डिप्रेशन से बहार निकलना मुश्किल होता है एसे में डिप्रेशन में क्या खाना चाहिए क्या नहीं यह आपको पता होना जरुरी है क्युकी डिप्रेशन से बाहर निकलने में खान पान मदत करता है

एसा देखा गया है की अगर आप डिप्रेशन के दोरान अच्छा खान पान रखते है तो उसे इन्फ्लेमेशन कम होने लगता है जिसे डिप्रेशन कम होता है और इसे बाहर निकलने में बहुत मदत मिलती है आपकी चिंता तनाव दूर होता है

सभी की जिंदगी में दुःख आते है हम कई बार असफल भी हो जाते है हमे गुसा आता है परन्तु हम ठीक हो जाते है 1 या 2 दिन में परन्तु कुछ व्यक्ति को एक ही बात का दुःख हफ्तों महीनो तक रहता है

वह उसी बात से परेशान रहते है सोच्नते रहते है इसे डिप्रेशन की समस्या कहते है अगर एसा है तो आपको डॉक्टर की सलाह ले लेनी चाहिए जिसे आप जल्दी डिप्रेशन से बाहर आ सके

परन्तु इसी के साथ एसा माना गया है की कुछ खाद्य प्रदार्थ एसे होते है जिनके सेवन से आपका डिप्रेशन तनाव चिंता दूर होती है आप फ्रेश हो जाते है आपको अच्छा लगता है जानते है उन खाद्य प्रदार्थ के बारे में

डिप्रेशन में क्या खाना चाहिए क्या नहीं

आज हम आपको डिप्रेशन से बाहर निकलने के लिए कुछ एसे खाद्य प्रदार्थ के बारे में बताएगे जो आपके लिए बहुत फायदेमंद होंगे जो इस प्रकार है

डिप्रेशन-में-क्या-खाना-चाहिए-क्या-नहीं

(1) . हरी पतेदार सब्जियों का सेवन करे

डिप्रेशन की समस्या के दोरान आप हरी सब्जियों का सेवन करे रिसर्च के अनुसार अगर आप सही मात्रा में हरी पतेदार सब्जियों का सेवन करते है तो 30% डिप्रेशन को कम किया जा सकता है क्युकी हरी सब्जियों में अलग अलग पोषक तत्व पाए जाते है जो शरीर की कमी को पूरा कर सकते है इन्फ्लेमेशन को कम करते है

हरी सब्जियों में कैल्शियम , विटामिन ए , विटामिन सी , विटामिन बी , लोह तत्व और प्रोटीन पाया जाता है अगर आप हरी सब्जियों का सेवन करते है तो आपको डिप्रेशन से बाहर निकलने में मदत मिलेगी

(1) . ब्रोकोली का सेवन करे

(2) . फूलगोभी का सेवन करे

(3) . भिन्डी का सेवन करे

(4) . करेले का सेवन करे

(5) . शिमला मिर्च का सेवन करे

(6) . पालक का सेवन करे

(7) . सरसों का साग

(8) . सरसों का साग

(2) . चावल का सेवन करे

डिप्रेशन की समस्या के दोरान आप चावल का सेवन कर सकते है अधिकतर लोगो को चावल का सेवन करना अच्छा लगता है और सभी लोग दोपहर के समय चावल का सेवन करते है चावल में बहुत से एसे पोषक तत्व पाए जाते है जो डिप्रेशन में लाभकारी है

इसी के साथ देखा गया है की चावल में सबसे ज्यादा कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है कार्बोहाइड्रेट मदत करता है खुसी के हार्मोन को निकालने के लिए इसलिए चावल का सेवन लाभकारी है इसी के साथ चावल में विटामिन डी , कैल्शियम , राइबोफ्लेविन पाया जाता है जो डिप्रेशन से निकलने में मदत करता है

(3) . ताजे फलो का सेवन करे

हमारे शरीर में अधिकतर समस्या में डॉक्टर फल खाने की सलाह देता है क्युकी फल खाने से हमारे शरीर में पोषक तत्व की कमी पूरी हो जाती है फलो में बहुत अछि मात्रा में पोषक तत्व होते है जैसे अगर संतरे का सेवन करे तो हमे अछि मात्रा में विटामिन सी मिलता है

इसी प्रकार ताजे फलो में विटामिन्स , मिनिरल्स , फाइबर , एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है एंटीऑक्सीडेंट बिमारियों से लड़ने में मदत करता है फलो के सेवन से शरीर में इन्फ्लेमेशन नहीं होता है साथ ही हमें शक्ति मिलती है इसलिए आप रोज ताजे फलो का सेवन करे

(1) . सेब का सेवन करे

(2) . केले का सेवन करे

(3) . संतरे का सेवन करे

(4) . आम का सेवन करे

(5) . पपीते का सेवन करे

(4) . काजू बादाम किशमिस का सेवन करे

सभी लोग और घर के सभी बड़े हमे काजू बादाम किशमिस खाने की सलाह देते है क्युकी इनके अंदर पाए जाने वाले पोषक तत्व हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी होते है यह हमारे दिमाग को तेज करने में मदत करता है साथ ही चिंता तनाव जैसी समस्या में लाभकारी है

इनके अंदर प्रोटीन अछि मात्रा में होता है और देखा गया है की डिप्रेशन में प्रोटीन का सेवन करना अच्छा होता है इसी के साथ इसमें कैल्शियम , फास्फोरस , मैग्नेशियम , विटामिन बी-6 जैसे पोषक तत्व पाए जाते है इसलिए आप इनका सेवन करे परन्तु ध्यान रहे ज्यादा मात्रा में सेवन न करे

(5) . मछली का सेवन करे

आपको तो पता ही है मछली प्रोटीन का खजाना होता है और डिप्रेशन की समस्या के दोरान व्यक्ति को प्रोटीन का सेवन ज्यादा करना चाहिए इसे बहुत ज्यादा फायदा मिलता है

प्रोटीन मुख्या शरीर के विकास के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी होता है ट्रिप्टोफैन प्रोटीन की मदत से खुसी का हार्मोन निकलता है जो हमे डिप्रेशन से बचाता है प्रोटीन के लिए आप निचे दिए गए प्रदार्थ भी ले सकते है

(1) . मटर का सेवन करे

(2) . फलियाँ का सेवन करे

(3) . दूध का सेवन करे

(4) . दही का सेवन करे

(5) . सोया प्रोडक्ट्स का सेवन करे

(6) . कार्बोहाइड्रेट का सेवन करे

डिप्रेशन को दूर करने के लिए कार्बोहाइड्रेट बहुत लाभकारी है एसा देखा गया है की जब हम कार्बोहाइड्रेट का सेवन करते है तो इंसुलिन निकलता है और यह इंसुलिन कार्बोहाइड्रेट को सेल्स के अंदर भेजता है साथ ही इंसुलिन ट्रिप्टोफैन को दिमाग के अंदर भेजता है जिसे सिरोटोनिन हार्मोन निकलता है

सिरोटोनिन हार्मोन मुख्या खुसी का हार्मोन होता है जिसके निकलने से हमे खुसी मिलती है जिसे डिप्रेशन दूर होता है इसलिए डिप्रेशन में कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य प्रदार्थ खाने की सलाह दी जाती है जैसे

(1) . अनाज का सेवन करे

(2) . दाल का सेवन करे

(3) . राजमा का सेवन करे

(4) . किडनी बिन्स

(5) . केला खाएं

(6) . ओट्स का सेवन करे

(7) . मसूर की दाल का सेवन करे

(7) . विटामिन डी युक्त खाद्य प्रदार्थ का सेवन करे

डिप्रेशन से ग्रस्त व्यक्ति को विटामिन डी का सेवन करना चाहिए क्युई रिसर्च के अनुसार एसा पाया गया है की अगर हमारे शरीर में विटामिन डी की कमी हो जाती है तो डिप्रेशन का खतरा बढ़ जाता है हमे डिप्रेशन हो सकता है

इसलिए आप विटामिन डी का सेवन ज्यादा करे आप थोड़ी देर धुप में भी बैठे सूरज की रौशनी से विटामिन डी प्राप्त होता है इसके अलावा खाने की चीजो से विटामिन डी ले जैसे

(1) . गाय का दूध का सेवन करे

(2) . अंडे के पीले भाग का सेवन करे

(3) . मछली का सेवन करे

(4) . संतरे का जूस पिए

(5) . मशरूम का सेवन करे

(6) . अनाज का सेवन करे

(8) . एंटीऑक्सीडेंट का सेवन करे

डिप्रेशन की समस्या के लिए एंटीऑक्सीडेंट का सेवन करना बहुत लाभकारी है क्युकी हमारा शरीर कुछ वेस्ट प्रोडक्ट बनाता है जो शरीर में इकठा होता है अगर यह वेस्ट प्रोडक्ट बाहर नहीं निकलेगा तो तनाव चिंता की समस्या होगी डिप्रेशन होगा इस वेस्ट प्रोडक्ट को फ्री रेडिकल्स कहते है

एसे में अगर आप एंटीऑक्सीडेंट का सेवन करते है तो इसे फ्री रेडिकल्स शरीर से बाहर निकलता है जिसे डिप्रेशन की समस्या कम होती है

(1) . प्याज का सेवन करे

(2) . बैंगन का सेवन करे

(3) . कदू का सेवन करे

(4) . गाजर का सेवन करे

(5) . पालक का सेवन करे

(6) . शिमला मिर्च का सेवन करे

(7) . अंगूर का सेवन करे

डिप्रेशन में आप उपर बताए गए खाद्य प्रदार्थ का सेवन कर सकते है आपको फायदा होगा

डिप्रेशन में क्या नहीं खाना चाहिए

आपको पता चल गया होगा डिप्रेशन में क्या खा सकते है अब हम आपको बताएगे की आपको डिप्रेशन में क्या नहीं खाना है जो इस प्रकार है

(1) . धुम्रपान और शराब का सेवन न करे

डिप्रेशन की समस्या के दोरान आपको किसी भी प्रकार का धूमपान और शराब का सेवन नहीं करना है इसे आपकी समस्या बढ़ सकती है

कुछ व्यक्ति को हमने देखा है उनको नींद नहीं आती है वह शराब का सेवन करते है उस समय में तो उन्हें नींद आ जाती है परन्तु बाद में उन्हें बहुत समस्या होती है इसलिए धुम्रपान और शराब का सेवन न करे

यह भी पढ़े – धुम्रपान छोड़ने की होम्योपैथिक मेडिसिन

(2) . कैफीन युक्त प्रदार्थ का सेवन न करे

डिप्रेशन के दोरान कैफीन का सेवन नहीं करना है कैफीन आपके डिप्रेशन को बढ़ा सकता है बहुत से व्यक्ति पुरे दिन चाय का सेवन करते रहते है जो डिप्रेशन को बढाता है

चाय में बहुत अधिक मात्रा में कैफीन पाया जाता है उस समय में तो आप फ्रेश हो जाते है परन्तु इसको छोड़ने पर आपको थकान कमजोरी सिर में दर्द जैसी समस्या होती है

(3) . बहुत अधिक मीठे प्रदार्थ का सेवन न करे

डिप्रेशन में आपको ध्यान रखना है की आपको बहुत अधिक मीठे प्रदार्थ का सेवन नहीं करना है क्युकी अगर आप ज्यादा मात्रा में मीठे प्रदार्थ का सेवन करते है तो उसे आपका वजन बढ़ते जाता है

यह आपके डिप्रेशन का कारण बन सकता है क्युकी ज्यादा मोटापे से सुस्ती आलस आता है जिसे आपका मन उदास होता है इसलिए ज्यादा मीठे प्रदार्थ न खाए

(4) . फ़ास्ट फ़ूड का सेवन न करे

आपको डिप्रेशन में फ़ास्ट फ़ूड का सेवन नहीं करना है क्युकी फ़ास्ट फ़ूड बहुत अधिक तेल से बने होते है जो आपके शरीर में अलग अलग बीमारी को पैदा करते है अगर फ़ास्ट फ़ूड के कारण आपको कोई बिमारी होती है तो उसे आपकी डिप्रेशन की समस्या बढती है इसलिए फ़ास्ट फ़ूड का सेवन न करे

डिप्रेशन के दोरान आपको उपर बताए गए खाद्य प्रदार्थ का सेवन नहीं करना है

डिप्रेशन से बचाव कैसे करे

जानते है की आप डिप्रेशन से कैसे अपना बचाव कर सकते है जो इस प्रकार है

(1) . पानी का सेवन ज्यादा करे

डिप्रेशन से बचाव के लिए आपको ज्यादा से ज्यादा पानी पीना है इसे आपको सुस्ती नही होगी डिहाइड्रेशन की समस्या नहीं होगी शरीर में पानी की कमी नहीं होगी

(2) . काम में व्यस्त रहे

आपको डिप्रेशन के दोरान काम से व्यस्त रहना है जिसे आपको ज्यादा सोचन का समय न मिले परन्तु ध्यान रहे ज्यादा काम भी न करे समय अनुसार ही काम करे

(3) . खुस रहे

आपको आपको हमेशा खुस रखना है जिस चीज या किसी बात से आपको दुःख होता है उसे दूर रहना है खुस रहने की कोशिश करनी है

(4) . नई नई चीजे करे

डिप्रेशन से दूर रहन के लिए आपको ज्यादा से ज्यादा नई नई चीजे करनी है एसा करने से आपके अंदर एक उत्साह रहेगा आपका मन उदास नहीं होगा

(5) . लोगो से ज्यादा मिले

जितना हो सके आपको लोगो से मिलना है नए नए लोगो से मिलने से आपके मन को अच्छा लगेगा नई नई बाते पता लगेगी जिसे आपको अच्छा लगेगा

(6) . नींद पूरी ले

डिप्रेशन होने का एक कारण खराब नींद भी हो सकती है इसलिए आपको हमेशा ही पूरी नींद लेनी है रात को जल्दी से सो जाना है और सुबह जल्दी उठ जाना है आपको अच्छा लगेगा

(7) . समय निश्चित न करे

किसी भी काम के लिए आप समय को निश्चित नहीं करना है आप अपने मन के अनुसार काम को करे एसा करने से आपको तनाव नहीं होगा कोई टेंशन नहीं होगी

(8) . मोबाइल का इस्तेमाल ज्यादा न करे

आपको मोबाइल का इस्तेमाल कम से कम करना है अगर करते भी है तो उन चीजो को देखे जिसे आपको खुसी मिलती है तभी आपको फायदा होगा

(9) . सुबह उठकर घुमे

आपको रोज सुबह जल्दी उठकर घुमने जाना है कम से कम रोज सुबह जल्दी उठकर 30 मिनट घुमे इसे आपके शरीर में एक नई उर्जा आएगी

(10) . अकेले रहने से बचे

आपको अकेले नहीं रहना है आपको ज्यादा से ज्यादा लोगो के बीच में रहना चाहिए घर में बैठकर बाते करे जिसे आपको अच्छा लगे बस आपको अकेले नहीं रहना है

निष्कर्ष

आशा करते है की आपको डिप्रेशन में क्या खाना चाहिए क्या नहीं इसके बारे में पता चल गया होगा और अब आप सभी बातो का ध्यान रखेगे अगर आपको लगता है डिप्रेशन है या आप डिप्रेशन की तरफ जा रहे है तो आपको डॉक्टर की सलाह ले लेनी चाहिए जाँच करवानी चाहिए ताकि पहले ही डिप्रेशन को रोका जा सके

related topic

चिंता क्या है – worry in hindi

r15 medicine का इस्तेमाल चिंता , डिप्रेशन , तनाव आदि को ठीक करने के लिए किया जाता है

जानिए कुछ सवालो के जवाब

Q . डिप्रेशन के लिए किस डॉक्टर को दिखाए ?

ans . डिप्रेशन को ठीक करने के लिए आपको मनोचिकित्सक को दिखाना चाहिए |

Q . डिप्रेशन होने पर क्या होता है ?

ans . डिप्रेशन होने पर आपको दुःख होगा , निराशा होगी , उदासी होगी , चिंता तनाव होगा , दिनचर्या सही नहीं होगा , कुछ अच्छा नही लगेगा |

डिस्क्लेमर – जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर प्रकार से प्रयाश  किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी thedkz.com की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है