इनकम टैक्स RETURN कैसे भरे | अपनी इनकम टैक्स RETURN कैसे VERIFY करे

इनकम टैक्स RETURN कैसे भरे | अपनी इनकम टैक्स RETURN कैसे VERIFY करे

क्या आप अपनी इनकम टैक्स की Return को 5 मिनट मैं भरना चाहते है जी हां आप आसानी से भर सकते है बस आपको हमारे द्वारा दिए गए इन स्टेप को फॉलो करना है

पहला स्टेप

आपको कुछ बातो की जानकारी होनी चाहिए वो जानकरी हम आपको इस पहले स्टेप मैं बताने जा रहे है

फाइनेंसियल इयर्स और assessment इयर्स क्या होता है

माना की आप ने  19-20 की इनकम टैक्स की RETURN भरना चाहते है 19 -20 की इनकम टैक्स की RETURN को हम 20-21 की assessment इयर्स की return माना जायेगा इसमें 19-20  जो हमारा पिछला साल खत्म हो चूका है

उसकी return हम 20-21 मैं लास्ट 31 मार्च 2021 तक हम भर सकते है तो हमारा 19-20 फाइनेंसियल इयर्स मना जायेगा और 20-21 को हम assessment इयर्स माना जायेगा

आशा करते है की आप को ये समझ आ गया होगा जब आप को इनकम टैक्स return भरगे तो आप को सबसे पहले फाइनेंसियल ही सेल्क्ट करना होगा

इनकम टैक्स return भरने के लिए आपके पास कौन से डॉक्यूमेंट होने चाहिए

आपको इनकम टैक्स भरने के लिए जरुरी दस्तावेज ये है

पैन कार्ड , आधार कार्ड , बैंक पासबुक  बस आपके पास ये तीन डॉक्यूमेंट होने चाहिए

डिडक्शन पार्ट –

अब हम आपको इनकम टैक्स मैं छूट के बारे मैं बतायेगे आपको किस किस मैं छूट मिल सकता है

सेक्शन 80 C क्या है

सेक्शन 80 C मैं आपको  किन किन investment पर छूट मिलती है

LIC – लाइफ इन्सुरेंस क़िस्त – अगर आप लाइफ इन्सुरेंस है और आप प्रीमियम भरते है तो आपको उस प्रीमियम पर आपको 80 C के तहत प्रीमियम पर छूट मिलती है और आप जब भी इनकम टैक्स की RETURN भरे तो अपना पुरे साल का प्रीमियम का कैलकुलेशन कर ले

PF –  अगर आपका PF कटता है तो आपको इसमें 80 C के तहत छूट मिल जाएगी

PPF -आपको 80 C के तहत जो है वो PPF पब्लिक प्रोवाइड फण्ड मैं आपको छूट मिल जाएगी

हौसेसिंग लोन – अगर आपका हौसेसिंग लोन प्रीमियम भरते है तो आपको प्रीमियम पर 80 C  के तहत आपको इनकम टैक्स मैं छूट मिल जाएगी

ट्यूशन फीस – अगर आप स्कूल मैं ट्यूशन फीस पे करते है तो आपको 80C के तहत छूट मिल जाएगी

SECTION 80D क्या है

इस सेक्शन मैं आप मेडिकल प्रीमियम पर छूट दिया जाता है इसमें सिर्फ 25000 तक क़िस्त पर छूट है और अगर आप की ऐज 60 साल से ऊपर है तो आप इसमें  आपको 30000 हज़ार तक की छूट मिल जाती है

सेक्शन 80 DD

इसमें अगर आप पर कोई विकलाग DEPAND करता है अगर वो 40 % विकलाग है तो उसमे आपको 75000 तक मेडिकल मैं छूट मिल जाएगी  अगर वो 80 % है तो उसमे 125000 तक की छूट मिल जाएगी

डोनेशन – अगर आप ने कही रजिस्टर्ड जगह डोनेशन किया है तो आपको इसमें छूट मिल जाएगी

नोट – सभी छूट को मिलाकर आप सिर्फ 1.50 तक ही छूट मिल सकता है इसमें आपकी सालाना आय 250000 तक छूट होती है और अगर 2.50 तक ऊपर चले जाते है तो आपको इनकम टैक्स पे करना होता है इनकम टैक्स के सेक्शन मैं आप इसमें छूट प्राप्त कर सकते हो  और अपना टैक्स बचा सकते हो

इनकम टैक्स रिटर्न कैसे भरे 5 मिनट मैं

paytm से इनकम टैक्स की return भरना 

सबसे पहले हम आपको paytm से इनकम टैक्स की return को भरना बताते है सबसे पहले आपको paytm मैं जाना है और paytm मैं सर्च करना है TAX2WIN आपके पास  green कलर का एक लोगो आयेगा उस पर TAX 2WIN लिखा होगा आपको उस पर चले जाना है

स्टेप2 – फिर आपको TAX2WIN का एक पोर्टल खुल जायेगा आपको FILE ITR NOW पर जाना है

आपके पास RETRUN भरने के काफी आप्शन पूछेगा आपको उसमे YES और NO  करना है

इसमें आपको फार्म 16 A अपलोड करने का आप्शन मिलेगा अगर आपका TDS कटता है तो आपको सिर्फ अपलोड करना है डिटेल ये अपने आप उठा लेगा

आपको अपना अकाउंट नंबर और IFSC code भी जरुर भरना होगा

सभी सेक्शन पूछेगा अगर आप उन सेक्शन मैं अमाउंट भरनी है और आपकी अपने आप आपकी आय मैं से कम हो जायेगा

इसमें आप कम्प्यूटेशन भी खुद ही बना देता है आप TAX2WIN की डायरेक्ट वेबसाइट पर भी जा कर आराम से इनकम टैक्स की return भर सकते है

जब आप return भर लेते है तो आपको इनकम टैक्स की वेबसाइट पर इसको वेरीफाई करना होता है इसके लिए आपका आधार नंबर और मोबाइल नंबर और पैन कार्ड लिंक करना होगा

वेरीफाई इनकम टैक्स रिटर्न

आपको   सिंपल ही इनकम टैक्स की वेबसाइट पर जाना होगा आपको e-VERIFY return पर जाना है  आपको वहा पर अपना पैन नंबर अपना assessment इयर्स को सेलेक्ट करना है और अपना acknowledgement नंबर भरना है और कंटिन्यू पर जाना है

आपको सिंपल अपना आधार नंबर भरना है और अपनी डिटेल को भरना है आपके पास OTP आयेगा आपको उस भर देना है और सुम्बित करना है आपकी इनकम टैक्स की रिटर्न वेरीफाई हो जाएगी

इनकम टैक्स रिटर्न को वेरीफाई करने का फायदा

इसका फायदा ये है की आपको एक कॉपी जो इनकम टैक्स मैं भेजनी होती थी वो नही जाएगी जिससे आपका टाइम और पैसा दोनों बचेगा और आपकी इनकम टैक्स रिटर्न आधार के जरिये वेरीफाई हो जाएगी

इनकम टैक्स रिटर्न का वेरीफाई ना करने का नुकसान

आपको एक कॉपी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट मैं भेजनी होगी इसके लिए आपको डाक मैं स्पीड पोस्ट के जरिये भेजनी होती है इसमें आपका टाइम और पैसा दोनों जायेगे

इनकम टैक्स रिटर्न ना भरने की धारणा

बहुत सारे लोग जिनका TDS कटता है वो भी इनकम टैक्स की रिटर्न नही भरते है और वो TDS के पैसे से वंचित रह जाते है और आपको जिनका TDS कटता है वो इनकम टैक्स की रिटर्न को जरुर फाइल करे इससे आपको बेनिफिट होगा

निष्कर्ष – आशा करता हु की आपको इनकम टैक्स रिटर्न के बारे मैं ये जानकारी अच्छी लगी होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *