ के होने से पेंशन सभी की सामान्य जरूरत बन गयी है

ans . आय मैं प्रत्याशीत गिरावट

Q . महेश स्वय अपनी पत्नी और अपने बच्चो जिसकी आयु 15 और 10 वर्ष है के लिए हेल्थ बीमा प्रीमियम का भुगतान करता है इसमें से किसके के लिए महेश की कर योग्य आय मैं से प्रीमियम कर बचत के लिए पात्र होगी

ans . महेश उसकी पत्नी और उसके दोनों बच्चे

Q . ग्राहक तथ्य अन्वेषण करते समय ग्राहक का एकमात्र मुख्य उदेश्य हेल्थ सम्पति बीमा योजना जरूरत पर केद्रित है ग्राहक इसमें से जीवन की किस विशिट जीवन अवस्था से सम्बधित है

ans . सेवानिवुर्ती

Q . वेतन स्तर के आलावा अभय की नौकरी की क्या अन्य विशेषता है जो उसके पेंशन जीवन बीमा और हेल्थ योजना जरूरत के स्टार को सबसे ज्यदा प्रभावित करती है

ans . या तो सर्वजनिक या फिर प्राइवेट नौकरी है

Q . वितीय नियोजन के सन्दर्भ मैं वास्तविक जरूरते और कथित जरूरते के बीच अंतर को किस प्रकार सबसे अछे तरुके से वर्णित किया जा सकता है

ans . वास्तिक जरूरते या कथित जरूरते ग्राहक के विचारो और इच्छाओ पर आधारित जरूरते

Q . वितीय नियोजन प्रकिर्या के अंतर्गत बीमा अभिकर्ता अपने ग्राहक को जाने  प्रक्रिया की औपचारिकतायए पूरी करने के पश्चात ग्राहक से उसकी फोटोग्राफ के लिए किस स्टार पर अनुरोध करता है

ans . प्र्स्तुतीक्ररण वार्ता समाप्त हो जाने के बाद

Q . एक अभिकर्ता बिना गारटीड लाभ के निवेश उत्पादन की सिफारिश करता है एक लाभ दृष्टान प्रत्येक परिकलित के लिए काल्पनिक वार्षिक दर को दर्शाता है

ans . 6% और 10%

Q . ग्राहकों के दस्तावेज मैं कमिशन विवरण दर्शाने का मुख्य उदेश्य ग्राहकों और बीमाकर्ता मैं विरधी करना है

ans . पारदर्शिता

Q . बीमा अभिकर्ता ने एक ग्राहक को उसके दस्तावेज मैं दी गयी जानकारी के अनुसार कम जोखिम युक्त उत्पाद मैं पूंजी निवेश की सलाह दी लेकिन ग्राहक उच्च जोखिम युक्त उत्पाद मैं पूंजी निवेश की सलाह दी लेकिन ग्राहक उच्च जोखिम युक्त उत्पादन मैं पूंजी निवेश के लिए जोर देता है इस स्थिति मैं एक बीमा एजेंट को उचित फैसला लेना चाहिए

ans . एजेंट को ग्राहक के निर्देश का अनुपालन करना चाहिए साथ ही ग्राहक को यह स्पष्ट करना उचित है की दस्तावेज इस सलाह के विपरीत है

Q . एक बीमा एजेंट ने एक ग्राहक को वर्तमान निवेश उत्पादन को समपर्पित कर एक नये निवेश उत्पादन मैं निवेश करने की सलाह दी यह नीतिगत सलाह है अथवा नही एक बीमाकर्ता को क्या मापदण्ड अपनाने चाहिए

ans . ग्राहक का हित सर्वोत्तम है

Q . नितेश ने एक 30 साल की बदोबस्ती पालिसी ली थी परतु पालिसी परीपकव होने से 5 साल पहले ही उसकी मुर्तु हो गयी ऐसे क्या मुख्य कारण थे की बीमाकर्ता को इस प्रस्तुत दावे को शीघ्र मुर्तु दावा मानकर शीघ्र मुर्तु दावा प्रोसेस के अंतर्गत कारवाई हेतु बाध्य होना पड़ा

ans . पालिसी लेप्स थी तथा मरने से कुछ समय पहले ही पालिसी को जीवित किया गया

Q . प्रत्येक बीमाकृत व्यक्ति प्रस्तुत जोखिम के लिए एक उचित प्रीमियम लाता है इस हेतु कौन सी महत्वपूर्ण घटना बीमा कंपनियों को बचाने मैं  सबसे अधिक सहायक होती है

ans . एक धोकाधड़ी का दावा

Q . अवधि बीमा पालिसी के अंतर्गत एक व्यक्ति द्वारा प्रस्तुत किया गया जिसमे की उसकी आयु वास्तविक आयु से कम थी ऐसे स्थिति बीमाकर्ता पूरा दावा भुगतान करने के विकल्प मैं क्या मत्वपूर्ण कारवाई करने हेतु बाध्य होना पड़ेगा

ans . धोखाधडी के आधार पर दावा को कैंसिल कर दे

Q . एक बदोबस्ती बीमा पालिसी की परीपकवता पर घटी हुई बीमा राशी का भुगतान किया गया इसकी मुख्य वजह की सम्भावना क्या हो सकते है

ans . पालिसी अवधि  के  दौरान पालिसी चुकता हो चुकी हो

Q . एक बीमा एजेंट ने उसी बीमा कम्पनी के लिए लगातार 20 साल तक सेवा प्रदान की तत्पशचात अपना काम बंद कर दिया बीमा अधिनयम 1938 की धारा 44 के अनुसार उसके द्वारा अर्जित नवीकरण प्रीमियम को उसकी एजेंसी की समाप्ति के बाद रोका जा सकता है यदि

ans . धोखाधड़ी के मामले मैं

Q . अधिनियम किस संस्था को सर्वे करने और हानि का मूल्याकन करने हेतु आचार सहिता अनुपालन करने का अधिकार देता है

ans . बीमा अधिनियम और विकाश प्राधिकरण IRDA

Q . शुल्क सलाहकार समिति TAC के कार्य कलाप मैं से कौन सा मुख्य कार्य अभी लागू किया जा रहा है

ans . मानक पालिसी शब्दावली

Q . एक ग्राहक की शिकायत प्राप्त होने पर एक अभिकर्ता जोखिम को न्यूनतम करने के लिए यापक तथ्य अन्वेषण करने के अलावा और कौन सा मुख्य कार्य कर सकता है

ans . सही और विस्तृत जानकारी देना

Q . बीमा लोकपाल द्वारा पारित अधिनिर्णय केवल बीमा कम्पनी पर बाध्यकारी होगा यदि

ans . शिकायतकर्ता इस फैसले को स्वीकार करता है

Q . एक पालिसीधारक ने अपने जीवन बीमा पालिसी  के अंतर्गत एक परीपकवता दावा प्रस्तुत करने के लिए एजेंट से मार्गदर्शन हेतु कहा परतु कार्य दवाब के कारण एजेंट ने मार्गदर्शन हेतु मना कर दिया परिणाम स्वरूप इस करवायी को किसका उल्घंन माना जायेगा

ans . बीमा अधिनियम और विकास प्राधिकरण की आचार सहिता का IRDA

Q . जीवन बीमा लेने के लिए आवेदन प्रोसेस के अंतर्गत एक ग्राहक ने एजेंट को बताया की उसे चार माह पहले एक मामूली सी बीमारी हुआ था लेकिन इसका प्रकटन आवेदन फार्म मैं नही किया गया इस कंडीशन मैं एजेंट को बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण की आचार सहिता के अनुसार क्या करना चाहिए

ans . इस तथ्य की जानकारी को बीमाकर्ता को सूचित करे

निष्कर्ष – ये पोस्ट उन लोगो के लिए जरुर है जो जीवन बीमा का एग्जाम देना चाहते है इसमें बहुत से टॉपिक को कवर किया गया है और आगे भी टॉपिक ऐड किया जाएगा और ये पोस्ट हस्ते या महीने मैं एक बार जरुर अपडेट किया जायेगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *