carburetor-कार्बोरेटर क्या है कैसे काम करता है carburetor of pulsar 150 price

कार्बोरेटर  क्या है , जब से बाइक और स्कूटर बनी है तब से कार्बोरेटर का इस्तेमाल होता आ रहा है और आगे भी होता रहेगा , सबको पता है बाइक में  कार्बोरेटर  लगा होता है लेकिन जादातर लोगो को यह नहीं पता होता यह है क्या और इसका काम क्या है और यह काम केसे करता है अब तक सभी बाइको में कार्बोरेटर है |

और इसे हर सर्विस पर साफ़ करवाते है लेकिन आपको इसके बारे में पता होना जरुरी है जानिये कार्बोरेटर के बारे में –

कार्बोरेटर क्या है कैसे काम करता है

कार्बोरेटर क्या है इसका उपयोग बताइए-what is a carburetor

कार्बोरेटर  एक एसी मशीन है जो petrol और air/ हवा को बिलकुल सही मात्रा में इंजन तक पहुचाती है जिसके वजह से इंजन स्टार्ट होता है और बाइक चलती है |

कार्बोरेटर  head और फ़िल्टर के साथ जुड़ा हुआ होता है , और यह फ़िल्टर से अच्छी हवा को लेता है और petrol के साथ मिलाकर इंजन में भेज देता है अगर कारबोरेटर में हवा नहीं जाती तो बाइक स्टार्ट नहीं होती |

उधारण से समझिये

मान लीजिये हमारा शरीर कार्बोरेटर है अगर हम अपनी सांस को रोक लेते है तो हमारा दम घुटने लग जाता है और हमारा शरीर कोशिस करता है अपने अन्दर ऑक्सीजन ग्रहण करने की |

उसी प्रकार कार्बोरेटर है अगर इसके अन्दर हवा petrol के साथ नही जायेगी तो यह समस्या उत्पन कर देगा और इंजन कोशिस करेगा हवा को ग्रहण करने की |

कार्बोरेटर का क्या कार्य है -how bike carburetor works

कार्बोरेटर  में फ़िल्टर साइड एक चोक पति लगी होती है इसका चोक पति का काम होता है हवा को कारबोरेटर में कम भेजना , जब सर्दियों में बाइक स्टार्ट नहीं होती तो हम चोक लगाते है और बाइक स्टार्ट हो जाती है एसा इसलिए होता है की चोक लगाने से हवा कार्बोरेटर में नहीं जाती |

और एक साइड कारबोरेटर में लगा होता है थ्रोटल वाल जिसे हम race बोलते है यही थ्रोटल वाल बताता है की इंजन के अन्दर हवा और petrol के मिक्चर को कितना भेजना है , हम जितना स्पीड बाइक को चलाते है उसी के हिसाब से थ्रोटल वाल petrol और हवा को इंजन में भेजता है |

कार्बोरेटर  के बीच में  फ्लोटिन चेंबर होता है जिसमे एक पाइप होता है जो petrol टैंक से जुड़ा होता है और फ्लोटिन चेंबर में petrol जमा रहता है फ्लोटिन चेंबर में एक नीडल लगी होती है जो फ्लोटिन चेंबर के भरते ही petrol को रोक देती है |

कार्बोरेटर  के बीच में एक पतला छेद होता है जो air को रोकता है और सही मात्रा में आगे भेजता है जब air आगे जाती है तो फ्लोटिन चेंबर में से  हवा के  साथ petrol भी मिक्स होता है और जब हम बाइक में race देते है तो petrol और हवा इंजन में जाती है |

इसी तरीके से कार्बोरेटर काम करता है और petrol और हवा को इंजन तक सही मात्रा में पहुचाता है |

मोटरसाइकिल कार्बोरेटर समस्याओं के कारण 

अगर आपकी बाइक का कारबोरेटर खराब हो जाता है तो आपको क्या क्या समस्या हो सकती है जानिये –

1 . माइलेज का बिलकुल कम हों जाना

कारबोरेटर में अगर कोई समस्या आती है या खराब हो जाता है तो सबसे पहले आपकी बाइक की माइलेज कम हो जाती है , बाइक petrol बहुत जादा पीती है |

आप कुछ भी करा लेगे बाइक में लेकिन आपकी माइलेज सही नहीं हो पाएगी बिना कारबोरेटर बदले इसलिए अगर माइलेज की समस्या है तो कारबोरेटर चेक करवाए |

2 . missing होना बाइक में

अगर आपके कार्बोरेटर में कचरा या डस्ट आ जाती है तो missing की समस्या बहुत जल्दी से उत्पन होती है क्युकी हमने आपको बताया है की petrol और हवा का मिक्सचर होता है कारबोरेटर में अगर petrol और हवा का मिक्चर सही नहीं होगा तो उसकी वजह से बाइक में missing की समस्या उत्पन हो जाती है |

3 . बाइक स्टार्ट ही न होना

अगर आपके कार्बोरेटर में समस्या उत्पन हो जाती है या कई बार समस्या इतनी बढ़ जाती है की बाइक स्टार्ट ही नहीं होती एसा कारबोरेटर में जेट के कारण होता है |

कारबोरेटर में दो जेट होते है जो स्लो को भी रोकते है अगर यह जाम हो जाते है तो बाइक बंद हो जाती है और स्टार्ट नहीं होती अगर स्टार्ट हो जाती है तो missing करती है , इसलिए कारबोरेटर साफ़ करवाना पड़ता है |

4 . पटाके की समस्या होती है

कारबोरेटर के खराब होने की वजह से कई बार पटाके की समस्या भी उत्पन हो जाती है बाइक चलती चलती पटाके मारती है यह समस्या कारबोरेटर की वजह से होती है |

वेसे तो पटाके की समस्या और भी कई कारणों से हो सकती है लेकिन आपको कारबोरेटर को साफ़ करवाना चाहिए एक बार कुछ और करने से पहले इसे आपकी यह समस्या खतम हो जाती है |

कार्बोरेटर को कैसे साफ करें -how to clean carburetor

कारबोरेटर को साफ़ करने के लिए आपको एक ब्रश और petrol की जरूरत होती है |

1 . आपको कारबोरेटर में लगे दो 8 नंबर के बोल्ड को खोलना है और फ़िल्टर के साइड लगे क्लंप को खोलना है |

2 . उसके बाद आपको race की सलाइड को खोलना है और कारबोरेटर को बाहर निकाल लेना है |

3 . उसके बाद आपको कारबोरेटर को बाहर से अच्छे से धोना है और और गंदे तेल को फेक दो |

4 . उसके बाद कारबोरेटर के कटोरी को खोलो और पिन निकालकर नीडल को निकाल लो |

5 . अब दोनों जेट को पेचकस से खोलो उनमे छेद होता है वो बिलकुल साफ़ करने है |

6 . उसके बाद आपको कारबोरेटर , और उसके नीडल ,जेट को petrol से धोना है और फिट कर देना है वेसे ही वापिस |

बाइक का कार्बोरेटर कैसे सेट करें -Bike mileage setting in Hindi

माइलेज को सेट करने के लिए आप बाइक को 5 या 10 मिनट स्टार्ट कर लो उसके बाद जब बाइक थोड़ी गर्म हो जाए तो आपको कारबोरेटर में एक race का पेच देखने को मिलेगा उसमे एक स्प्रिंग भी लगा होता है उसको टाइट करना है जिसे आपकी बाइक की race बढ़ जाएगी और बाइक का कार्बोरेटर कैसे सेट करें 

ये भी पढ़ेमाइलेज क्या होता है इसको कैसे चेक कर सकते है 2021 | how to check bike mileage

उसके बाद आपको एक पेच और दिखेगा उस पेच को आपको पूरा टाइट करना है और फिर उसी पेच की 2.50 या 3 चूड़ी खोलनी है और उसके बाद स्प्रिंग वाले पेच को खोलकर race को सेट कर लेना है आपकी माइलेज सेट हो जायेगी |

कितने हजार किलोमीटर पर कारबोरेटर साफ़ करवाना चाहिए

कितने हजार किलोमीटर पर कारबोरेटर साफ़ करवाना चाहिए

वेसे तो हम आपको बता दे की जब तक आपकी बाइक के कारबोरेटर में कोई समस्या ना आये तब तक कारबोरेटर साफ़ नहीं करवाना चाहिए लेकिन जब कारबोरेटर में समस्या उत्पन हो जाती है तो आप इसे साफ़ करवा सकते है |

अगर हम किलोमीटर के हिसाब से बात करे तो आपको कारबोरेटर को 4000 किलोमीटर पर एक बार साफ़ करवाना चाहिए इसे आपके  कारबोरेटर में कोई समस्या नहीं आएगी और बार बार खुलेगा भी नहीं |

कारबोरेटर की price लिस्ट बाइक  -motorcycle carburetor price

                            Carburetor Price List                   motorcycle carburetor price
  splender     1000
  platina     1500
  discover     1600
  carburetor of pulsar 150 price     2400  pulsar 150 carburetor price amazon
  activa     1000
  honda shine     1000
  ct 100     1400
  dream neo     1200
  hf deluxe     1000
  mestro     1300

जानिये कुछ सवालो के जवाब

Q . कितने किलोमीटर पर कारबोरेटर को साफ़ करे ?

ans . 4000 किलोमीटर पर आप कारबोरेटर को साफ़ करा सकते हो इसे आपको कारबोरेटर से सम्बंधित कोई समस्या नहीं होगी |

Q . कितने का होता है कारबोरेटर ?

ans . आपको कारबोरेटर अलग अलग बाइक का अलग अलग रेट में मिल जाते है जेसे , 800 , 1500 , 2500 आदि |

Q . क्या कारबोरेटर को disel से साफ़ कर सकते है ?

ans . हा आप कारबोरेटर को disel के साथ भी साफ़ कर सकते हो लेकिन बाद में उसके ऊपर petrol मारना पड़ता है थोडा एसा करने से जो थोडा बहुत डस्ट होता है वह ख़त्म हो जाता है |

Q . pulsar 150 cc का कारबोरेटर कितने का है ?

ans . pulsar का कारबोरेटर आपको अच्छी कंपनी का 2500 रूपये तक मिल जाएगा |

NOTE -हमने हर कंटेंट मैं बस यही चाहते है की यूजर को अच्छे से समझ आये आप हमे feedback से जरुर बताये

Leave a Comment