GST R3B Return कैसे भरे | gstr 3b meaning

GST R3B Return कैसे भरे  gstr 3b meaning अगर आपके पास उसकी अच्छी जानकारी नहीं है तो आप वो काम नहीं कर सकते है अगर ये मंथली रिटर्न  की जगह अगर तीन महीने मैं भी हो जाती है पर आपको ये जानना बहुत ही जरुरी है की RETURN की सार्री बाते वो भी काफी सरल भाष मैं 

अगर आपके पास नॉलेज कम है और आप फिर भी जीएसटी रिटर्न  भर रहे है तो आप कहि ना कहि कुछ ना गलती करते होंगे इसका खामयाजा आपको भविष्य मैं भुगतना पड़ सकता है 

आपको बता दे की जीएसटी आर 3बी   एक महीने की रिटर्न  होती है जो हर महीने भरनी होती है इसमें आपके सेल और खरीदारी  का पूरी डिटेल होती है 

आपको बता देना चाहता हु   की आपसे कोई भी बिल की डिटेल नहीं मांगी जाएगी बस आपको सेल का क्या अमाउंट है और उसका क्या टैक्स है बस इन्ही सब का हिसाब कर के देना होता है खरीदारी  का कितना टैक्स आप ने कलेक्ट किया है जिसे हम इनपुट टैक्स कहते है आपको उसी की डिटेल देनी है 

आप GST की पोर्टल पर जायेगे सर्विस मैं जायेगे और रिटर्न  पर सेलेक्ट करेंगे जीएसटी आर 3बी  मंथली रिटर्न  वहा पर प्रिपेयर ऑनलाइन और प्रिपेयर ऑफलाइन दोनों ही पूछेंगे इसका मतलब मैं बता देना चाहता हु की प्रिपेयर ऑफलाइन एंड प्रिपेयर ऑनलाइन मैं क्या अतर है ऑनलाइन मैं आप जीएसटी  पोर्टल पर ही डाटा को भर सकते हो 

what is gstr 3b return in hindi

GST R3B Return कैसे भरे | gstr 3b meaning

 

ऑफलाइन मैं आप  जीएसटी आर 3बी  जैसे आप टैली बिजी या कोई अन्य लोकल सॉफ्टवेयर इस्तेमाल करते है आपको वहा से डाटा आपके सॉफ्टवेयर आटोमेटिक बना देगा आपको बस वहा पर अपलोड करनी होती है 

 

आप ने कभी जीएसटी आर 3बी रिटर्न  भरते है वक्त उन पॉइंट के बारे मैं सभी को पता होना चाहिए एक बिज़नेस मैन और एक अकाउंटेंट को  हम पहले आपको उन पॉइंट के बारे मैं बता देना चाहते है जिस पर डिसकस  करने वाले है बड़े ध्यान से पढ़ना क्युकी ये बाते आपके दिमाग मैं बैट जानी चाहिए

 

gstr 3b due date due date
GST R 3B due date MONTHLY (जून 2021) 20 जुलाई 2021
GST R 3B due date (अप्रैल से जून ) 22 ,24 जुलाई 2021

GST R3B Return कैसे भरे | gstr 3b meaning

      नाम ऑफ़ सप्लायर सेल 

1 . आउटवर्ड टैक्सेबल सप्लाइज 

      ( अन्य और जीरो रेट ,नील रेट एंड टैक्स फ्री )

2 . आउटवर्ड  टैक्सेबल सप्लाइज 

      जीरो रेट 

3.  अन्य आउटवर्ड सप्लायर 

      नील रेट टैक्स फ्री

4. इनवर्ड  सप्लाइज (  फॉर रिवर्स चार्जेज )

 

5 . नॉन -जी एस टी आउटवर्ड सप्लायर 

 

जब आप GSTR -3B आप जब महीने की RETURN भरते होंगे तो आपके पास इन पॉइंट जरूर आया होगा पर आप कितना जानते है इन पॉइंट के बारे मैं मैं नहीं जनता पर मैं जितना जानता हु आप लोगो को जरूर बताऊंगा 

 

 1.   नाम ऑफ़ सप्लायर सेल 

आउटवर्ड टैक्सेबल सप्लाइज  ( अन्य और जीरो रेट ,नील रेट एंड टैक्स फ्री )

पहला पॉइंट हमें बता रहा है की आपके पास एक्सपोर्ट सेल (जीरो रेटेड ) NIL RATED और EXAMPTED जिसका कोई रेट नहीं इन सब को छोड़ कर जो सेल आपके पास आयी है वो भरना है आपको डाटा को अच्छे से बना लेना है की आपके पास कितनी सेल है और वो कितने कितने % की सेल है कौन सी सेल आपके स्टेट की है और कौन से आपके स्टेट की बहार की है 

अगर आप ये सब डिटेल बना कर रखो गे तो आपका फायदा होगा क्युकी आपको GSTR-1 मैं भरनी पड़ेगी अगर आपके पास डिटेल होगी तो आप आसानी से भर सकते हो 

2.आउटवर्ड  टैक्सेबल सप्लाइज ( जीरो रेट )

ZERO RATED  सुनते ही आपके मन मैं एक ही बात घूम रही है की टैक्स फ्री सेल है बस यही गलती करते है 

मान लिया एक तेज तरार इंसान ने  पचास लाख की सेल  जीरो RATED देखते ही सभी सेल जो है वो इसमें डाल दिया आप सोच रहे है की सही किया जीरो लिखा था भर दिया इसमें क्या पर ऐसा नहीं ZERO RATED का मतलब एक्सपोर्ट की सेल होती है  या SEZ  स्पेशल इकनोमिक जोन  की सेल हो आपको सिर्फ इसमें  एक्सपोर्ट की सेल ही लिखनी है या आपके पास स्पेशल इकनोमिक जोन की सेल हो (सेक्शन 16 ऑफ़ GST एक्ट ) मैं जा कर पढ़ सकते हो 

3.अन्य आउटवर्ड सप्लायर  (नील रेट टैक्स फ्री)

अब आप सोच रहे होंगे की ये तो TAX फ्री सेल होगी तो अबकी बार बिलकुल सही सोच रहे है इसमें आपके पास जो भी टैक्स फ्री की सेल है वो आपको इसमें  लिख देना है 

 

4.इनवर्ड  सप्लाइज (  फॉर रिवर्स चार्जेज )

 

(खरीदारी  रिवर्स ) इनवर्ड सप्लायर नॉट डिपाजिट टैक्स 

 

ये जो पॉइंट है पता नहीं मैं समझा पाउँगा या नहीं पर मुझे कोशिश जरूर करनी चाहिए जैसे कोई कम्पनी किसी से किसी जीज की सर्विस लेती है और जिस से वो सर्विस लेती है उसको जीएसटी  सहित अमाउंट पे  करती है और जिससे वो सर्विस लेता है वो क्या करती है बाकी अमाउंट भी ले लेता है और जीएसटी  मैं नहीं जमा करता वो भी खा लेता है काफी कहने के बाद भी वो जमा नहीं कराता 

 

इस केस मैं आप सोचो क्या होगा होगा यही होगा कम्पनी उसको सिर्फ अमाउंट पे करेगी GST उसको मजबूरन जमा कराना होगा ( इसी को हम LIABLE TO रिवर्स  चार्जेज  कहते है )

 

 5.नॉन -जी एस टी आउटवर्ड सप्लायर 

 

इसमें वो सेल आती है जो जीएसटी  के अंदर नहीं आते है जैसे पेट्रोल 

 

निष्कर्ष  -इस आर्टिकल मैं हमने gstr 3b meaning और इसे भरने के बारे मैं बता दिया है और जो उसे कैसे भर सकते है इसके बारे मैं पूरी जानकारी देने की कोशिश किया है 

 

Leave a Comment