Double column cash Book with discount-कैश बुक

 

एक खाने वाली रोकड़ बही बनाते समय ध्यान रखने कुछ बाते 

 

1 . रोकड़ बही एक रोकड़ खाता भी है और इसलिए यह एक वास्तविक खाता है अत इस पर वास्तविक खाते का नियम लागू होता है जो इस प्रकार है 

जो आता है उसे डेबिट करो – रोकड़ आती है – यह एक प्राप्ति  है और डेबिट पक्ष मैं लिखी जाती है और जो जाता है उसे क्रेडिट करो  – रोकड़ जाती है यह एक भुगतान है और क्रेडिट पक्ष मैं लिखी जाती है 

 

2 . इसमें केवल नकद लेन देन लिखे जाते है DISCOUNT और बैंक से सम्बधित लेन देन इसमें नही लिखे जाते है 

 

3 . अन्य खातो की तरह इसके उपर की और बाए पक्ष मैं DR तथा दाए पक्ष मैं CR लिखा जाता है 

 

4. यदि रोकड़ बही का शुरूआती शेष दिया हुआ है तो इसे रोकड़ बही के डेबिट पक्ष ( TO BALANCE b/D लिखकर दिखाया जाता है 

5 . रोकड़ बही के क्रेडिट पक्ष का कुल योग हमेशा क्रेडिट पक्ष के कुल योग से अधिक होता है इसे डेबिट शेष कहा जाता है और महीने के अंत  मैं इसे क्रेडिट पक्ष की और ( BY BALANCE B/D ) लिखकर दिखाया जाता है 

 

6 . महीने के अंत मैं रोकड़ बही का शेष बिकाला जाता है , समान्यता जीवन मैं यह हर रोज के आधार पर निकाला जाता है 

 

7 . रोकड़ बही बनाने के बाद , खाताबही मैं रोकड़ खाता नही बनाया जाता है 

 

रोकड़ बही का शेष हमेसा डेबिट क्यों दिखाता है ( CASH BOOK ALWAYS SHOW A DEBIT BALANCE )

यहा समझना जरुरी है की रोकड़ बही हमेशा डेबिट  शेष दिखाती है साधारण शब्दों मैं रोकड़ बही का भुगतान पक्ष कभी भी प्राप्ति पक्ष से अधिक नही हो सकता ऐसा इसलिए है क्युकी बिज़नेस कभी रोकड़ के उपलब्ध शेष या प्राप्ति से अधिक भुगतान नही कर सकता है यह केवल ऐसी दशा मैं हो सकता है जब बिज़नेस ने कुछ उधार लिया हो और इस दशा मैं भी पहले इसका डेबिट पक्ष मैं किया जायेगा और फिर बिज़नेस भुगतान करेगा आप को इस से समझ आ गया होगा की CASH book कभी भी क्रेडिट शेष नही दिखाती है 

 

2. दो खाने वाली रोकड़ बही ( TWO-COLUMN CASH BOOK) 

दो खाने वाली रोकड़ बही इस प्रकार हो सकती है 

i ) रोकड़ और DISCOUNT खाने वाली रोकड़ बही 

2 ) बैंक और DISCOUNT खाने वाली रोकड़ बही 

3. रोकड़ और बैंक खाने वाली रोकड़ बही 

i ) रोकड़ और DISCOUNT खाने वाली डबल कॉलम रोकड़ बही

 

एक खाने वाली से अलग दो खाने वाली रोकड़ बही होती है जिसमे रोकड़ और डिस्काउंट का लेखा करने के लिए डेबिट और क्रेडिट पक्ष मैं दो अलग अलग खाने होते है डिस्काउंट एक छुट है जो खाते के शीघ्र निपटाने के लिए दिया जाता है या प्राप्त किया जाता है रोकड़ बही के डेबिट पक्ष मैं डिस्काउंट खाना दी गयी छुट या क्रेडिट पक्ष मैं प्राप्त की गयी छुट को दिखाता है इस बही मैं लेखा करने के वही नियम है जो एक खाने वाली रोकड़ बही पर लागू होते है 

 

2) छूट देना तथा छुट प्राप्त करना ( DISCOUNT ALLOWED AND DISCOUNT RECEIVED ) 

 

बहुत से व्यवसायों मैं यापरी के लिए यह देय राशी पर छुट देने या प्राप्त करने की प्रथा है यह छुट खातो का जल्दी निपटारा करने के लिए दी जाती है कुछ व्यवसायों मैं लगभग सभी प्राप्तियो और भुगतानों के साथ डिस्काउंट भी दी हुई होती है और इसलिए अनावश्यक पोस्टिंग को रोकने के लिए रोकड़ बही मैं छूट दी या प्राप्त की का लेखा करने के लिए अलग खाने दिए गए है ये छूट खाने केवल स्मरण खाने है ये डिस्काउंट छूट खाते का रूप नही है 

 

नकद छूट देना ( cash discount allowed ) 

 

जल्दी भुगतान या समय पर भुगतान प्राप्त करने के लिए यह ग्राहकों को दी जाती है जिसे यदि a ने b को 20000 की लागत का माल उसी समय भुगतान करने पर 10 प्रतिशत नकद छूट तथा एक महीने मैं भुगतान करने पर 5 प्रतिशत नकद छूट की शर्त पर बेचा यदि b उसी समय भुगतान करता है तो इस दशा मैं 18000 का भुगतान करना होगा और यदि वह एक महीने बाद भुगतान करता है तो उसे 19000 का भुगतान करना होगा 

 

b से प्राप्त कुल राशि रोकड़ खाने मैं दिखाई जाएगी जबकि दी गई छूट की राशी रोकड़ बही प्राप्ति पक्ष की और छूट खाने मैं दिखाई जाएगी 

 

दी गयी छूट व्यापार के लिए एक खर्च है इसलिए जर्नल के नियम के अनुसार डेबिट होती है 

 

नकद छोट प्राप्त करना ( cash discount received ) यह छूट विक्रेता को शीघ्र भुगतान करने या समय पर भुगतान करने पर प्राप्त होती है उधाहरन  के लिए यदि a एक सप्ताह बाद भुगतान करता है तो उसे 9500 का भुगतान करना होगा 

 

B को भुगतान की गयी कुल राशि रोकड़ खाने मैं दिखाई जाएगी जबकि प्राप्त की गयी छूट की राशी रोकड़ भी के भुगतान यानी पेमेंट साइड की छूट खाने मैं दिखाई जाएगी 

 

प्राप्त की गयी छूट बिज़नेस के लिए एक आय है इसलिए जर्नल के नियम के अनुसार क्रेडिट होती है 

 

इस बात का वर्णन करना मत्वपूर्ण है की छूट खाता डेबिट होगा यदि रोकड़ खाता डेबिट किया जाता है और छूट खाता क्रेडिट होगा यदि रोकड़ खाता क्रेडिट किया जाता है 

 

discount खाते का योग करना ( TOTALLING of discount COLUMN )

 

 discount खानों का कभी शेष नही  निकाला जाता है केवल योग किया जाता है इसका पहले वर्णन किया जा चूका है की discount खाने केवल याद रखने के लिए बनाये जाते है और ये discount खाते का काम नही करते है दी गयी discount का योग discount दी खाता ( discount allowed a/c मैं ट्रान्सफर कर दिया जाता है जबकि प्राप्त की गयी discount का योग प्राप्त discount खाता मैं ट्रान्सफर कर दिया जाता है 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *